HomeदेशKedarnath Dham : भक्तों के लिए कल खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट,...

Kedarnath Dham : भक्तों के लिए कल खुलेंगे केदारनाथ धाम के कपाट, 20 कुंतल फूलो से सजाया गया मंदिर

Published on

न्यूज डेस्क
सनातन आस्था से जुड़े द्वादश ज्योतिर्लिंग में से एक बाबा केदारनाथ का धाम उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है। बाबा केदारनाथ के जिस पावन धाम के दर्शन और पूजन की कामना हर किसी शिव भक्त की होती है,उनके कपाट तकरीबन छह महीने बाद कल यानी 10 मई को खुलने जा रहे हैं। भगवान शिव के ग्यारहवें ज्येातिर्लिंग माने जाने वाले इस मंदिर में महादेव के पृष्ठ की पूजा होती है।इस अवसर पर मंदिर को बीस कुंतल फूलों से सजाया गया है। देर शाम तक केदारनाथ में छह हजार से अधिक श्रद्धालु पहुंच चुके हैं जबकि अभी भी पैदल रास्ते पर श्रद्धालुओं का आवागमन जारी है।

केदारनाथ धाम के कपाट खोलने से पहले केदारनाथ की पंचमुखी भोग मूर्ति की पूजा की जाती है जो कि 5 मई को हो चुकी है। यह पूजा ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में की जाती है। मूर्ति की पूजा के बाद इसे आज यानी 9 मई की शाम को केदारनाथ धाम पहुंचाया गया और इसके बाद 10 मई को विधि-विधान के साथ केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे।

हालांकि केदारनाथ धाम के कपाट खोलने की जो प्रक्रिया है उसका आरंभ 6 मई से ही हो चुका है, लेकिन कपाट अक्षय तृतीया के दिन ही खुलेंगे। 10 मई यानि शुक्रवार के दिन अक्षय तृतीया है और इसी दिन केदानाथ के कपाट खोले जाते हैं। जबकि कपाट खोलने की तारीख की घोषणा हर साल महाशिवरात्रि के दिन की जाती है।

क्या है पौराणिक मान्यता?

पौराणिक मान्यता के अनुसार जब पांडव गोत्र हत्या के पाप से मुक्ति पाने के लिए भगवान शिव के दर्शन और पूजन के लिए हिमालय पहुंचे तो भोलेनाथ उन्हें दर्शन नहीं देना चाहते थे। मान्यता है कि भोलेनाथ बैल का वेश धारण करके जब धरती पर समाने लगे तभी भीम ने उनकी पूंछ पकड़ ली और उनका पृष्ठ भाग इसी मंदिर में स्थापित हो गया। उत्तराखंड के चार प्रमुख धाम में से एक बाबा केदारनाथ के इस मंदिर की स्थापना पांडवों ने की थी। मान्यता है कि पांडवों द्वारा बनवाया गया मंदिर तकरीबन 400 साल तक बर्फ में दबा रहा, जिसका जीर्णोद्धार आदि शंकराचार्य ने करवाया था।

अब तक सात लाख से अधिक श्रद्धालु कर चुके हैं पंजीकरण

बता दें कि यात्रा के लिए 6 मई तक 7,24,154 श्रद्धालु पंजीकरण करवा चुके हैं। इसे देखते हुए श्रीबदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति ने धाम में ज्यादा से ज्यादा श्रद्धालुओं को दर्शन कराने की योजना बनाई है। वहीं मंदिर समिति अधिकारियों कर्मचारियों की बैठक में यात्रा व्यवस्था मंदिर दर्शन व्यवस्था के लिए निर्देश दिए वहीं शुक्रवार को ही श्री गंगोत्री धाम, श्री यमुनोत्री के कपाट खुल रहे हैं। 12 को श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट खोले जाएंगे।

Latest articles

30 मई से 1 जून की शाम तक कन्याकुमारी के स्मारक रॉक मेमोरियल में ध्यान करेंगे पीएम मोदी  !

न्यूज़ डेस्क चुनावी हलचल और चुनावी दौरों से थक गए पीएम मोदी अब ध्यान लगाने...

दुमका में दहाड़े मोदी ,जेएमएम,कांग्रेस को मुस्लिम तुष्टिकरण,लव जेहाद और लूट के लिए लताड़ा

लोकसभा चुनाव 2024 के अंतिम चरण में झारखंड में संथाल परगना के तीन लोक...

राहुल का ऐलान ,आरक्षण को 50 फीसदी से आगे बढ़ाएगी इंडिया गठबंधन सरकार !

न्यूज़ डेस्क राहुल गाँधी ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार...

Umar Khalid Case: JNU के पूर्व छात्र उमर खालिद को झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

न्यूज डेस्क दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली में साल 2020 में हुए दंगों...

More like this

30 मई से 1 जून की शाम तक कन्याकुमारी के स्मारक रॉक मेमोरियल में ध्यान करेंगे पीएम मोदी  !

न्यूज़ डेस्क चुनावी हलचल और चुनावी दौरों से थक गए पीएम मोदी अब ध्यान लगाने...

दुमका में दहाड़े मोदी ,जेएमएम,कांग्रेस को मुस्लिम तुष्टिकरण,लव जेहाद और लूट के लिए लताड़ा

लोकसभा चुनाव 2024 के अंतिम चरण में झारखंड में संथाल परगना के तीन लोक...

राहुल का ऐलान ,आरक्षण को 50 फीसदी से आगे बढ़ाएगी इंडिया गठबंधन सरकार !

न्यूज़ डेस्क राहुल गाँधी ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार...