Homeदेशबिहार विधानसभा अध्यक्ष पद से एबी चौधरी को हटाकर एनडीए ने विश्वास...

बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद से एबी चौधरी को हटाकर एनडीए ने विश्वास मत से पहले दिखाया दम

Published on

बिहार विधानसभा में सोमवार को यों तो मुख्य रूप से फ्लोर टेस्ट में मुख्य मंत्री नीतीश कुमार को अपना बहुमत सिद्ध करना है,लेकिन एनडीए गुट द्वारा इससे पहले सोमवार को स्पीकर को पद से हटाने की प्रक्रिया शुरू की गई ताकि विपक्षी पार्टी आरजेडी से स्पीकर बने अवध बिहारी चौधरी बहुमत परीक्षण के के दौरान कोई खेला न कर दे।वैसे भी पूर्व उपमुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव नीतीश कुमार द्वारा विश्वास हासिल करने के दौरान खेला होने की बात करते रहे हैं। लेकिन एनडीए खेमा ने वर्तमान विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी को हटाने के लिए हुई वोटिंग में पर्याप्त वोट लाकर अवध बिहारी चौधरी को विधानसभा अध्यक्ष के पद से हटाकर विश्वास मत की प्राप्ति से पूर्व ही अपना दबदबा दिखाते हुए कथित सारे खेलों के होने पर विराम लगा दिया।

अवध बिहारी चौधरी ने छोड़ी विधान सभा अध्यक्ष की कुर्सी

सोमवार को बिहार विधानसभा के सदन मैं वर्तमान विधानसभा अध्यक्ष को अध्यक्ष पद से हटाने की प्रक्रिया प्रारंभ हुई। नियम के तहत विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी ने कार्यवाही शुरू करवाई। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष को पद से हटाने का संकल्प पेश किया गया। इसे पास करने के लिए 38 विधायकों के समर्थन की जरूरत थी।पहले इस संकल्प को पास कराया गया,जिसके बाद विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी को अवध बिहारी चौधरी ने छोड़ दिया और उपाध्यक्ष महेश्वर हजारी ने सदन की अध्यक्षता की।इसके बाद ध्वनि मत से विधानसभा अध्यक्ष को पद से हटाने के लिए वोटिंग कराई गई। वोटिंग के दौरान विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ पर्याप्त वोट मिले ।इस तरह से नीतीश कुमार के फ्लोर टेस्ट से पहले ही अवध बिहारी चौधरी बिहार के विधानसभा अध्यक्ष के पद से हटा दिए गए।

ध्वनि मत से lप्रस्ताव पास कराकर वोटिंग में भी एनडीए ने दिखाया दम

एनडीए ने बिहार विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी को हटाने के लिए ध्वनि मत से प्रस्ताव को पास करा लिया।इसके बाद वोटिंग की प्रक्रिया शुरू की गई।सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों पक्षों की ओर से वोट डाले गए।इस वोटिंग में बिहार विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी को पद से हटाने के लिए प्रस्ताव के पक्ष में कुल 125 और विरोध में 112 वोट पड़े।इसके बाद अवध बिहारी चौधरी को बिहार विधानसभा पद से हटा दिया गया।

सरकार बदलने के बावजूद विधान सभा अध्यक्ष नहीं छोड़ रहे थे पद

बिहार विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी छोड़ने से पहले अवध बिहारी चौधरी ने खुद को मौका देने के लिए पूर्व की महागठबंधन सरकार को धन्यवाद दिया। गौरतलब है कि जब एनडीए ने अवध बिहारी चौधरी को बिहार विधानसभा के अध्यक्ष पद से हटाने की कवायद शुरू की थी ,तब इन्होंने साफ कर दिया था कि ये बिहार विधान सभा के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा नहीं देंगे।इसके बाद मनोज झा की तरफ से वोटिंग की प्रक्रिया को लेकर भी बयान दिए गए और एनडीए को चुनौती दी गई कि वे विधानसभा अध्यक्ष को हटाने के लिए जरूरी वोट लाकर दिखाएं। इसके बाद बिहार विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी को हटाने की प्रक्रिया संपन्न हुई और एनडीए ने अवध बिहारी चौधरी को अध्यक्ष पद से हटाने के पक्ष में बहुमत लाकर एक तरह से नीतीश कुमार द्वारा फ्लोर टेस्ट में बहुमत साबित करने से पहले ही अपना बहुमत साबित कर दिया है।

Latest articles

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...

केजरीवाल की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला !

न्यूज़ डेस्क दिल्ली में कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय...

More like this

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...