Homeदुनियाईरान के राष्ट्रपति के निधन पर पूरे भारत में आज रहेगा एक...

ईरान के राष्ट्रपति के निधन पर पूरे भारत में आज रहेगा एक दिन का राजकीय शोक

Published on

हेलीकॉप्टर दुर्घटना में ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का निधन होने के बाद भारत ने 21 मई को राष्ट्रीय शोक की घोषणा की है। इस दौरान पूरे भारत में उन सभी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा,जहां इसे नियमित रूप से फहराया जाता है।साथ ही राजकीय शोक की अवधि के दौरान किसी भी प्रकार का मनोरंजन वाला कोई आधिकारिक कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया जाएगा।

हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति रईसी और विदेश मंत्री सहित कई लोगों की मौत

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी अज़रबैजान में एक बांध के उद्घाटन समारोह के लिए विदेश मंत्री और कुछ अन्य लोगों के साथ हेलीकॉप्टर से निकले थे। ईरान के उत्तर पश्चिम स्थित पर्वतीय क्षेत्र में खराब मौसम के कारण हेलीकॉप्टर के दुर्घटना हो जाने की घटना में राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी,विदेश मंत्री अब्दुलाहियनऔर अन्य लोगों की मौत हो गई थी।

21 में को पूरे भारत में 1 दिन का राजकीय शोक

गृह मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और विदेश मंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियन का एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया। प्रवक्ता ने बताया कि दिवंगत गणमान्य व्यक्तियों के सम्मान में भारत सरकार ने निर्णय लिया है कि 21 मई को पूरे भारत में एक दिन का राजकीय शोक रहेगा। उन्होंने बताया कि शोक के दिन पूरे भारत में उन सभी इमारतों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा,जहां राष्ट्रीय ध्वज नियमित रूप से फहराया जाता है। साथ ही उस दिन मनोरंजन वाला कोई आधिकारिक कार्यक्रम भी नहीं होगा।

सोमवार को आई थी हेलीकॉप्टर हादसे में राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की मौत की खबर

ईरान के उत्तर पश्चिम स्थित पहाड़ी क्षेत्र में खराब मौसम की वजह से हुए हेलीकॉप्टर हादसे में ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी, विदेश मंत्री और अन्य लोग दुर्घटना स्थल पर मृत पाए गए थे।राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी हादसे के समय ईरान के पूर्वी अज़रबैजान प्रांत में यात्रा कर रहे थे।हादसे में रईसी के साथ जिन लोगों के शव मिले हैं,उनमें ईरान के विदेश मंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियन शामिल है।सरकारी समाचार एजेंसी आईआर एन ए की खबर के अनुसार रईसी के साथ ईरान के विदेश मंत्री अमीर अब्दुल्लाहियन, ईरान के पूर्वी अज़रबैजान फ्रांस के गवर्नर एवं अन्य अधिकारी और अंगरक्षक भी यात्रा कर रहे थे। राष्ट्रपति इब्राहिम रईस की मौत हो जाने के कुछ घंटे बाद प्रथम उपराष्ट्रपति मोहम्मद मुखबर को देश का कार्यवाहक राष्ट्रपति नियुक्त किया गया।

इब्राहिम रईसी ने 2021 में जीता था राष्ट्रपति पद का चुनाव

इब्राहिम रईसी ने 2021 में ईरान के राष्ट्रपति पद का चुनाव जीता था। उस दौरान ईरान के इतिहास में तब तक का सबसे कम मतदान हुआ था।अमेरिका ने ईरान- इराक युद्ध के अंत में 1988 ईस्वी में हजारों राजनीतिक कैदियों की सामूहिक फांसी में शामिल होने के कारण रईसी पर प्रतिबंध लगा दिया था।रईसी दूसरे राष्ट्रपति हैं जिनकी मौत इस पद पर रहते हुए हुई है। इससे पहले 1981 ईस्वी में राष्ट्रपति मोहम्मद अली रजाई की बम धमाके में मौत हो गई थी।

राष्ट्रपति चुनाव तक मुखबर रहेंगे अंतरिम राष्ट्रपति

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रजिस्ट्री की हेलीकॉप्टर हादसे में हुई मौत के बाद अंतिम राष्ट्रपति बने मुखवर, अब अगले राष्ट्रपति चुनाव तक अंतरिम राष्ट्रपति बने रहेंगे।गौरतलब है कि ईरान में इस स्थिति में 50 दिन के अंदर राष्ट्रपति पद का चुनाव करवा लिया जाएगा।

Latest articles

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...

जोधपुर में साम्प्रदायिक हिंसा ,हिरासत में लिए गए 40 लोग 

न्यूज़ डेस्क राजस्थान का जोधपुर अचानक हिंसाग्रस्त हो गया। दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पे...

More like this

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...