Homeदेशमध्यप्रदेश में कांग्रेस की तैयारी ,कमलनाथ ने कहा कट्टरपंथी संगठनों पर लगे...

मध्यप्रदेश में कांग्रेस की तैयारी ,कमलनाथ ने कहा कट्टरपंथी संगठनों पर लगे रोक !

Published on


न्यूज़ डेस्क 

लगता है कर्नाटक में कांग्रेस द्वारा बजरंग दल और पीएफआई पर बैन लगाने के वादे से प्रभावित होकर कमलनाथ भी कट्टरपंथी संगठनों पर रोक लगाने की दिशा में आगे बढ़ते दिख रहे हैं। हलाकि कर्नाटक और हिंदी पट्टी की राजनीति विल्कुल अलग है और खासकर मध्यप्रदेश में बीजेपी और संघ से जुड़े संगठन की जमीनी पहुँच काफी मजबूत भी है ऐसे में कांग्रेस नेता कमलनाथ का कट्टपंथी संगठनों पर रोक लगाने की बात यहाँ की राजनीति पर क्या असर डालेगा कहा नहीं जा सकता। लेकिन जिस अंदाज में कमलनाथ से ये बातें कही है उससे तो यही लगता है कि कांग्रेस इस मुद्दे को यहां के चुनाव में भी उठएगी।     बता दें कि  कमलनाथ ने कहा है कि राज्य में कट्टरपंथी संगठनों से जुड़े लोगों की घुसपैठ को रोके।कांग्रेस नेता  कमलनाथ ने कहा, यदि मध्यप्रदेश में कट्टरवादी संगठनों की घुसपैठ हुई है तो यह पुलिस प्रशासन का दायित्व होना चाहिए कि मध्य प्रदेश को मुक्त करें ऐसी शक्तियों से।
            कर्नाटक के चुनाव में कांग्रेस को मिली सफलता और भाजपा के बजरंगबली को सियासत से जोड़ने का जिक्र करते हुए कहा, कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी द्वारा भगवान बजरंगबली के नाम का दुरुपयोग करने का भरपूर प्रयास किया गया, किस प्रकार पैसे का दुरुपयोग किया गया। उसके बावजूद भाजपा की यह स्थिति हुई और 64 सीटों पर सिमट कर रह गए।
                   कमलनाथ ने कर्नाटक में कांग्रेस द्वारा बजरंग दल पर प्रतिबंध लाए जाने की बात कहे जाने के सवाल पर सर्वोच्च न्यायालय के निर्देशों का जिक्र करते हुए कहा, सुप्रीम कोर्ट ने यह बात एक बार नहीं अनेकों बार कहीं है कि जो व्यक्ति या संगठन समाज में नफरत, वैमनस्यता और बांटने की बातें करें उन पर बैन लगना चाहिए और कार्यवाही होनी चाहिए, काम किसी व्यक्ति अथवा संस्था को टारगेट करने का कार्य नहीं करेंगे।  
               बता दें कि कांग्रेस की विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर है और वचन पत्र बन रहा है। इस पर कमलनाथ ने कहा, हमारे वचन पत्र लगभग पूरा होने को हैं, किसान कर्ज माफी से जुड़ी हुई तमाम घोषणाएं कांग्रेस के वचन पत्र में आ जायेंगी। हमारी नारी सम्मान योजना को प्रदेश भर से बहुत अच्छा रिस्पांस मिल रहा है, अंत में मुद्दा यह होगा कि जनता किस पर विश्वास करती है और इसी विश्वास के मुद्दे पर मध्य प्रदेश का चुनाव लड़ा जाएगा।

Latest articles

अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म ,57 सीटों पर होगा मुकाबला !

न्यूज़ डेस्क सात राज्यों की कुल 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इन...

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दो मामले में हुए बरी 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान तहरीके-इन्साफयानि पीटीआई  के संस्थापक इमरान खान को जिला व सत्र न्यायालय ने...

जयराम रमेश ने कहा -इंडिया’ गठबंधन 48 घंटे के भीतर करेगा प्रधानमंत्री का चयन!

न्यूज़ डेस्क कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने  कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन...

पंजाब के मतदाताओं के नाम आखिर मनमोहन सिंह ने क्यों लिखा पत्र ?

न्यूज़ डेस्क पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने पंजाब के मतदाताओं के नाम एक...

More like this

अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म ,57 सीटों पर होगा मुकाबला !

न्यूज़ डेस्क सात राज्यों की कुल 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इन...

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दो मामले में हुए बरी 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान तहरीके-इन्साफयानि पीटीआई  के संस्थापक इमरान खान को जिला व सत्र न्यायालय ने...

जयराम रमेश ने कहा -इंडिया’ गठबंधन 48 घंटे के भीतर करेगा प्रधानमंत्री का चयन!

न्यूज़ डेस्क कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने  कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन...