Homeदेशराजस्थान में राहुल गांधी क्यों बना रहे प्रचार से दूरी

राजस्थान में राहुल गांधी क्यों बना रहे प्रचार से दूरी

Published on

बीरेंद्र कुमार झा

राजस्थान में 25 नवंबर को मतदान होना है।ऐसे में बीजेपी समेत सभी राजनीतिक दल वहां आक्रामक तरीके से प्रचार कार्य में जुट गई है। कांग्रेस और बीजेपी में कांटे का मुकाबला है। ऐसे में बीजेपी के पक्ष में हवा बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक वहां प्रचार कर रहे हैं,जबकि कांग्रेस की तरफ से राहुल गांधी अभी तक प्रचार के लिए राजस्थान नही पहुंचे हैं।अब तो इसे इसे लेकर अटकलें भी लगाए जाने लगी है। कहा तो यहां तक जा रहा है की हार की डर से राहुल गांधी राजस्थान में प्रचार पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं।वे पूर्व में भी यहां बीजेपी और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर को स्वीकार कर चुके हैं, हालांकि कांग्रेस की तरफ से प्रियंका गांधी यहां दो बार रैली कर चुकी है और कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिका अर्जुन खड़गे भी यहां दो जनसभा कर चुके हैं।सिर्फ राहुल गांधी की ही यहां अबतक एक भी जनसभा नहीं हुई है। कांग्रेसी नेताओं का मानना है कि दिवाली के बाद राहुल गांधी मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रियंका गांधी यहां रैलियां करेंगे।

राहुल गांधी अभी तक नहीं आए प्रचार करने

चुनाव के ऐलान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे राजस्थान में दो बार रैलियां कर चुके हैं ।उन्होंने पहली रैली बारा में 16 अक्टूबर को, और दूसरी रैली जोधपुर में 6 नवंबर को की थी। इसी दिन राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपना नामांकन भी भरा था। प्रियंका गांधी भी राज्य में दो बार रैलियां कर चुकी हैं। उन्होंने 20 अक्टूबर को दौसा सिकराय में और टोंक जिले में रैलियां की थी।राहुल गांधी आखिरी बार राजस्थान में चुनाव के ऐलान से पहले दिखाई दिए थे ।राहुल गांधी ने 23 सितंबर को जयपुर में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया था। इससे पहले वह 9 अगस्त को बांसवाड़ा जिला के मानगढ़ धाम में एक रैली में शिरकत करने आए थे।

कांग्रेस के स्टार प्रचारक हैं राहुल गांधी

गौरतलब है कि 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले पांच राज्यों के चुनाव को सेमीफाइनल के तौर पर देखा जा रहा है।मिजोरम में जहां वोटिंग हो चुकी है,तो वहीं छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण का मतदान बाकी है।इसके अलावा मध्य प्रदेश, राजस्थान और तेलंगाना में भी अभी वोट डाले जाने हैं। चुनाव का एलान हुए काफी समय हो चुका है। लेकिन तब से अब तक कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी राजस्थान से दूर हैं।राजस्थान में 25 दिसंबर को वोटिंग होनी है।यानी मतदाताओं को रिझाने के लिए अब सभी दलों के पास एक पखवाड़े का समय है।राजस्थान के लिए कांग्रेस पार्टी के स्टार कैटेंप्ट्स की लिस्ट में राहुल गांधी का नाम तीसरे नंबर पर है। इस लिस्ट में पहले नंबर पर मल्लिकार्जुन खड़गे और सोनिया गांधी हैं ।राहुल गांधी की राजस्थान से अब तक बनाई जा रही दूरी कांग्रेस पार्टी में ही फुसफुसाहट का विषय बन चुका है।लेकिन पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का कहना है कि मल्लिकार्जुन खड़गे प्रियंका गांधी और राहुल गांधी दीपावली के बाद राज्य में कई करने के लिए आ रहे हैं।

अक्टूबर में चुनाव की तारीखों का हुआ था ऐलान

राजस्थान समेत पांच राज्यों में 9 अक्टूबर को चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया गया था ।इसके बावजूद राहुल गांधी प्रचार के लिए नहीं आए हैं, जबकि मिजोरम में राहुल गांधी 3 दिन लगातार प्रचार कर चुके हैं। तेलंगाना में राहुल गांधी की रैलियां और रोड शो हो चुके हैं, जबकि तेलंगाना में 30 नवंबर को मतदान होना है। प्रियंका गांधी राजस्थान के टॉक और दौसा जिला के सिकराय में दो रैलियां कर चुकी हैं, लेकिन राहुल गांधी की एक भी रैली राजस्थान में नहीं हुई है।अनुमान लगाया जा रहा है की राजस्थान में हर 5 साल बाद सत्ता परिवर्तन होता है ऐसे में राहुल गांधी का फोकस मध्य प्रदेश तेलंगाना और मिजोरम में ज्यादा है। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस बेहतर स्थिति में बताई जा रही है ।तेलंगाना में भी कड़ा मुकाबला है।वहां कांग्रेस की सरकार बन भी सकती है।इसलिए राहुल गांधी राजस्थान की तरफ ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं।मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की योजनाओं की राहुल गांधी पहले तारीफ कर चुके हैं,लेकिन चुनाव प्रचार से दूरी बनाए हुए हैं

 

Latest articles

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...

केजरीवाल की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला !

न्यूज़ डेस्क दिल्ली में कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय...

More like this

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...