Homeदुनियापीपीपी के समर्थन से पाकिस्तान में सरकार गठन का नया फार्मूला, शाहबाज...

पीपीपी के समर्थन से पाकिस्तान में सरकार गठन का नया फार्मूला, शाहबाज बनेंगे पीएम

Published on

पाकिस्तान की राजनीति में आम चुनाव के 5 दिन बाद चौंकाने वाला घटनाक्रम सामने आया है। इसके साथ ही नई सरकार के गठन का फार्मूला भी तय हो गया है। यहां पाकिस्तान मुस्लिम लीग – नवाज़ गठबंधन की नई सरकार होगी और दो पार्टियां पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट – पाकिस्तान इसे समर्थन देगी।अगले प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ होंगे। इसके अलावा पार्टी की वरिष्ठ उपाध्यक्ष मरियम नवाज को पंजाब के मुख्यमंत्री पद के लिए नामित किया गया है। राष्ट्रपति पद पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी को दिया जाएगा। पार्टी ने साफ किया है कि वह आसिफ अली जरदारी को नया राष्ट्रपति बनने का प्रस्ताव आगे बढ़ा रहे हैं।

नवाज शरीफ खुद नहीं बनेंगे पीएम

पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज़ की सूचना सचिव मरियम औरंगजेब ने बताया की पार्टी सुप्रीमो नवाज़ शरीफ़ ने शहबाज शरीफ को देश के प्रधानमंत्री पद के लिए नामित किया है। मरियम औरंगजेब का कहना था कि नवाज़ शरीफ़ ने खुद कोई पद न लेने का फैसला लिया है।उन्होंने और शहबाज शरीफ का नया पीएम और मरियम नवाज का पंजाब के नए सीएम के तौर पर नाम फाइनल किया है। सरकार बनाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार में सत्ता बंटवारे की व्यवस्था के लिए हर राजनीतिक दल में कमीटियां बनाई जा रही है।

बाहर से समर्थन देगी बिलावल की पार्टी

पीएमएल – एन के अध्यक्ष नवाज शरीफ ने उन सभी राजनीतिक दलों को धन्यवाद दिया है, जिन्होंने आगामी सरकार बनाने में उनकी पार्टी को समर्थन देने का ऐलान किया है।उन्होंने उम्मीद जताई है कि ऐसे फैसलों से पाकिस्तान संकट से बाहर आ जाएगा।सत्ता को लेकर यह नई स्थिति तब बनी जबकि पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो जरदारी ने प्रधान मंत्री पद की दौड़ से खुद के हटने की बात कही। बिलावल भुट्टो का कहना है कि एक उनकी पार्टी नवगठित सरकार का हिस्सा नहीं बनेगी।लेकिन उनकी पार्टी पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी का बाहर से समर्थन समर्थन करते रहेंगे।

शहबाज शरीफ के प्रधानमंत्री बनने का रास्ता साफ

इस घटनाक्रम के बाद फिलहाल शहबाज शरीफ का दूसरी बार पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है। इमरान खान के सत्ता से हटने के बाद शहबाज शरीफ पाकिस्तान के 23 वें प्रधानमंत्री बने थे और अप्रैल 2022 से अगस्त 2023 तक पाकिस्तान की बागडोर संभाली थी।तब वे वह पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के समर्थन से सरकार में आए थे इस बार भी उनके प्रधानमंत्री बनने में पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के द्वारा दिए जा रहे बाह्य समर्थन की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी।इसके अलावा इस बार उनकी सरकार को मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट पाकिस्तान का भी समर्थन प्राप्त होगा।

सबसे ज्यादा इमरान समर्थित उम्मीदवार जीते

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में 266 सीट हैं।इसमें से 265 सीटों के नतीजे जारी हुए हैं।पाकिस्तान में सरकार बनाने के लिए किसी राजनीतिक दल को 133 सीटों का होना अनिवार्य है। 8 फरवरी को हुए आम चुनाव में पाकिस्तान में सबसे ज्यादा पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ समर्थित निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की थी।

पाकिस्तान के चुनाव आयोग ने घोषणा की है कि आम चुनाव में सबसे ज्यादा 101 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है।इनमें ज्यादातर उम्मीदवार इमरान खान की पार्टी पीटीआई द्वारा समर्थित हैं।इसके बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग- नवाज़ को 75 सीट,पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी को 54 सीट और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट- पाकिस्तान को 17 सीट मिली है।अन्य पार्टियों को भी 17 सीट मिली है। एक सीट का नतीजा रोक लिया गया है।

पाकिस्तान को संकटों से बाहर निकलने में होंगे सक्षम

शहबाज शरीफ ने कहा है कि उन्होंने बिलावल भुट्टो जरदारी और उनके पिता आसिफ अली जरदारी से बात की है और नवाज शरीफ को समर्थन देने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया है ।उन्होंने एक्स पर पोस्ट किया है कि हमें उम्मीद है कि हम सब एक साथ मिलकर पाकिस्तान को सभी राजनीतिक और आर्थिक संकटों से बाहर निकलने में सक्षम होंगे।इंशा अल्लाह।

सरकार गठन को लेकर पीएमएल – एन और मुत्ताहिदा क़ौमी मूवमेंट – पाकिस्तान ने भी मंगलवार को बैठक की है दोनों पार्टियों आपसी सहयोग से आगे बढ़ने पर सहमत हुई है। शहबाज शरीफ ने एमक्यूएम- पी को भी धन्यवाद दिया है जिसके पास इन्हें समर्थन देने के लिए संसद में 17 विधायक हैं।

बिलावल ने स्थिर सरकार बनाने में मदद देने की बात कही।

बिलावल भुट्टो ने कहा कि पीपीपी ने फैसला किया है कि हम सरकार का हिस्सा नहीं हो सकते हैं, लेकिन हम वोट और प्रधानमंत्री के चुनाव के मुद्दे पर राजनीतिक दलों के साथ बातचीत करेंगे।बिलावल भुट्टो ने कहा कि पीपीपी ने देश में राजनीतिक स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री पद के वास्ते पीएमएल- एन के उम्मीदवार का समर्थन करने का फैसला किया है। बिलावल भुट्टो ने कहा कि पीपीपी ने सरकार के गठन और राजनीतिक स्थिरता के लिए अन्य राजनीतिक दलों के साथ जुड़ने के वास्ते एक कमेटी बनाने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि पीपीपी सरकार का हिस्सा बने बिना भी स्थिर सरकार बनाने में मदद करेगी।

गौरतलब है कि इससे पूर्व बिलावल भुट्टो ने इमरान खान की पार्टी पीटीआई से भी गठबंधन को लेकर बातचीत की थी। लेकिन पीटीआई ने इससे इनकार कर दिया था।इसके ’ बाद पीएमएल- एन एकमात्र ऐसी पार्टी रह गई थी जिसने पीपीपी को सरकार में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था।

पिता को राष्ट्रपति बनते देखना चाहते हैं बिलावल

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने कहा कि वह अपने पिता आसिफ अली जरदारी को एक बार फिर राष्ट्रपति बनते देखना चाहेंगे। दिवंगत प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो के पति आसिफ अली जरदारी 2008 से 2013 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रह चुके हैं। बिलावल भुट्टो ने कहा कि मैं यह इसलिए नहीं कह रहा हूं, क्योंकि वह मेरे पिता है, बल्कि मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि देश इस समय भारी संकट में है और अगर किसी व्यक्ति के पास इस आग को बुझाने की क्षमता है तो वह आसिफ अली जरदारी हैं।एक सवाल के जवाब में बिलावल भुट्टो ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों को इस समय देश के बारे में सोचने और विभाजन की राजनीति को खत्म करने की जरूरत है। उन्हें सिर्फ अपने बारे में नहीं सोचना चाहिए। इस तरह देश के दुश्मन इस संकट से फायदा उठाना चाहेंगे।

इमरान खान ने गठबंधन सरकार बनाने के प्रस्ताव को किया खारिज

इमरान खान ने मंगलवार को पाकिस्तान में किसी भी राजनीतिक दल के साथ गठबंधन सरकार बनाने के प्रस्ताव को खारिज कर दिया था।उनका कहना है कि पाकिस्तान की जनता ने उन्हें भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए जनादेश दिया है ।ऐसे में किसी एलायंस में शामिल होने से जनादेश का अपमान माना जाएगा।

जेल से इमरान खान ने अपने परिवार के माध्यम से भेजे संदेश में कहा कि मैं चोरी के वोटो के साथ सरकार बनाने के दुस्साहस के खिलाफ चेतावनी देता हूं।इस तरह की दिनदहाड़े डकैती न केवल नागरिकों का अपमान होगा, बल्कि देश की अर्थव्यवस्था को और भी नीचे की ओर धकेलने वाला होगा। पीटीआई कभी भी लोगों की इच्छा के विरुद्ध समझौता नहीं करेगी और मैंनेअपने पार्टी को स्पष्ट रूप से पीपीपी, पीएमएल- एन और एमक्यूएम- पी सहित किसी भी राजनीतिक दल के साथ मिलकर सरकार नहीं बनाने का निर्देश दिया है। इन्होंने लोगों के जनादेश को लूटा है।

गौरतलब है कि इमरान खान पीटीआई के संस्थापक हैं। उन्होंने रावलपिंडी की उच्च सुरक्षा वाली आदियाला जेल में पत्रकारों से बात की थी। इमरान खान और उनकी पार्टी के अन्य नेता कई मामलों में दोषसिद्ध के चलते कई महीनों से जेल में बंद है।

Latest articles

छत्तीसगढ़ पुलिस मुठभेड़ में अबतक 29 नक्सली मारे गए ,सेर्च ऑपरेशन जारी 

न्यूज़ डेस्कछत्तीसगढ़ से बड़ा अपडेट सामने आ रहा है। मिल रही जानकारी के मुताबिक़...

हेमंत सोरेन जमानत याचिका में कहा उनकी गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित और सुनियोजित साजिश !

न्यूज़ डेस्क झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने  रांची की एक विशेष अदालत में...

कांग्रेस के फर्जी वीडियो के खिलाफ अभिनेता आमिर खान ने कराई शिकायत दर्ज

न्यूज़ डेस्क फिल्म अभिनेता आमिर खान ने कांग्रेस के एक फर्जी वीडियो के खिलाफ शिकायत...

ईरान पर इजराइल करेगा बड़ा हमला,इजराइल वार कैबिनेट के फैसले से सहमी दुनिया !

न्यूज़ डेस्क अब ईरान पर इजराइल बड़े हमले की तैयारी में हैं। इजराइल कैबिनेट ने...

More like this

छत्तीसगढ़ पुलिस मुठभेड़ में अबतक 29 नक्सली मारे गए ,सेर्च ऑपरेशन जारी 

न्यूज़ डेस्कछत्तीसगढ़ से बड़ा अपडेट सामने आ रहा है। मिल रही जानकारी के मुताबिक़...

हेमंत सोरेन जमानत याचिका में कहा उनकी गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित और सुनियोजित साजिश !

न्यूज़ डेस्क झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने  रांची की एक विशेष अदालत में...

कांग्रेस के फर्जी वीडियो के खिलाफ अभिनेता आमिर खान ने कराई शिकायत दर्ज

न्यूज़ डेस्क फिल्म अभिनेता आमिर खान ने कांग्रेस के एक फर्जी वीडियो के खिलाफ शिकायत...