Homeदेशकर्नाटक में अमित शाह ने कांग्रेस को घेरा ,कहा कांग्रेस कर रही...

कर्नाटक में अमित शाह ने कांग्रेस को घेरा ,कहा कांग्रेस कर रही है तुष्टिकरण की राजनीति

Published on

न्यूज़ डेस्क
अमित शाह कर्नाटक में चुनाव प्रचार को गति देने में जुट गए हैं । सूबे में हालाकि चुनावी खेल बदला हुआ दिख रहा है । इस बदले खेल में बीजेपी के सामने अपने वोट बैंक को बचाने की सबसे बड़ी चुनौती है । बीजेपी टिकट बंटवारे में कइयों को टिकट नहीं दे सकी । बीजेपी के कई नेता कांग्रेस के साथ जो लिए । इन नेताओं की सोनी जमीन भी है और जनता के बीच पकड़ भी । बकोंकी यह दूसरी बड़ी चुनौती है । अगर बीजेपी से कांग्रेस में गए इन नेताओं की वजह से बीजेपी को हार्वका सामना करना पड़ता है तो बीजेपी आगे के चुनाव में इस मॉडल पर चिंतन कर सकती है। हालाकि एक बात तो यह भी है कि बीजेपी की हालत अभी उतनी खराब नही है जितनी बताई जा रही है ।

अमित शाह की कल की रैली देखने लायक थी । काफी भीड़ उमड़ी हुई थी। हासन में अमित शाह जब पहुंचे तो भीड़ देखकर वे गदगद हो गए । फिर उन्होंने सवाल किया कि क्या कांग्रेस नेता भाजपा द्वारा लिंगायत और वोक्कालिगा को दिए गए आरक्षण को वापस लेना चाहती है? उन्होंने आगे सवाल किया कि क्या कांग्रेस इन समुदायों का आरक्षण कोटा मुसलमानों को देना चाहती है?

जद (एस) और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा के गढ़ माने जाने वाले हासन जिले के सकलेशपुर विधानसभा क्षेत्र में विशाल सभा को संबोधित करते हुए, अमित शाह ने दावा किया कि हमने कांग्रेस द्वारा मुस्लिमों को दिया गया 4 फीसदी आरक्षण कोटा निकाल कर लिंगायतों और वोक्कालिगाओं में बांट दिया था। अमित शाह ने सवाल किया, “कांग्रेस के नेता घोषणा कर रहे हैं कि वह इस आरक्षण कोटे को वापस ले लेंगे। आप किसका कोटा वापस लेने जा रहे हैं?”

इससे पहले, चामराजनगर जिले के गुंडलूपेट शहर में रोड शो के दौरान अमित शाह ने कहा कि कर्नाटक प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डी.के. शिवकुमार लिंगायत और वोक्कालिगा को दिए गए आरक्षण को वापस लेने की बात कर रहे हैं। अमित शाह ने सवाल किया, किसका आरक्षण कम होने जा रहा है और आप इसे उन्हें (मुस्लिमों को) देना चाहते हैं।

अमित शाह ने सवाल किया- क्या आप लिंगायत कोटा काटेंगे या वोक्कालिगा कोटा। कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति करती है, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विकास की राजनीति में विश्वास करते हैं। इसलिए आप तय करें कि किसे समर्थन देना है। विकास तो भाजपा ही कर सकती है।

गुंडलुपेट और हासन दोनों जगहों पर रोड शो के लिए भारी भीड़ ने अमित शाह का स्वागत किया। उन्होंने गुंडलुपेट में भाजपा उम्मीदवार निरंजन कुमार और सकलेशपुरा से भाजपा प्रत्याशी एस मंजूनाथ के लिए वोट मांगा। चामराजनगर जिले में लिंगायतों का बड़ा वोट है और हासन को वोक्कालिगा गढ़ माना जाता है।

बता दें कि अमित शाह के बयानों का उद्देश्य विशेष रूप से दक्षिण कर्नाटक क्षेत्र में लिंगायत और वोक्कालिगा वोटों को भाजपा की ओर एकजुट करना था। उनके तूफानी दौरे से भाजपा के लिए लहरें पैदा होने और पार्टी कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ने की उम्मीद है।

अमित शाह का यह खेल कितना कारगर होता है इसे देखने की जरूरत है ।आरक्षण मामले पर कर्नाटक की जनता क्या कुछ सोचती है यह तो चुनाव परिणाम ही बता सकता है ।लेकिन इतना तय है कि बीजेपी आखिरी दम तक लड़ाई लडेगी ।कर्नाटक बीजेपी के लिए अहम जो है ।

Latest articles

कर्नाटक सरकार ने सारे मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए ओबीसी लिस्ट में किया शामिल,

लोकसभा चुनाव जैसे - जैसे अगले चरण के चुनाव की तरफ बढ़ रहा है...

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...

More like this

कर्नाटक सरकार ने सारे मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए ओबीसी लिस्ट में किया शामिल,

लोकसभा चुनाव जैसे - जैसे अगले चरण के चुनाव की तरफ बढ़ रहा है...

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...