Homeदेशएसपी के ब्राह्मण सम्मेलन में उठा स्वामी प्रसाद मौर्य के हिंदू विरोधी...

एसपी के ब्राह्मण सम्मेलन में उठा स्वामी प्रसाद मौर्य के हिंदू विरोधी बयानों का मुद्दा

Published on

 

बीरेंद्र कुमार झा
लोकसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी अपने जातीय समीकरण दुरुस्त करने में जुट गई है। समाजवादी पार्टी ने पिछड़ा दलित अल्पसंख्यक यानि पीडीए का नारा पहले से ही दे रखा है।पार्टी अब अगड़ों को भी अपने साथ जोड़ने में जुट गई है।समाजवादी पार्टी के प्रयास की इसी कड़ी में पार्टी ने लखनऊ स्थित प्रदेश मुख्यालय में ब्राह्मण सम्मेलन आयोजित किया जिसमें पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने कन्नौज से आए महा ब्राह्मण समाज के लोगों के साथ एक सम्मेलन किया।

सम्मेलन में स्वामी प्रसाद मौर्य के हिंदू विरोधी बयानों का मुद्दा भी उठा

इस सम्मेलन में अखिलेश यादव के सामने स्वामी प्रसाद मौर्य के हिंदू विरोधी बयान का भी मुद्दा उठा। ब्राह्मण महासभा और समाजवादी पार्टी के प्रबुद्ध सभा की राज्य कार्यकारिणी के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने स्वामी प्रसाद मौर्य का नाम लिए बगैर हिंदू समाज को लेकर स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे समाजवादी पार्टी के बड़े नेताओं द्वारा दिए जाने वाले आपत्तिजनक बयान पर घोर चिंता जताई। पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं ने इस तरह के बयानों पर रोक लगाने की मांग की।

अखिलेश ने हिंदू विरोधी बयान रुकवाने का दिया भरोसा

समाजवादी पार्टी के इस ब्राह्मण सम्मेलन में जब यह मुद्दा उठा, तब समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने भी पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं को ऐसा न होने का आश्वासन दिया।अखिलेश यादव ने कहा इस तरह की चीजों पर अंकुश लगाया जाएगा।उन्होंने सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को यह नसीहत दी कि कोई भी नेता धर्म और जाति को लेकर टिप्पणी न करें।अखिलेश यादव पहले भी जाति – धर्म को लेकर किसी भी तरह की टिप्पणी से बचने की हिदायत नेताओं को दे चुके हैं, लेकिन इसका कुछ खास असर होता नजर नहीं आया है।समाजवादी पार्टी के कई ब्राह्मण नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के बयानों को लेकर अखिलेश से शिकायत कर चुके हैं।

क्या क्या कहा है स्वामी प्रसाद मौर्य ने

रामचरितमानस पर विवादित बयान देने के अलावा स्वामी प्रसाद मौर्य ने ब्राह्मणों को लेकर भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर एक पोस्ट किया था।अगस्त महीने में स्वामी प्रसाद मौर्य ने एक्स पर डाले एक वीडियो पोस्ट में कहा था कि ब्राह्मणवाद की जड़ें बहुत गहरी है और सारी विषमता का कारण भी ब्राह्मणवाद ही है।इसके अलावा इसी पोस्ट में उन्होंने यह भी कहा था कि हिंदू नाम का कोई धर्म है ही नहीं।हिंदू धर्म को धोखा बताते हुए उन्होंने कहा था कि सही मायने में यह ब्राह्मण धर्म है और उसी ब्राह्मण धर्म को हिंदू धर्म कह कर देश के दलित, आदिवासियों और पिछड़ों को अपने धर्म के मकड़ जाल में फंसाने की एक साजिश है।

स्वामी प्रसाद के हिंदू विरोधी बोल से एसपी के ब्राह्मण नेता भी थे नाराज

गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी के ब्राह्मण नेता ब्राह्मणों को लेकर स्वामी प्रसाद के लगातार दिए जा रहे तीखे बयान से खासे नाराज थे। उन्होंने अखिलेश के सामने पहले भी यह मुद्दा उठाया था ,जिसके बाद समाजवादी पार्टी प्रमुख ने पार्टी के नेताओं को धर्म और जाति को लेकर किसी भी तरह की टिप्पणी से बचने की सलाह दी थी। अब समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ब्राह्मणों की महा सभा में फिर से पार्टी नेताओं को इसी आशय की नसीहत दे रहे हैं, ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि उनकी यह नसीहत स्वामी प्रसाद मौर्य जैसे हिंदुओं को लेकर बिगड़े बोल बोलने वाले नेताओं की ऐसी बोली पर कितना लगाम लगा पति है।

 

Latest articles

मुफ्त की योजनाएं या ‘जीवंत’ जीवन…!

पिछले सप्ताह यानी 14 जुलाई 2024 को मैंने इसी 'प्रहार' कॉलम में ये -...

महबूबा मुफ़्ती ने क्यों कहा कि बीजेपी सरकार उड़ा रही है संविधान की धज्जियां ?

न्यूज़ डेस्क यूपी की योगी सरकार की तरफ से जैसे ही कावड़ यात्रा के...

जम्मू कश्मीर में पांच सौ पैरा कमांडो तैनात ,पाक आतंकियों का अब होगा खात्मा !

न्यूज़ डेस्क जम्मू कश्मीर में जिस तरह फिर से आतंकवाद सिर उठा रहा है...

बांग्लादेश की हालत ख़राब ,अब तक 900 भारतीय लौटे भारत

न्यूज़ डेस्क बांग्लादेश में लगातार हो रही हिंसा के बीच पूरे देश में कर्फ्यू लगा...

More like this

मुफ्त की योजनाएं या ‘जीवंत’ जीवन…!

पिछले सप्ताह यानी 14 जुलाई 2024 को मैंने इसी 'प्रहार' कॉलम में ये -...

महबूबा मुफ़्ती ने क्यों कहा कि बीजेपी सरकार उड़ा रही है संविधान की धज्जियां ?

न्यूज़ डेस्क यूपी की योगी सरकार की तरफ से जैसे ही कावड़ यात्रा के...

जम्मू कश्मीर में पांच सौ पैरा कमांडो तैनात ,पाक आतंकियों का अब होगा खात्मा !

न्यूज़ डेस्क जम्मू कश्मीर में जिस तरह फिर से आतंकवाद सिर उठा रहा है...