Homeदेशबेमेतरा ब्लास्ट :मलबे में कई मजदूरों के बॉडी पार्ट्स मिले, रेस्क्यू ऑपरेशन...

बेमेतरा ब्लास्ट :मलबे में कई मजदूरों के बॉडी पार्ट्स मिले, रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू

Published on

न्यूज़ डेस्क 
छत्तीसगढ़ के बेमेतरा धामके के मलबे में कई मजदूरों के बॉडी पार्ट्स मिले है।  शरीर के अलग-अलग टुकड़े मलबे में मिल रहे है। मजदूरों के शवों को ढूंढने सुबह से ही रस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो गया है। अपने परिजन को ढूंढने महिलाएं फैक्ट्री के बहार ही बैठ गई धमाके में अब तक 12 मजदूरों के शव बरामद किए गए है। 

 वहीं धमाके के कंपन्न से 4 मंजिला ईमारत गिर गई जिसके मलबे में 10 से ज्यादा मजदूरों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। रेकयू ऑपरेशन में मजदूरों के शरीर के अलग अलग हिस्से मिल रहे है। जहां ब्लास्ट हुआ वहां करीब 15-20 फीट का गड्ढा बन गया है।

बेरला ब्लॉक के ग्राम बोरसी में स्थित स्पेशल ब्लास्ट लिमिटेड बारूद की फैक्ट्री है। फैक्ट्री में सुबह 8 बजे ब्लास्ट हुआ। इस धमाके में पहले 9 लोग मारे गए वहीं 7 मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए।घायलों में से एक की मौत हो गई वहीं 6 मजदूर खतरे से बाहर है। धमाके के कम्पन्न से फैक्ट्री की 4 मंजिला इमारत गिर गई।

जिसके मलबे में करीब 10 से ज्यादा लोग दब गए। आसपास आग बुझाने की कोई सुविधा न होने के कारण 4 घंटे बाद आग पर काबू पाया गया। फायर ब्रिगेड के आग बुझाने के बाद रेस्क्यू ऑपरेशन कर मलबे को हटाया गया। देर शाम अंधेरा होने के कारण रेस्क्यू ऑपरेशन बंद करना पड़ा।  सुबह होते ही फिर से रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो गया। इस दौरान कई मजदूरों के मलबे में शरीर के टुकड़े बिखरे पड़े मिले।

हादसा इतना भयंकर था कि, फैक्ट्री में एक चार मंजिला इमारत धड़धड़ा कर गिर गई। सूत्रों के मुताबिक़, इमारत के मलबे के नीचे लोग दबे हुए है।  बताया जा रहा है कि बिल्डिंग में 8 से 10 लोग मौजूद थे। फैक्ट्री में करीब 500 से 600 लोग काम करने आते है। बारूद फैक्ट्री में आग लगने की आशंका ज्यादा होती है। लेकिन, फिर भी आसपास आग बुझाने की या फायर ब्रिगेड की कोई सुविधा नहीं है। ब्लास्ट से 4 मंजिला इमारत के गिरने से इलाके में हड़कंप मच गया है।

बारूद फैक्ट्री में 4 एक्सप्लोसिव लिक्विड भरे टैंक थे। इसमें से एक टैंक ब्लास्ट हो गया। नष्ट हुई टंकी से कई घंटे तक ब्लास्ट हो रहा था जिसे ठंडा करने की कोशिश की जा रही थी। जिस वक्त आग लगी उस वक्त धमाके के पास करीब 9 -10 मजदुर मौजूद थे। धमाका होने से मजदूरों के चीथड़े उड़ गए।
वहीं दूसरी और चाकर मंजिला इमारत के गिरने से 10 से ज्यादा मजदूरों की मौत हो गई। बता दें कि मलबे में दबे मजदूरों की अब तक लाश नहीं मिली है। रेस्क्यू ऑपरेशन में कई मजदूरों के शवों के अलग-अलग हिस्सों में टुकड़े मिल रहे है। इस हाल में शवों के मिलने से इलाके के लोगों में भय का माहौल बना हुआ है।शवों के टुकड़ों में मिलने से परिजनों में सनसनी फैल गई है।

मामले में छत्तीसगढ़ सरकार ने तुरंत कार्रवाई की। विस्फोट दंडाधिकारी के जांच के आदेश दिए। वहीं मृतकों के परिजन को 5-5 लाख मुआवजा देने का एलान किया। वहीं घायलों को पचास हजार रुपए से आर्थिक सहायता देने का एलान किया है। 

Latest articles

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...

जोधपुर में साम्प्रदायिक हिंसा ,हिरासत में लिए गए 40 लोग 

न्यूज़ डेस्क राजस्थान का जोधपुर अचानक हिंसाग्रस्त हो गया। दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पे...

More like this

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...