Homeदेशएनडीए सरकार में मंत्री पद को लेकर बढ़ी खींचतान ,एनसीपी और शिवसेना...

एनडीए सरकार में मंत्री पद को लेकर बढ़ी खींचतान ,एनसीपी और शिवसेना की बढ़ी नाराजगी !

Published on


न्यूज़ डेस्क
पीएम मोदी फिर से प्रधानमंत्री बन गए। मंत्रिमंडल भी बन गया। बीजेपी ने अपने पास ही सभी अहम मंत्रालय को रख लिया। लेकिन अब मंत्री पद को लेकर खींचतान शुरू हो गई है। पहले सिर्फ एनसीपी की ओर से नाराजगी जताई गई थी लेकिन अब महाराष्ट्र की दूसरी सहयोगी पार्टी शिव सेना की ओर से भी नाराजगी जताई गई है।    

बताया जा रहा है कि झारखंड की सहयोगी पार्टी आजसू के नेता भी मंत्री पद नहीं मिलने से नाराज हैं।  महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे गुट ने इस बात पर नाराजगी जताई है कि सात लोकसभा सांसद होने के बावजूद उनकी पार्टी को सिर्फ एक स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री का पद मिला।

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की पार्टी के नेता श्रीरंग बारने ने कहा है उनकी पार्टी को कम से कम एक कैबिनेट मंत्री का पद चाहिए। नरेंद्र मोदी की तीसरी सरकार के मंत्रिमंडल पर सवाल उठाते हुए बारने ने कहा- सरकार में चार-पांच सीट जीतकर आने वाली पार्टियों को कैबिनेट मंत्री का पद दिया गया है। महाराष्ट्र में हमने तो सात सीटें जीती हैं, ऐसे में कम से कम हमें भी एक कैबिनेट तो मिलना ही चाहिए।  

बारने पुणे की मावल लोकसभा सीट से सांसद हैं। शिंदे गुट के सांसद ने आगे कहा- शिव सेना बीजेपी की सबसे पुरानी सहयोगी रही है, ऐसे में हमें भी कैबिनेट मंत्री पद मिलना चाहिए था। गौरतलब है कि शिंदे गुट के नेता प्रतापराव जाधव ने राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार के रूप में शपथ ली है।

इससे पहले रविवार को अजित पवार की पार्टी एनसीपी ने कैबिनेट मंत्री पद की मांग पर जोर देते हुए राज्य मंत्री का पद ठुकरा दिया था। बताया जा रहा है कि भाजपा की ओर से एनसीपी को स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री के पद का प्रस्ताव दिया गया था। 

 लेकिन अजित पवार ने उसे ठुकरा दिया। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी से प्रफुल्ल पटेल को मंत्री बनाना था, जो पहले कैबिनेट मंत्री रहे हैं। ऐसे में उन्हें राज्यमंत्री का पद नहीं दिया जा सकता है। सो, एनसीपी ने कोई मंत्री पद नहीं लिया है।

उधर झारखंड की सहयोगी पार्टी आजसू ने लोकसभा की एक सीट जीती है। लगातार दूसरी बार आजसू को एक सीट मिली है। लेकिन इस बार भी उसे सरकार में नहीं शामिल किया गया है। मंत्री पद नहीं मिलने से गिरिडीह से जीते आजसू सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी नाराज हैं।

पार्टी के प्रमुख सुदेश महतो भी नाराज बताए जा रहे हैं। वे कई दिन से दिल्ली में डेरा डाले हुए थे लेकिन उनकी पार्टी को सरकार में शामिल होने का न्योता नहीं मिला।

Latest articles

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...

जी -7 सम्मेलन में हिस्सा लेने कल इटली जाएंगे पीएम मोदी 

न्यूज़ डेस्क प्रधानमंत्री मोदी कल इटली जायेंगे। इटली में जी -7 सम्मेलन होने जा रहा...

More like this

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...