Homeलाइफस्टाइलआखिर दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन ने क्यों कहा कि लालकिला और ताजमहल को...

आखिर दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन ने क्यों कहा कि लालकिला और ताजमहल को जमींदोज कर देना चाहिए !

Published on

न्यूज डेस्क
दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने अपनी वेब सीरीज “ताज :डिवाइडेड बाय ब्लड” की रिलीज से पहले इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए कहा है कि मौजूदा वक्त में देश में स्वस्थ बहस के लिए कोई जगह नहीं है। उन्होंने कहा कि इतिहास के बारे में लोगो को सही जानकारी और तर्क नहीं होते,वहां नफरत और गलत जानकारी का साम्राज्य होता है।उन्होंने कहा देश का एक वर्ग बीते हुए कल पर और खासकर मुगलों के साम्राज्य पर दोष मढ़ता है। इससे मुझे गुस्सा नही आता,हंसी आती है। नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि अगर इस देश के साथ मुगलों ने सबकुछ बुरा ही किया है तो लाल किला और ताज महल जैसे स्‍मारकों को जमींदोज कर देना चाहिए।

नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि आज जब मुगल काल पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। मुझे आश्‍चर्य होता है और यह बहुत ही हास्यास्पद है। मेरा मतलब है कि यह वह लोग हैं जो अकबर और नादिर शाह या बाबर के परदादा तैमूर जैसे जानलेवा आक्रमणकारी के बीच में अंतर नहीं बता पाते हैं। फिर भी यह ऐसी बातें और दावे कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह वह लोग थे जो यहां लूटने आए थे। मुगल यहां लूटने नहीं आए थे। वे इसे अपना घर बनाने के लिए आए थे और उन्होंने यही किया। उनके योगदान को कौन नकार सकता है?

दिग्गज अभिनेता ने कहा कि जो लोग यह कहते हैं कि मुगलों की सभी चीजें बुरी थीं, विनाशकारी थीं, यह उनकी देश के इतिहास की समझ की कमी को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि इतिहास की किताबें मुगलों का महिमामंडन अध‍िक कर रही हों और उनके प्रति बहुत दयालु हो, लेकिन उनके समय को विनाशकारी बताकर आप उसे खारिज नहीं कर सकते। यह हमारा दुर्भाग्‍य है कि स्‍कूलों में पढ़ाए जाने वाला इतिहास मुख्य रूप से मुगलों या अंग्रेजों पर आधारित है।

नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि हम लॉर्ड हार्डी, लॉर्ड कार्नवालिस और मुगल सम्राटों के बारे में जानते थे, लेकिन हम गुप्त वंश, या मौर्य वंश, या विजयनगर साम्राज्य, अजंता की गुफाओं के इतिहास, या पूर्वोत्तर के बारे में नहीं जानते थे। हमने इनमें से कोई भी चीज नहीं पढ़ी, क्योंकि इतिहास अंग्रेजों या एंग्लोफाइल्स द्वारा लिखा गया था और मुझे लगता है कि यह वाकई में गलत है।

उन्होंने जोर देते हुए कहा कि अगर मुगल साम्राज्य इतना ही राक्षसी था, विनाशकारी था, तो उसका विरोध करने वाले उनके बनाए स्मारकों को क्यों नहीं गिरा देते। अगर उन्होंने जो कुछ भी किया वह भयानक था, तो ताजमहल को गिरा दो, लाल किले को गिरा दो, कुतुब मीनार को गिरा दो। दिग्गज अभिनेता ने कहा कि आखिर हम लाल किले को हम पवित्र क्यों मानते हैं, इसे एक मुगल ने बनवाया था।

नसीरुद्दीन शाह से पूछा गया कि क्‍या मौजूदा समय में इन तमाम मुद्दों पर बैठकर तर्क से और बौद्धिक बातचीत के लिए जगह है? इस पर नसीरुद्दीन शाह ने कहा कि नहीं, बिल्कुल नहीं। क्योंकि आज चर्चा और विमर्श अब तक के सबसे निचले स्तर पर है। टीपू सुल्तान बदनाम है। एक ऐसा शख्स जिसने अंग्रेजों को भगाने के लिए अपनी जान दे दी। आपसे पूछा जाता है कि आपको टीपू सुल्तान चाहिए या राम मंदिर? यह कैसा तर्क है?

Latest articles

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...

बिहार के गोपालगंज में मतदान का बहिष्कार सुनकर हरकत में आया निर्वाचन विभाग !

न्यूज़ डेस्कबिहार के गोपालगंज के लोग अब मतदान का बहिष्कार करने की तैयारी में...

More like this

ईवीएम वीवीपीएटी वोट वेरिफिकेशन मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर फैसला रखा सुरक्षित

कुछ प्रश्नों पर चुनाव आयोग के अधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने के बाद, सुप्रीम कोर्ट...

हेमंत सोरेन ने अपनी गिरफ्तारी और ईडी की कार्रवाई के खिलाफ शीर्ष अदालत में दाखिल की एसएलपी

न्यूज़ डेस्क अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने सुप्रीम...

पीएम मोदी का वज्र प्रहार,कांग्रेस का पंजा आपसे आरक्षण और मेहनत की कमाई छीन लेगा

देश में प्रथम चरण के मतदान के बाद इंडिया गंठबंधन के नेताओं खासकर कांग्रेस...