Homeदेशपंचायती राज का आज दिल्ली में राष्ट्रीय सम्मेलन, हरित पंचायत के लिए...

पंचायती राज का आज दिल्ली में राष्ट्रीय सम्मेलन, हरित पंचायत के लिए महाराष्ट्र का कुंडल ग्राम को मिलेगा पुरस्कार

Published on

न्यूज डेस्क
राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस के 24 अप्रैल 2023 को होने वाले कार्यक्रमों की तैयारी की दिशा में पंचायती राज मंत्रालय राष्ट्रीय पंचायती राज पुरस्कार सप्ताह ( 17 से 21 अप्रैल 2023 ) का आयोजन कर रहा है। आज इस पर दिल्ली में बड़ा आयोजन भी हो रहा है ।इस आयोजन में स्वस्थ पंचायत, ‘ जल पर्याप्त पंचायत ‘ तथा ‘ स्वच्छ एवं हरित पंचायत ‘ पर राष्ट्रीय सम्मेलन भी किया जा रहा है और चुने गए पंचायतों के साथ ही सरपंचों को भी पुरस्कृत करने की योजना है।

जानकारी के मुताबिक यह सम्मेलन स्वस्थ पंचायत, जल पर्याप्त पंचायत तथा स्वच्छ एवं हरित पंचायत की विषय वस्तुओं पर आयोजित किया जाएगा। राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार 2023 के तहत, स्वस्थ पंचायत के लिए तेलंगाना के गौतमपुर ग्राम पंचायत, जल पर्याप्त पंचायत के लिए नेलुटला ग्राम पंचायत और स्वच्छ एवं हरित पंचायत के लिए महाराष्ट्र के कुंडल ग्राम पंचायत को प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया है। ‘‘ स्वस्थ ग्राम ‘‘ थीम के तहत पंचायतों को स्वास्थ्य जांच, 100 प्रतिशत टीकाकरण, संस्थागत डिलीवरी, पोषण एवं आईसीडीएस आदि के माध्यम से आरंभिक शिशु देखभाल के जरिये सभी के लिए स्वस्थ जीवन एवं भलाई सुनिश्चित करने की आवश्यकता है।

‘ जल पर्याप्त ग्राम ‘ के तहत पंचायतों को हर घर में पीने योग्य पानी की सुविधा, खारा जल उपचार एवं शुद्धिकरण, भूजल में कमी पर ध्यान देने, आर्सेनिक संदूषण, वर्षा जल संचयन एवं भूजल पुनर्भरण आदि सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। ‘ स्वच्छ एवं हरित ग्राम ‘ के तहत पंचायतों का 100 प्रतिशत खुले में शौचमुक्त गांव, ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन, ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोतों की ओर परिवर्तन, अधिक मात्रा में हरित आवरण, जैवविविधता का संरक्षण आदि का लक्ष्य है।

बता दें कि आज के सेमिनार में स्वस्थ पंचायतों, जल पर्याप्त पंचायतों तथा स्वच्छ एवं हरित पंचायतों के तहत पुरस्कार प्राप्त करने वाली पंचायतों के प्रतिनिधि उपलब्धियों तथा अपने प्रयत्नों के मार्ग में आने वाली चुनौतियों पर अपने विचार व्यक्त करेंगे।

इसके अतिरिक्त, इन तीन विषय वस्तुओं में असाधारण योगदान देने वाले गणमान्य व्यक्ति भी तकनीकी सत्रों में सहभागिता करेंगे। इन गणमान्य व्यक्तियों में महाराष्ट्र की हिवारे बाजार पंचायत के पूर्व संरपंच श्री पोपटराव पवार, उत्तर प्रदेश के हाथरस की राजपुर गाम पंचायत की सरपंच सुश्री प्रियंका तिवारी और केरल के कोल्लम की अलयमोन ग्राम पंचायत की अध्यक्ष सुश्री असीना मन्नाफ शामिल हैं। एनआईआरडीपीआर के एसोसिएट प्रोफेसर प्रो. अंजन भंजा तथा यशादा के डीडीजी डॉ. मल्लीनाथ कलशेट्टी सम्मेलन के दौरान प्रथम और द्वितीय सत्र का संचालन करेंगे।केंद्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री गिरिराज सिंह इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे और देश के पीआरआई को संबोधित करेंगे।

जानकारी के मुताबिक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, पीने का पानी एवं स्वच्छता विभाग तथा पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन तथा पर्यावरण मंत्रालय सहित संबंधित मंत्रालय और विभाग के वरिष्ठ अधिकारी कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे।

Latest articles

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...

जी -7 सम्मेलन में हिस्सा लेने कल इटली जाएंगे पीएम मोदी 

न्यूज़ डेस्क प्रधानमंत्री मोदी कल इटली जायेंगे। इटली में जी -7 सम्मेलन होने जा रहा...

More like this

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...