Homeदेशबिहार के सुपौल में निर्माणाधीन पुल का बड़ा हिस्सा टुटा एक की...

बिहार के सुपौल में निर्माणाधीन पुल का बड़ा हिस्सा टुटा एक की मौत

Published on

 न्यूज़ डेस्क 
बिहार के सुपौल जिले में कोसी नदी पर बन रहा बकौर पुल का एक बड़ा हिस्सा शुक्रवार को टूट कर नीचे गिर गया। इस घटना में एक मजदूर की मौत हो गई जबकि नौ लोग घायल हो गए सुपौल के जिलाधिकारी कौशल कुमार ने बताया कि सुबह जानकारी मिली कि निर्माणाधीन बकौर पुल का एक हिस्सा नीचे गिर गया है।  

अब तक मिली सूचना के मुताबिक इस घटना में नौ लोग घायल हुए हैं, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है। घायलों में एक व्यक्ति की मौत हो गई।उन्होंने बताया कि मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपए मुआवजा दिया जाएगा।उन्होंने कहा कि राहत कार्य अभी भी जारी है।         

बताया जाता है कि शुक्रवार को सुबह तीन पिलर 50, 51 और 52 का गार्टर नीचे गिर गया। इस घटना में कई मजदूर घायल हो गए, जिन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है।

घटना की सूचना के बाद ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई और राहत बचाव कार्य शुरू कर दिया। एनडीआरएफ, एसडीआरएफ की टीम को भी बुलाया गया है।

खबरों के मुताबिक, स्थानीय लोग पहले से ही पुल निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठा रहे थे। बकौर पुल देश का सबसे लंबा निर्माणाधीन सड़क पुल है।              

बिहार के मधुबनी जिले के भेजा से सुपौल जिले के बकौर के बीच कोसी नदी के ऊपर देश के सबसे लंबे 10.2 किमी सड़क पुल के साथ 3.01 किमी का पहुंच पथ का कार्य दिसम्बर 2024 तक पूरा कर लेने का लक्ष्य रखा गया है।इस पुल के निर्माण के बाद सुपौल से मधुबनी की दूरी कम से कम 30 किलोमीटर कम हो जाएगी।

अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक, इस परियोजना की कुल लागत 1199.58 करोड़ रुपये है। इस पुल का निर्माण भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत किया जा रहा है।

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...