Homeदेशविश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा की आज से शुभारंभ ,सीएम धामी ने कहा...

विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा की आज से शुभारंभ ,सीएम धामी ने कहा इस बार की यात्रा नया कीर्तिमान स्थापित करेगी

Published on

न्यूज डेस्क
उत्तराखंड की चार धाम यात्रा आज अक्षय तृतीया के अवसर पर शुरू हो गई। सबसे पहले गए गंगोत्री धाम के कपाट खुले फिर यमनोत्री धाम के कपाट खुले । इन कपाटों के खुलने के साथ ही चार धाम की यात्रा शुरू हो गई । इस बार प्रकृति ने दोनों धामों का श्रृंगार बर्फ से किया हुआ है। गंगोत्री धाम के कपाट आज अक्षय तृतीया के अवसर पर दोपहर 12 बजकर 35 मिनट पर खुले। शुक्रवार को मां गंगा की भोग मूर्ति डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल मुखबा से गंगोत्री के लिए रवाना हुई थी। यमुनोत्री धाम के कपाट दोपहर 12 बजकर 41 मिनट पर श्रद्धालुओं के लिए खोल दिए गए।

आपको बता दें, शुक्रवार को मां यमुना की डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल खरसाली से यमुनोत्री को रवाना हुई। वहीं केदारनाथ धाम के कपाट 25 अप्रैल और बद्रीनाथ धाम के कपाट 27 अप्रैल के दिन खोले जाएंगे।

चार धाम यात्रा को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि इस बार यात्रा पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ेगी और नया कीर्तिमान स्थापित करेगी। उन्होंने सभी तीर्थ यात्रियों की सफल व सुरक्षित यात्रा की कामना की। मुख्यमंत्री से चारधाम तीर्थ पुरोहित महापंचायत के प्रतिनिधियों ने भेंट की। इस मौके पर प्रतिनिधियों ने यात्रा की व्यवस्थाओं और सभी श्रद्धालुओं को सुगमता से देव दर्शन की व्यवस्था के लिए सीएम धामी का आभार जताया।

खबरों के मुताबिक चारधाम यात्रा के लिए अब तक 16 लाख से ज्यादा यात्री पंजीयन करवा चुके हैं। अभी भी इसका पंजीयन शुरू है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया था कि ऋषिकेश से 2200 यात्रियों के पहले जत्थे को गंगोत्री व यमुनोत्री के लिए रवाना कर दिया गया है। ऐसे में आपको धामों में तीर्थयात्रियों की सुविधा के लिए टोकन व्यवस्था लागू रहेगी। इस यात्रा के लिए यात्रियों को पंजीकरण करवाना जरुरी रहेगा।

इसके लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों मोड़ में पंजीकरण करवा सकते हैं। गौरतलब है कि पहले सरकार ने चार धाम यात्रा में प्रतिदिन दर्शन करने के लिए यात्रियों की संख्याओं को निर्धारित किया था। लेकिन इसको लेकर काफी ज्यादा विरोध किया गया। जिसके बाद बद्रीनाथ केदारनाथ गंगोत्री यमुनोत्री में प्रतिदिन दर्शन के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या को सीमित रखने का निर्णय वापस ले लिया गया है।

बता दें कि ग्यारहवें ज्योतिलिर्ंग बाबा केदारनाथ धाम के कपाट 25 अप्रैल, को श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे। इसके लिए की जा रही तैयारियों एवं व्यवस्थाओं का जिलाधिकारी मयूर दीक्षित द्वारा निरंतर जानकारी ली जा रही है। आज केदारनाथ धाम में मौसम साफ है।

आपको बता दें कि, देश ही नहीं विदेश से भी हर साल लाखों श्रद्धालु चारधाम की यात्रा पर आते हैं। विगत वर्षों की कई खामियों को सरकार ने इस बार दूर करने का प्रयास किया है। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि सरकार श्रद्धालुओं के लिए यात्रा को सरल, सुगम व सुरक्षित बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

Latest articles

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...

बिहार के गोपालगंज में मतदान का बहिष्कार सुनकर हरकत में आया निर्वाचन विभाग !

न्यूज़ डेस्कबिहार के गोपालगंज के लोग अब मतदान का बहिष्कार करने की तैयारी में...

More like this

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...