Homeदेशचार सौ सीट पाने के लिए बीजेपी लगातार कर रही है एनडीए...

चार सौ सीट पाने के लिए बीजेपी लगातार कर रही है एनडीए का विस्तार !

Published on

न्यूज़ डेस्क
बीजेपी की कोशिश यही है कि इस बार के लोकसभा चुनाव में एनडीए को चार सौ सताएं मिले। वह भारी बहुमत से जीते और एक मजबूत सरकार बनाये ताकि देश को आगे ले जाया जा सके। इसके लिए बीजेपी लगातार प्रयास भी कर रही है और उसमे बीजेपी को सफलता भी मिल रही है। बिहार में ही बीजेपी को तब बड़ी सफलता मिली जब जदयू को अपने साथ लाने में वह कामयाब रही। नीतीश कुमार के फिर से एनडीए में जाने के बाद बिहार में बीजेपी की ताकत पहले से ज्यादा बढ़ गई है।  

एनडीए को विस्तारित करने के लिए  भाजपा ने त्रिस्तरीय स्तरीय मेगा प्लान बनाया है । जिसके तहत एक तरफ जहां भाजपा ने साथ छोड़ चुके पुराने सहयोगियों को फिर से गठबंधन में लाने का प्रयास किया तो वहीं साथ ही दूसरी तरफ ऐसे दलों से भी संपर्क साधा जो या तो कभी भी एनडीए गठबंधन का हिस्सा नहीं रहे या फिर जिनके भाजपा के साथ आने के बारे में सोचा तक नहीं जा सकता था।

वहीं, तीसरी तरफ कई राजनीतिक दलों के मजबूत और लोकप्रिय नेता भी पार्टी के सांसद और विधायकों को लेकर एनडीए में शामिल हो गए। बिहार, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश और कर्नाटक सहित कई राज्यों में भाजपा को कामयाबी मिल गई है तो वहीं ओडिशा, पंजाब और तमिलनाडु में पार्टी की कोशिश अभी जारी है।

भाजपा को सबसे बड़ी कामयाबी बिहार में मिली। बिहार में 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा नीतीश कुमार की जेडीयू और एलजेपी के साथ मिलकर लड़ी थी और राज्य की 40 में से 39 सीटों पर जीत हासिल की थी। बाद में नीतीश कुमार, लालू यादव और कांग्रेस के साथ चले गए थे, लेकिन अब वह फिर से एनडीए में शामिल हो गए हैं।

महाराष्ट्र में पिछली बार भाजपा और उद्धव ठाकरे ने मिलकर राज्य की 48 लोकसभा सीटों में से 41 सीटों पर जीत हासिल की थी। लेकिन, बाद में उद्धव ठाकरे, शरद पवार और कांग्रेस के समर्थन से राज्य के मुख्यमंत्री बने। आगे चलकर राज्य की राजनीति में कई बड़े अहम बदलाव देखने को मिले। आज शिवसेना के ताकतवर नेता एकनाथ शिंदे उद्धव ठाकरे को छोड़कर और एनसीपी के मजबूत नेता अजित पवार अपने चाचा शरद पवार को छोड़कर दल के अन्य नेताओं के साथ एनडीए गठबंधन का हिस्सा हैं।

दक्षिण भारत में इस बार अब तक का अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने की कोशिश में जुटी भाजपा को सबसे बड़ी कामयाबी आंध्र प्रदेश में मिली है। चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी फिर से एनडीए में शामिल हो गई है। आंध्र प्रदेश में भाजपा चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी और पवन कल्याण की जनसेना पार्टी के साथ मिलकर लोकसभा और विधानसभा दोनों चुनाव लड़ेगी। टीडीपी – 17, भाजपा – 6 और जेएसपी – 2 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी

 कर्नाटक में पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की पार्टी जेडीएस भी एनडीए गठबंधन में शामिल हो गई है। वहीं, 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले उत्तर प्रदेश में भाजपा का साथ छोड़कर अखिलेश यादव के साथ जाने वाले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के ओम प्रकाश राजभर इस बार एनडीए गठबंधन के बैनर तले ही लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहे हैं।

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...