Homeदेशईडी द्वारा हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम...

ईडी द्वारा हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में कल होगी  सुनवाई 

Published on

न्यूज़ डेस्क 
ईडी द्वारा की गई गिरफ्तारी के खिलाफ हेमंत सोरेन द्वारा दायर याचिका पर कल सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की उस याचिका को स्वीकार कर लिया, जिसमें प्रवर्तन निदेशालय द्वारा बुधवार को उनकी गिरफ्तारी की चुनौती दी गई है।सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़ ने याचिका को मंजूर करते हुए कल यानी शुक्रवार  को इस पर सुनवाई लिए लिस्ट किया है। हेमंत सोरेन की तरफ से पेश हुए वकील कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि इस बाबत सोरेन द्वारा झारखंड हाईकोर्ट में दाखिल अर्जी को वापस ले लिया जाएगा।

दोनों वकीलों ने हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी का विरोध करते हुए सुप्रीम कोर्ट को बताया कि पिछले साल अक्टूबर में सुप्रीम कोर्ट ने ही आदेश दिया था कि ईडी को गिरफ्तारी से पहले लिखित रूप से गिरफ्तारी का आधार बताना होगा और कोर्ट को भी आश्वस्त करना होगा कि गिरफ्तारी करना जरूरी है। कपिल सिब्बल ने कहा कि, “इस कोर्ट ने पीएमएलए की धारा 19 के प्रावधानों के सामने रखा था…ऐसे में किसी भी व्यक्ति को इस तरह कैसे गिरफ्तार किया जा सकता है…यह देश की राजनीति को प्रभावित करने वाला मुद्दा है….।”

इस बीच हेमंत सोरेन का एक वीडियो सामने आया है जो उन्होंने बुधवार को अपनी गिरफ्तारी से पहले रिकॉर्ड किया था। इस वीडियो में सोरेन उस 8 एकड़ जमीन के कथित घोटाले में कोई भी हाथ होने से इनकार किया है। उन्होंने कहा है कि यह उनकी सरकार के खिलाफ साजिश है। उन्होंने आरोप लगाया है कि ईडी अधिकारियों ने उन्हें दिन भर पूछताछ के नाम पर उलझाए रखा ताकि वे कोर्ट की शरण में न जा सकें। उन्होंने कहा है कि उनकी गिरफ्तारी लगता है अब कर ली जाएगी , लेकिन वे एक फाइटर हैं और लड़ाई लड़ने के लिए फिर से सामने आएंगे।

हेमंत सोरेन के अधिकारिक एक्स हैंडल से एक फोटो भी शेयर किया गया है जिसमें वे लोगों को हाथ हिला रहे हैं। इसके साथ उन्होंने लिखा है, “यह एक विराम है,जीवन महासंग्राम है,हर पल लड़ा हूं, हर पल लड़ूंगा ,पर समझौते की भीख मैं लूंगा नहीं ,क्या हार में, क्या जीत में ,किंचित नहीं भयभीत मैं,लघुता न अब मेरी छुओ,तुम हो महान, बने रहो,अपने लोगों के हृदय की वेदना,मैं व्यर्थ त्यागूंगा नहीं,हार मानूंगा नहीं…जय झारखण्ड!”

हेमंत सोरेन ने एक पत्र भी जारी किया जो उन्होंने विधायकों के नाम लिखा है। इसमें विधायकों को याद दिलाया गया है कि उन्होंने गिरफ्तारी से पहले उत्तराधिकारी को तय करने का अधिकार दिया था। इसके बाद ही उन्होंने पार्टी के और परिवार के नजदीकी चम्पई सोरेन को उत्तराधिकारी नियुक्त किया है।

बता दें कि झारखंड की कुल 81 विधायकों वाली विधानसभा में सत्तारुढ़ गठबंधन के 48 विधायक हैं। इनमें झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के 30 और कांग्रेस के 17 विधायक शामिल हैं। पिछले चुनाव में बीजेपी ने झारखंड में 25 सीटें जीती थीं और जेवीएम के तीन, आजसू के दो और बीजेपी के बागी निर्दलीय सरयू राय के समर्थन के साथ उसके पास कुल 33 विधायक हैं। झारखंड में सरकार बनाने के लिए कम से कम 41 विधायकों की जरूरत होती है।

इस बीच ऐसी खबरें भी आई हैं कि राज्यपाल को सौंपी गई सूची में जेएमएम के 4 विधायकों के नाम नहीं हैं। इनमें सोरेन की भाभी सीता सोरेन का नाम भी है।

 इधर सत्तारूढ़ गठबंधन ने राज्यपाल पर आरोप लगाया है कि समर्थन का पत्र दिए जाने और सरकार बनाने का दावा किए जाने के बावजूद राज्यपाल ने अभी तक चम्पाई सोरेन को शपथ नहीं दिलाई है, और जानबूझकर राज्य में संवैधानिक संकट की स्थिति पैदा कर दी है।

इस बीच हेमंत सोरेन की गिरफ्तारी के खिलाफ बनाए गए राज्य बंद से जेएमएम ने खुद को अलग कर लिया है। पर्यवेक्षकों का कहना है कि वे राज्यपाल को किसी किस्म का बहाना बनाने का मौका नहीं देना चाहते।

ध्यान रहे कि पिछले साल बीजेपी ने झारखंड में ऑपरेशन लोटस की कोशिश की थी और कांग्रेस के कुछ विधायकों को तोड़ने के प्रयास किए थे। झारखंड पुलिस के मुताबिक तीन विधायकों को पहले गुवाहाटी और बाद में कोलकाता ले जाया गया था। हालांकि इन तीनों को एनएच-16 पर एक एसयूवी में जाते हुए गिरफ्तार कर लिया गया था। उनके पास से 50 लाख रुपए नकद बरामद हुए थे। पूछताछ में इन तीनों विधायकों इरफान अंसारी, राजेश कच्छप और नमन बिक्सल ने पुलिस को बताया था कि यह पैसा साड़ियां खरीद कर बांटने के लिए था। हालांकि कोलकाता पुलिस ने दावा किया था कि यह उस रकम का एक छोटा सा हिस्सा था जो उन्हें तोड़ने के लिए दिया गया था। कांग्रेस ने इन तीनों विधायकों को सस्पेंड कर दिया था और बीजेपी पर आरोप लगाया गया था इन तीनों को 10-10 करोड़ रुपए की पेशकश की गई थी।

Latest articles

लोकसभा चुनाव : सीईसी ने कहा ईवीएम की पारदर्शिता हर कीमत पर बरकरार रखी जाएगी

न्यूज़ डेस्क  मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि निष्पक्ष लोकसभा चुनाव सुनिश्चित कराने...

पंजाब के खनौरी बॉर्डर पर गोलीबारी , दो किसान की मौत !

न्यूज़ डेस्क किसान आंदोलन स्थल से बड़ी खबर आ रही है।पंजाब के खनौरी बॉर्डर से गोलीबारी...

ICC Rankings: यशस्वी जायसवाल का ICC टेस्ट रैंकिंग में भी धमाल, 14 पायदान की लंबी छलांग के साथ अब इस नंबर पर

ICC Rankings:टीम इंडिया के उभरते युवा सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने इंग्लैंड के खिलाफ...

RRB Recruitment 2024: रेलवे में टेक्नीशियन के पदों बंपर भर्ती, इस दिन से शुरू होंगे आवेदन

RRB Recruitment 2024: रेलवे भर्ती का इंतजार कर रहे योग्य युवाओं को लिए खुशखबरी...

More like this

लोकसभा चुनाव : सीईसी ने कहा ईवीएम की पारदर्शिता हर कीमत पर बरकरार रखी जाएगी

न्यूज़ डेस्क  मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि निष्पक्ष लोकसभा चुनाव सुनिश्चित कराने...

पंजाब के खनौरी बॉर्डर पर गोलीबारी , दो किसान की मौत !

न्यूज़ डेस्क किसान आंदोलन स्थल से बड़ी खबर आ रही है।पंजाब के खनौरी बॉर्डर से गोलीबारी...

ICC Rankings: यशस्वी जायसवाल का ICC टेस्ट रैंकिंग में भी धमाल, 14 पायदान की लंबी छलांग के साथ अब इस नंबर पर

ICC Rankings:टीम इंडिया के उभरते युवा सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने इंग्लैंड के खिलाफ...