Homeदेशएजेएसयू सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी केंद्रीय कैबिनेट में हिस्सेदारी नहीं मिलने से नाराज

एजेएसयू सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी केंद्रीय कैबिनेट में हिस्सेदारी नहीं मिलने से नाराज

Published on

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फेज 3 वाली सरकार को लेकर मंत्रिमंडल का गठन भी हो गया और उनके बीच विभागों का बंटवारा भी हो गया। लेकिन इस सब के बीच जो सांसद केंद्रीय मंत्रिमंडल में जगह मिलने की उम्मीद लगाए बैठे थे, वे मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले एनडीए से काफी नाराज चल रहे हैं। एनडीए के घटक दल के ऐसे नेताओं में झारखंड के एजेएसयू के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी भी शामिल है।चंद्रप्रकाश चौधरी ने एनडीए के घटक दल एजेएसयू के टिकट पर गिरिडीह से लगातार दूसरी बार लोकसभाव का चुनाव जीता है।

मंत्रिमंडल में शामिल नहीं करने पर नाराजगी व्यक्त कर रहे चंद्रप्रकाश चौधरी

गिरिडीह से एनडीए के घटक दल एजेएसयू के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी का कहना है कि एनडीए की बैठक मैं घटक दलों को उचित प्रतिनिधित्व देने की बात कही गयी थी, लेकिन मंत्रिमंडल गठन में एजेएसयू पार्टी को दरकिनार कर दिया गया। गठबंधन धर्म के तहत सभी दलों को सम्मान मिलना चाहिए और पार्टी स्तर पर हम सभी इस मामले पर विचार कर आगे की रणनीति तय करेंगे।

सुदेश महतो का नहीं आया कोई बयान

चंद्रप्रकाश चौधरी ने कहा कि क्षेत्र के कार्यकर्ता और शुभचिंतक फोन कर यही पूछ रहे हैं कि मीडिया में अंत तक आपका नाम चलता रहा, फिर आपके नाम को कैसे ड्रॉप किया गया। उन्होंने कहा कि इस बात को लेकर कार्यकर्ताओं में काफी नाराजगी है। हालांकि एजेएसयू सुप्रीमो सुदेश महतो की तरफ से इसे लेकर अभी तक कोई बयान सामने नहीं आया है।

झारखंड में एजेएसयू के साथ पुराना गठबंधन है बीजेपी का

झारखंड में एजेएसयू और बीजेपी का गठबंधन काफी पुराना है। गठबंधन में रहते हुए यह दोनों दल एक दूसरे को काफी फायदा पहुंचाते हैं। बीते दिनों जब-जब भी भारतीय जनता पार्टी की अल्पमत या बहुमत की सरकार रही एजेएसयू इस सरकार का हिस्सा रहा। 2019 ईस्वी में विधानसभा चुनाव के दौरान दोनों राजनीतिक दल एजेएसयू और बीजेपी के बीच माहौल तनावपूर्ण हो गया था, जिसका खामियाजा झारखंड में दोनों ही दलों को भुगतना पड़ा था और झारखंड में झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेतृत्व में जेएमएम कांग्रेस और आरजेडी गठबंधन की सरकार बनी थी जो अभी भी चल रही है।गौरतलब है कि झारखंड में 2024 के अंत तक विधानसभा का चुनाव होना है।

Latest articles

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...

जोधपुर में साम्प्रदायिक हिंसा ,हिरासत में लिए गए 40 लोग 

न्यूज़ डेस्क राजस्थान का जोधपुर अचानक हिंसाग्रस्त हो गया। दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पे...

More like this

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...