Homeदेशपश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर संवैधानिक मर्यादाओं के...

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर संवैधानिक मर्यादाओं के पालन की नसीहत

Published on

  • बीरेंद्र कुमार झा

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री आनंद बोस ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भेजे एक पत्र में ममता बनर्जी को एक पत्र लिखकर यह आरोप लगाया है कि पद से हटाए जाने के बावजूद उनके प्रधान सचिव नंदनी चक्रवर्ती कार्यालय आ रही है।ऐसे में राज्य सरकार को संवैधानिक मर्यादाओं का पालन करना चाहिए। राजभवन के उच्च पदस्थ सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।

झूठी खबर फैला रहीं हैं सचिव स्तर की अधिकारी नंदनी चक्रवर्ती

राज्यपाल सीबी आनंद बोस ने पत्र में दावा किया है कि नंदनी चक्रवर्ती ने झूठी खबर फैलाई थी कि राज्यपाल सीबीआई और अन्य एजेंसियों के अधिकारी को अपना सलाहकार नियुक्त करके राजभवन को राज्य के सचिवालय के समानांतर बनाने का प्रयास कर रहे हैं ।पत्र में कहा गया है कि राज्य सरकार को उनकी गंभीर गलतियों के जांच करनी चाहिए। राज्यपाल ने 12 फरवरी को नंदिनी चक्रवर्ती को अपने प्रधान सचिव के पद से हटा दिया था। हालांकि वह इसके बाद भी कथित रूप से कार्यालय आती रही हैं। पश्चिम बंगाल कैडर की वर्ष 1994 बैच की आईएएस अधिकारी नंदनी चक्रवर्ती का 15 फरवरी को राज्य के पर्यटन विभाग में तबादला कर दिया गया है।

क्या कहा गया है राज्यपाल के पत्र में

राजभवन के अधिकारी के अनुसार राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को एक मजबूत और तर्कपूर्ण पत्र भेजा है जिसमें सरकार को संवैधानिक मर्यादाओं का पालन करने के लिए कहा गया है। राज्यपाल ने पत्र में उल्लेख किया है कि सचिव स्तर की पदाधिकारी नंदिनी चक्रवर्ती झूठी खबर फैला रही है कि राज्यपाल सीबीआई और अन्य क्षेत्रों के अधिकारियों को अपना सलाहकार नियुक्त कर राजभवन को एक समान अंतर राज्य सचिवालय में बदलने की कोशिश कर रहे हैं। यह असत्य है। राजभवन में नंदनी चक्रवर्ती की जगह कौन लेगा अभी इसकी घोषणा नहीं की गई है।

Latest articles

कर्नाटक सरकार ने सारे मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए ओबीसी लिस्ट में किया शामिल,

लोकसभा चुनाव जैसे - जैसे अगले चरण के चुनाव की तरफ बढ़ रहा है...

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...

More like this

कर्नाटक सरकार ने सारे मुसलमानों को आरक्षण देने के लिए ओबीसी लिस्ट में किया शामिल,

लोकसभा चुनाव जैसे - जैसे अगले चरण के चुनाव की तरफ बढ़ रहा है...

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...