Homeटेक्नोलॉजीकामी रीता शेरपा जैसा कोई नहीं --27 वीं बार माउंट एवरेस्ट को फतह...

कामी रीता शेरपा जैसा कोई नहीं –27 वीं बार माउंट एवरेस्ट को फतह कर स्थापित किया कीर्तिमान !

Published on


न्यूज़ डेस्क 

कहते हैं कि जीवन कठनाइयों का उद्गम श्रोत है और साहसी पुरुष ही मनोरंजन करते हैं। किसी कवि ने ठीक ही कहा है कि ”पगले वे जो तिनके पे चढ़ उद भी पार कर जाते हैं ,दीवाने वे जो तुफानो और लहरों पे भी  जाते हैं। ” नेपाल के कामी रीता शेरपा ने आज इस वाक्य को सच साबित कर  दिया है। शेरपा का यह रिकॉर्ड अपने आप में बेमिसाल है। ऐसा कीर्तिमान आज तक किसी ने नहीं स्थापित किया। 17 मई को जब शेरपा माउंट एवरेस्ट की सबसे ऊँची चोटी पर झंडा फहरा रहे थे तो उन्हें भी नहीं मालूम कि उन्होंने क्या कुछ कर दिया। वे 27 वी बार माउंट एवरेस्ट को फतह कर चुके थे।            
 कामी रीता शेरपा पिछले बुधवार की सुबह एक वियतनामी अभियान दल का मार्गदर्शन करते हुए दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर पर सफलतापूर्वक पहुंचे। इस बात की जानकारी अभियान के आयोजन सेवन समिट ट्रैक्स के मिगमा शेरपा दी।  मालूम हो कि अभी 4 मई को ही एक पर्वतारोही ने 26वीं बार दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर पर चढ़ाई कर रिकॉर्ड बनाया था। इसे महज दो सप्ताह  बाद ही कामी रीता शेरपा ने तोड़ डाला। 
           बताते चलें कि 53 वर्षीय कामी रीता शेरपा ने 2018 में ही 22 वीं बार एवरेस्ट की चढ़ाई पूरी कर ली थी, तब से उनके नाम यह रिकॉर्ड दर्ज है।  लेकिन चार मई को एक और पर्वतारोही पासंग दावा शेरपा (46) ने 26वीं बार चोटी पर पहुंचकर रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। 
             कामी रीता शेरपा के इन रिकॉर्ड की वजह से ही उन्हें द एवरेस्ट मैन के नाम से जाना जाता है। इनका जन्म 1970 में थामे गांव में हुआ था। हिमालय का ये गांव में सफल पर्वतारोहियों को देने के लिए मशहूर है।  कामी रीता का पूरा जीवन पड़ाहों पर ही बीता है।  उन्हें माउंटेनियर गाइड के रूप में काम करते हुए करीब दो दशकों से अधिक हो गए। कामी रीता शेरपा ने एक कामर्शियल अभियान के लिए काम करते हुए पहली बार 1994 में 8,848-मीटर शिखर पर चढ़ाई की थी।  उन्होंने 7 मई 2022 को 26 वीं बार पर्वत की शिखर पर चड़कर उन्होंने अपने स्वयं के रिकॉर्ड को जो 07 मई 2021, को बनाया था, तोड़ दिया। उनके पिता, 1950 में विदेशी पर्वतारोहियों के लिए एवरेस्ट के खोले जाने के बाद पहले पेशेवर शेरपा गाइडों में से एक थे। उनके भाई लकपा रीटा भी एक गाइड थे और एवरेस्ट की 17 बार चड़ाई कि थी।
                 2017 में, कामी रीटा, 21 बार एवरेस्ट के शिखर पर चढ़ने वाले तीसरे व्यक्ति थे, उनसे पहले इस रिकॉर्ड को आप्पा शेर्पा और फुबा ताशी शेरपा के नाम था। बाद में वह दोनों रिटायर्ड हो गए।16 मई 2018 को, 48 साल की उम्र में, कामी रीटा दुनिया के पहले व्यक्ति बन गये, जिन्होंने एवरेस्ट 8,850 मीटर  ऊँचे शिखर पर सबसे अधिक 22 बार विजय प्राप्त कर रिकॉर्ड को अपने नाम किया था।  उसी वर्ष के अप्रैल में, उन्होंने  मीडिया को बताया कि उन्होंने सेवानिवृत्ति से पहले 25 बार एवरेस्ट को आरोहण करने की योजना बनाई हैं, “न केवल अपने लिए बल्कि मेरे परिवार के लिए, शेरपा लोगों और मेरे देश नेपाल के लिए। “;

Latest articles

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...

जी -7 सम्मेलन में हिस्सा लेने कल इटली जाएंगे पीएम मोदी 

न्यूज़ डेस्क प्रधानमंत्री मोदी कल इटली जायेंगे। इटली में जी -7 सम्मेलन होने जा रहा...

More like this

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...