Homeदेशजानिए अडानी समूह पर फ़ोर्ब्स पत्रिका ने नया क्या खुलासा किया है...

जानिए अडानी समूह पर फ़ोर्ब्स पत्रिका ने नया क्या खुलासा किया है —

Published on

न्यूज़ डेस्क
यह बात और है कि अडानी ग्रुप की कंपनियों पर लगे आरोपों पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। इस बीच अब फेमस बिजनेस मैगजीन फोर्ब्स ने अडानी ग्रुप के बारे में एक बड़ा खुलासा किया है। यह खुलासा गौतम अडानी के भाई विनोद अडानी के बारे में किया गया है। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि ग्रुप ने रूस की एक बैंक से लोन लेने के लिए प्रमोटर की हिस्सेदारी को गिरवी रखा है।

फोर्ब्स की रिपोर्ट के अनुसार गौतम अडानी के भाई विनोद अडानी द्वारा नियंत्रित एक प्राइवेट कंपनी की सिंगापुर की यूनिट ने रूसी बैंक से कर्ज के लिए अडानी के प्रमोटर के 240 मिलियन डॉलर के स्टेक को गिरवी रखा है। फोर्ब्स की इस रिपोर्ट को हिंडनबर्ग ने भी ट्वीट किया है। इस रिपोर्ट के अनुसार अडानी ग्रुप ने रूसी बैंक के कर्ज लेने के लिए अपनी 240 मिलियन डॉलर की संपत्ति को गिरवी रखा है।

फोर्ब्स की रिपोर्ट में बताया गया कि गौतम अडानी के भाई विनोद अडानी एक प्रवासी भारतीय हैं, वो लंबे सम से अडानी ग्रुप से जुड़ी ऑफशोर कंपनियों को संभालते हैं। विनोद अडानी दुबई में रहते हैं। जहां से वो सिंगापुर और जकार्ता में चल रहे अडानी ग्रुप की व्यापारिक मसलों का प्रबंधन करते हैं।

बता दें कि हिंडनबर्ग की रिपोर्ट में भी विनोद अडानी का जिक्र था। हिंडनबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया था कि विनोद अडानी कई फर्जी कंपनियों को चलाते है। उनकी कंपनियों का पता, उसके काम और उसमें काम करने वाले लोगों के बारे में जानकारी अस्पष्ट है।

फोर्ब्स रिपोर्ट में दावा किया गया है कि विनोद अडानी द्वारा अप्रत्यक्ष रूप से नियंत्रित सिंगापुर की कंपनी पिनाकल ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट प्राइवेट लिमिटेड ने साल 2020 में रूस के सरकारी वीटीबी बैंक के साथ एक लोन एग्रीमेंट किया था। अप्रैल 2021 तक पिनाकल ने 263 मिलियन डॉलर उधार लिए और एक अनाम पार्टी को 258 मिलियन डॉलर उधार दिए। पिनाकल ने एफ्रो एशिया ट्रेड एंड इंवेस्टमेंट्स और वर्ल्डवाइस इमर्जिंग मार्केट होल्डिंग लिमिटेड को कर्ज के लिए गारंटर के रूप में पेश किया। ये दोनों अडानी ग्रुप के बड़े शेयरधारक हैं। दोनों का अडानी ग्रुप की कंपनियों में 4 बिलियन डॉलर का स्टॉक है।

Latest articles

कर्नाटक सरकार ने सारे मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए ओबीसी लिस्ट में किया शामिल,

लोकसभा चुनाव जैसे - जैसे अगले चरण के चुनाव की तरफ बढ़ रहा है...

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...

More like this

कर्नाटक सरकार ने सारे मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए ओबीसी लिस्ट में किया शामिल,

लोकसभा चुनाव जैसे - जैसे अगले चरण के चुनाव की तरफ बढ़ रहा है...

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...