Homeदेशबैंकों में जमा 78,213 करोड़ रुपयों का कोई दावेदार नहीं,आखिर किसके हैं...

बैंकों में जमा 78,213 करोड़ रुपयों का कोई दावेदार नहीं,आखिर किसके हैं ये रुपये ?

Published on

न्यूज़ डेस्क 
आरबीआई की सालाना रिपोर्ट गुरूवार को सामने आई है। इस रिपोर्ट में एक चौंकाने वाली बात सामने आई है। रिपोर्ट  के मुताबिक़ बैंकों में बिना दावे वाली जमा राशि एक साल में 26 फीसदी बढक़र 31 मार्च के अंत तक 78,213 करोड़ रुपए हो गई। यह पिछले साल के मुकाबले 15,988 करोड़ रुपए ज्यादा है।रिपोर्ट में बताया गया कि पिछले साल मार्च के अंत में यह राशि 62,225 करोड़ रुपए थी।

जब 10 या उससे ज्यादा साल तक किसी खाते में जमा राशि पर लेन-देन नहीं किया जाता तो सहकारी समेत सभी बैंक खाते को निष्क्रिय मान लेते हैं। इन खातों में पड़ी राशि को बैंक शिक्षा एवं जागरूकता कोष में स्थानांतरित करते हैं।

आरबीआइ ने निष्क्रिय खातों पर अनुदेशों को युक्तिसंगत बनाने के मकसद से इस साल की शुरुआत में बैंकों को व्यापक दिशा-निर्देश जारी किए थे। संशोधित निर्देश सभी वाणिज्यिक बैंकों और सहकारी बैंकों में एक अप्रेल 2024 से लागू हुए।

अगर आपका कोई पुराना बैंक खाता है, जिसका उपयोग नहीं कर रहे हैं तो जरूरी है कि उसमें जमा राशि पर नजर रखें। ऐसा नहीं करने पर आपकी राशि डीईए कोष में स्थानांतरित हो सकती है। अपने सभी बैंक खातों की नियमित जांच करें। जिस खाते का उपयोग नहीं कर रहे हैं, उसे बंद कर दें।

बिना दावे वाली जमा राशि बढऩे का एक कारण यह है कि कई खाते ऐसे लोगों के हैं, जिनका निधन हो चुका है। ऐसे ज्यादातर खातों में नॉमिनी नहीं बनाए जाने के कारण दिवंगत खाताधारकों के परिजनों को दावे के दौरान खासी दिक्कतों से गुजरना पड़ता है।

बगैर नॉमिनी वाले खातों की राशि पर दावे के लिए बैंकों के नियम बेहद जटिल हैं। दावा फॉर्म भरने के बाद बार-बार बैंक की ओर से किसी न किसी बिंदु पर आपत्तियां उठाई जाती हैं। बैंक के कई चक्कर काटने के बाद भी मसला हल नहीं होने पर उत्तराधिकारी राशि पर दावा छोड़ देते हैं।

Latest articles

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...

जोधपुर में साम्प्रदायिक हिंसा ,हिरासत में लिए गए 40 लोग 

न्यूज़ डेस्क राजस्थान का जोधपुर अचानक हिंसाग्रस्त हो गया। दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पे...

More like this

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...