Homeदेशक्या मोदी के हनुमान चिराग पासवान बदलेंगे पाला ?

क्या मोदी के हनुमान चिराग पासवान बदलेंगे पाला ?

Published on

न्यूज़ डेस्क
बिहार एनडीए में सीट बंटवारा का मामला फंसता जा रहा है। बीजेपी ने महाराष्ट्र ,यूपी के साथ ही दक्षिण के राज्यों में सीट शेयरिंग का मामला भले ही सुलझा लिया है लेकिन बिहार में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ती जा रही है।सूत्रों के मुताबिक लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास)  के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान और उनके चाचा पशुपति पारस के बीच की तकरार के कारण एनडीए में सीट बंटवारे में लगातार देरी हो रही है, जिसे लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं।       

बता दें कि भाजपा नेतृत्व वाली एनडीए चिराग पासवान और पशुपति पारस को मिलाकर छह सीट देने की बात कर रही है, लेकिन दोनों ने इस ऑफर को मानने से इनकार कर दिया। चिराग पासवान और पशुपति के बीच चल रही अदावत जगजाहिर है। रामविलास पासवान के निधन के बाद दोनों के बीच का रिश्ता काफी ख़राब हो चुका है।

चिराग ने एनडीए से मांग है कि 2019 में लोक जनशक्ति पार्टी के 6 सांसद जीते थे तो उसी हिसाब से आगामी लोकसभा चुनाव में भी उनकी पार्टी की दावेदारी 6 सीटों पर है। वहीं दूसरी तरफ उनके चाचा पशुपति का दावा है कि वर्तमान में लोग जनशक्ति पार्टी के छह में से पांच सांसद अब उनके साथ है और उनकी पार्टी राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी का हिस्सा है तो ऐसे में उनकी दावेदारी भी 6 सीटों पर बनती है।

28 जनवरी को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के वापस एनडीए में आ जाने के बाद सीट बंटवारे का मामला चिराग पासवान के लिए ज्यादा गड़बड़ा गया है। खबर है कि चिराग पासवान पासवान एनडीए से नाराज हैं और इसकी झलक तब दिखी थी जब पीएम मोदी के बिहार दौरे के दौरान उन्होंने कार्यक्रम से दूरी बनाई।

अब चिराग के नाराजगी का फायदा महागठबंधन उठाने की कोशिश कर रही और उन पर डोरे डाल रही है। बिहार की विपक्षी पार्टियां इस ताक में है कि कैसे भी कर के चिराग बिहार महागठबंधन का हिस्सा बन जाए।

सूत्रों के मुताबिक खुद को पीएम मोदी के हनुमान कहने वाले चिराग पासवान को बिहार महागठबंधन में शामिल होने के लिए आठ लोकसभा सीट देने का और उत्तर प्रदेश में दो लोकसभा सीट देने का प्रस्ताव किया गया है। हालांकि, चिराग की तरफ से महागठबंधन के इस ऑफर पर क्या रुख है, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है।ऐसे में अगर एनडीए में उन्हें मन मुताबिक सीट नहीं मिलती है तो महागठबंधन ने उनके लिए दरवाजा खोल दिया है। 

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...