Homeदेशकांग्रेस के हाथ से छिटककर एक और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हो सकते...

कांग्रेस के हाथ से छिटककर एक और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हो सकते हैं बीजेपी के साथ

Published on

राहुल गांधी के नेतृत्व में जब से कांग्रेस का भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत हुई है, तब से एक प्रकार से कांग्रेस में भगदड़ सी मची हुई है।जिस दिन राहुल गांधी के नेतृत्व में मणिपुर से कांग्रेस का भारत जोड़ो न्याय यात्रा का प्रारंभ हो रहा था ,सबसे पहले उस दिन ही कांग्रेस के एक बड़े नेता और राहुल गांधी के काफी करीब रहे मिलिंद देवड़ा ने कांग्रेस छोड़ दिया। उसके बाद महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चौहान ने भी अपने दो पीढ़ियों के साथ रहा कांग्रेस का अपना नाता तोड़ दिया और बीजेपी का हाथ थाम लिया।अब मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ का कांग्रेस का हाथ छोड़कर बीजेपी के साथ जाने की अटकलें तेज हो गई है।

कमलनाथ बेटा नकुलनाथ और कुछ सहयोगियों के साथ जा सकते हैं बीजेपी में

मध्य प्रदेश से आ रही हालिया खबर के अनुसार पूर्व कांग्रेसी मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके सांसद बेटे नकुल नाथ जल्दी ही बीजेपी का दामन थाम सकते हैं।पिछले दिनों से ही ऐसी अटकलें लगाई जा रही थी कि कमलनाथ कांग्रेस आलाकमान से नाराज चल रहे हैं। इस बीच नकुल नाथ ने अपने एक बायो से कांग्रेस का नाम हटा दिया है,जिससे उनके बीजेपी में शामिल होने की अटकलें पुख्ता हो रही है।

छिंदवाड़ा पर है नजर

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार कमलनाथ को अपने पुत्र नकुलनाथ के राजनीतिक भविष्य की चिंता है।पिछले लोकसभा चुनाव में मध्य प्रदेश में कांग्रेस को सिर्फ एक ही सीट मिली थी, जो कमलनाथ के घर छिंदवाड़ा की थी।यहां उनके बेटे नकुल नाथ ने कड़े संघर्ष के बाद जीत हासिल की थी।छिंदवाड़ा में कमलनाथ और नकुलनाथ की जीत का मार्जिन लगातार घट रहा है।वहीं बीजेपी ने छिंदवाड़ा को अपनी कमजोर क्षेत्रों वाली सूची में रखा है ।बीजेपी ने पिछले 3 सालों में ने यहां बहुत मेहनत की है।

कमलनाथ ने शुक्रवार को दिया था एक भाषण

शुक्रवार को कमलनाथ ने छिंदवाड़ा में एक भाषण देते हुए कहा था कि मुझे इस समय 42 साल पहले का समय याद आता है, जब में जीप में बैठकर दौरा करता था। जो पुराने लोग यहां बैठे हैं, नौजवानों का पता नहीं,तब सड़के नहीं हुआ करती थी,तब कोई सुविधा नहीं थी, ढाई घंटे पैदल चलना पड़ता था। लोगों को दुनिया से कोई मतलब नहीं था। केवल नमक के लिए बाहर आते थे, सीमित कपड़े पहनते थे। आज वहां के बच्चे जींस और शर्ट पहनते हैं। आज यह परिवर्तन हुआ है। हम धीरे-धीरे आगे बढ़े हैं।

कमलनाथ ने कहा कि छिंदवाड़ा की तो कोई पहचान ही नहीं थी। भोपाल में अगर हम कहते थे कि हम छिंदवाड़ा से हैं,तो वह कहते थे कि कौन सा छिंदवाड़ा ? आज तो आप कहीं भी जाएं और बोलें कि हम छिंदवाड़ा जिला से हैं।आप अपनी छाती ठोक कर कर सकते हैं कि हम छिंदवाड़ा जिला से हैं। फिर भी आगे का रास्ता बहुत लंबा है और सबसे बड़ी चिंता मुझे नौजवानों की है।सच्चाई का साथ देना,सच्चाई का साथ दीजिए। सच्चाई का साथ देंगे, तभी आपका भविष्य सुरक्षित रहेगा मेरा पुराना संबंध है। यहां आकर मुझे अपनी जवानी याद आती है कि यहां मैं कैसे घूमता था।

बीजेपी नेता का पोस्ट

मध्य प्रदेश बीजेपी प्रवक्ता और कमलनाथ के पूर्व मीडिया सलाहकार नरेंद्र सलूजा ने कमलनाथ – नकुलनाथ की फोटो एक्स पर पोस्ट करते हुए जय श्री राम लिखा है, जिसके बाद कमलनाथ और नकुलनाथ के बीजेपी में जाने की अटकलें का बाजार गर्म है।हालांकि कमलनाथ या नकुलनाथ की तरफ से इनके बीजेपी में जाने को लेकर कोई बयान नहीं आया है और ना ही इन्होंने अब तक इसका खंडन ही किया है इस बीच पिता और पुत्र की जोड़ी अब से कुछ ही देर में दिल्ली में लैंड करने वाले हैं,जहां से वह राजदूत मार्ग स्थित अपने बंगले पर जाएंगे।

सज्जन सिंह के साथ शामिल होंगे बीजेपी में,

इस बीच कांग्रेस समर्थक पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने सोशल मीडिया प्रोफाइल से कांग्रेस का लोगो हटा लिया है। सज्जन सिंह वर्मा की गिनती कमलनाथ के सबसे कट्टर समर्थकों में होती है। कहा जा रहा है कि दोनों ही नेता आज दिल्ली पहुंच रहे हैं और उनका बीजेपी में जाना तय है। हालांकि अभी यह तय नहीं हुआ है कि वह किस दिन बीजेपी ज्वाइन करेंगे ।

दिग्विजय सिंह ने किया खंडन

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ के बीजेपी ज्वाइन करने की खबरों का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि मेरी कल रात कमलनाथ से बात हुई है। वह छिंदवाड़ा में है। जिस आदमी ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत नेहरू गांधी परिवार के साथ की थी, उस आदमी से हम कैसे उम्मीद करें कि वह इंदिरा जी के परिवार को छोड़कर कहीं जाएगा। हमें तो यह उम्मीद भी नहीं करनी चाहिए।

पार्टी से जुड़े रहने के लिए बाध्य नहीं है

दरअसल कुछ दिन पहले कमलनाथ से पूछा गया था कि क्या कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम बीजेपी में शामिल हो सकते हैं? इस पर कमलनाथ ने कहा कि सभी स्वतंत्र हैं ,किसी पार्टी से जुड़े होने के लिए बाध्य नहीं है। खुद के पाला बदलने की अटकलें के बारे में पूछे जाने पर कमलनाथ ने कहा कि बहुत सारी अफवाहें चल रही हैं, मैं उनके बारे में क्या कह सकता हूं ?गौरतलब है कि कमलनाथ छिंदवाड़ा से नौ बार लोकसभा का चुनाव जीते हैं।पिछले दो बार से वह छिंदवाड़ा से विधायक हैं।उनका बेटा नकुलनाथ इस समय छिंदवाड़ा से सांसद है।कमलनाथ दिसंबर 2018 और मार्च 2020 के बीच मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं।ये मध्यप्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष भी रहे हैं।

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...