Homeदेशकर्नाटक चुनाव : आज सुबह सात बजे से मतदान ,दाव पर लगी...

कर्नाटक चुनाव : आज सुबह सात बजे से मतदान ,दाव पर लगी है कइयों की प्रतिष्ठा 

Published on


न्यूज़ डेस्क 

कर्नाटक की 224 सदस्यीय विधान सभा के लिए आज  सुबह सात बहे से मतदान शुरू होने जा रहा है। यह मतदान शाम छह बजे तक चलेगा। वोटों की गिनती 13 तारीख को होगी। इस चुनाव में कई बड़े नेताओ की प्रतिष्ठा दाव पर लगी हुई है। साथ ही कांग्रेस और बीजेपी की की प्रतिष्ठा भी दाव पर है। जिन नेताओं की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है उनमे शामिल हैं  मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई (शिगाँव), विपक्ष के नेता सिद्धारमैया (वरुण), जद (एस) नेता एच डी कुमारस्वामी (चन्नापटना), राज्य कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार (कनकपुरा) जैसे शीर्ष नेता मैदान में खड़े हैं।         
 राज्य भर के 58,545 मतदान केंद्रों पर कुल 5,31,33,054 मतदाता वोट डालने के पात्र हैं, जहां 2,615 उम्मीदवार मैदान में हैं। मतदाताओं में 2,67,28,053 पुरुष, 2,64,00,074 महिलाएं और 4,927 “अन्य” हैं, जबकि उम्मीदवारों में 2,430 पुरुष, 184 महिलाएं और एक तीसरे लिंग से हैं। कम से कम 11,71,558 युवा मतदाता हैं, जबकि 5,71,281 विकलांग व्यक्ति (पीडब्ल्यूडी) हैं और 12,15,920 80 वर्ष से अधिक आयु के हैं। लगभग 4 लाख मतदान कर्मी मतदान प्रक्रिया में लगे हुए हैं।
         सत्तारूढ़ भाजपा, मोदी के रथ पर सवार होकर, 38 साल के झंझट को तोड़ना चाहती है – राज्य ने 1985 के बाद से सत्ता में आने वाली पार्टी को कभी भी वोट नहीं दिया है – और अपने दक्षिणी गढ़ को बरकरार रखना चाहता है, कांग्रेस 2024 के लोकसभा चुनावों में खुद को मुख्य विपक्षी खिलाड़ी के रूप में स्थापित करने के लिए पार्टी को गति देने के लिए सत्ता हासिल करने की कोशिश कर रही है।
             साथ ही इस बात पर भी नजर रखने की जरूरत है कि क्या पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा के नेतृत्व वाली जनता दल (सेक्युलर), सरकार गठन की चाबी पकड़कर “किंगमेकर” या “किंग” के रूप में उभरेगी, त्रिशंकु फैसले की स्थिति में, जैसा कि अतीत में किया गया है।
              जानकारी के मुताबिक़ मतदान के दौरान कुल 75,603 बैलेट यूनिट (बीयू), 70,300 कंट्रोल यूनिट (सीयू) और 76,202 वोटर वेरिफिएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) का इस्तेमाल किया जाएगा। चुनाव अधिकारियों के अनुसार, चुनाव के सुचारू संचालन के लिए राज्य भर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं और पड़ोसी राज्यों से भी बल तैनात किए गए हैं।
         राज्य भर में मतदान के दिन 650  कंपनियों में 84,119 राज्य पुलिस अधिकारी और 58,500  केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल पुलिस कानून और व्यवस्था और सुरक्षा ड्यूटी पर हैं। ‘क्रिटिकल पोलिंग स्टेशन’ माइक्रो ऑब्जर्वर, वेबकास्टिंग और सीसीटीवी जैसे एक या अधिक उपायों से कवर होते हैं ताकि मतदान प्रक्रिया पर बल गुणक के रूप में नजर रखी जा सके। कर्नाटक ने 2018 के विधानसभा चुनावों में 72.36 प्रतिशत मतदान दर्ज किया था।

Latest articles

अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म ,57 सीटों पर होगा मुकाबला !

न्यूज़ डेस्क सात राज्यों की कुल 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इन...

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दो मामले में हुए बरी 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान तहरीके-इन्साफयानि पीटीआई  के संस्थापक इमरान खान को जिला व सत्र न्यायालय ने...

जयराम रमेश ने कहा -इंडिया’ गठबंधन 48 घंटे के भीतर करेगा प्रधानमंत्री का चयन!

न्यूज़ डेस्क कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने  कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन...

पंजाब के मतदाताओं के नाम आखिर मनमोहन सिंह ने क्यों लिखा पत्र ?

न्यूज़ डेस्क पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने पंजाब के मतदाताओं के नाम एक...

More like this

अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म ,57 सीटों पर होगा मुकाबला !

न्यूज़ डेस्क सात राज्यों की कुल 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इन...

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दो मामले में हुए बरी 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान तहरीके-इन्साफयानि पीटीआई  के संस्थापक इमरान खान को जिला व सत्र न्यायालय ने...

जयराम रमेश ने कहा -इंडिया’ गठबंधन 48 घंटे के भीतर करेगा प्रधानमंत्री का चयन!

न्यूज़ डेस्क कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने  कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन...