Homeदेशलोकसभा के साथ पांच राज्यों में भी गठबंधन कर सकता है इंडिया

लोकसभा के साथ पांच राज्यों में भी गठबंधन कर सकता है इंडिया

Published on

बीरेंद्र कुमार झा

इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इंक्लूसिव एलायंस (INDIA) लोक सभा के साथ पांच राज्यों की विधानसभा चुनाव में भी गठबंधन की संभावना तलाश रहा है।गठबंधन के घटक दलों की राज्य इकाई आपस में सीट बंटवारे पर चर्चा करेंगी।गठबंधन समन्वय समिति की बैठक के बाद कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अक्टूबर के पहले सप्ताह में महंगाई ,बेरोजगारी और बीजेपी सरकार के भ्रष्टाचार के खिलाफ भोपाल में संयुक्त रैली होगी।

समिति की बैठक में टीएमसी की तरफ से कोई नुमाइंदा मौजूद नहीं था।समिति की तरफ से जारी संयुक्त बयान में कहा गया है कि बीजेपी ने प्रतिसोध की राजनीति के तहत टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी को ईडी के द्वारा इस दिन ही पूछताछ के लिए बुलाया था। इस वजह से ही अभिषेक बनर्जी समन्वय समिति की पहली बैठक में हिस्सा नहीं ले पाए।गठबंधन ने टीवी चैनलों पर सरकार के एजेंडे को आगे बढ़ाने वाले एंकरों के कार्यक्रम में अपने नुमाइंदी को नहीं भेजने का भी फैसला किया है।

सीट बंटवारे को लेकर लेकर चर्चा जल्द

कांग्रेस नेता कुलदीप सिंह सैंपल ने कहा कि इंडिया गठबंधन के घटक दलों की राज्य इकाइयां जल्दी ही सीट बंटवारे को लेकर आपस में चर्चा शुरू कर देगी। इसके साथ राज्य स्तर पर गठबंधन की संभावनाओं पर भी चर्चा की जाएगी।कम्युनिस्ट की नेता डी राजा ने कहा कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव में घटक दल गठबंधन में चुनाव लड़ सकते हैं।दूसरे राज्यों में भी इसकी संभावना है।

विवाद की स्थिति केंद्रीय नेतृत्व करेगा समाधान

राज्य स्तर पर बंटवारे को लेकर इंडिया गठबंधन के घटक दलों की राज्य इकाइयां आपस में चर्चा करेंगी।प्रदेश में सीट बंटवारे को लेकर कोई मुश्किल आती है, तो वह इस मुद्दे को अपने-अपने केंद्रीय नेतृत्व को भेजेगी।।संबंधित पार्टियों का केंद्रीय नेतृत्व आपस में चर्चा कर उस विवाद को हल करने का प्रयास करेगा। समाजवादी पार्टी सांसद जावेद अली खान के मुताबिक सीट बंटवारा 31 अक्टूबर तक पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है।

लोकसभा के साथ पांच राज्यों में भी गठबंधन कर सकता है इंडिया

समन्वय समिति की बैठक में सरकार में सरकार के एजेंडे को लेकर काफी चर्चा हुई। समिति ने मीडिया से संबंधित उप समूह को अधिकृत किया है कि वह फैसला करें कि किन-किन टेलीविजन एंकर के कार्यक्रमों में इंडिया के घटक दलों के प्रतिनिधियों को नहीं भेजना है। मीडिया संबंधित समूह में ऐसे करीब एक दर्जन टीवी एंकर की पहचान कर उनके कार्यक्रमों में अपने प्रवक्ता नहीं भेजने का निर्णय लिया है।

माह में दो बार होगी संयुक्त रैली

एक नेता के मुताबिक इंडिया गठबंधन, देश के अलग-अलग राज्यों में माह में दो बार संयुक्त रैली करने की तैयारी कर रहा है। पांच राज्यों की विधानसभा चुनाव में घटक दलों के बीच गठबंधन पर सहमति बनती है, तो भोपाल के बाद दूसरी चुनावी राज्यों में संयुक्त रैली की जाएगी। इसमें सभी घटक दलों के नेता हिस्सा लेंगे।

 

Latest articles

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...

जी -7 सम्मेलन में हिस्सा लेने कल इटली जाएंगे पीएम मोदी 

न्यूज़ डेस्क प्रधानमंत्री मोदी कल इटली जायेंगे। इटली में जी -7 सम्मेलन होने जा रहा...

More like this

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...