Homeदेशसंसद का पांच दिवसीय विशेष सत्र बुलाने से विपक्ष हैरान- परेशान

संसद का पांच दिवसीय विशेष सत्र बुलाने से विपक्ष हैरान- परेशान

Published on

बीरेंद्र कुमार झा

विपक्षी दलों के गठबंधन इंडिया की तीसरी बड़ी बैठक मुंबई में शुरू होने से पहले 18 सितंबर से 22 सितंबर तक संसद का पांच दिवसीय विशेष सत्र बुलाने की केन्द्र सरकार के आश्चर्यजनक फैसले ने विपक्षी नेताओं को हैरान कर दिया है।सरकार के इस कदम से वन नेशनल वन इलेक्शन की अटकलें लगनी शुरू हो गई हैl विपक्षी दलों के कुछ नेताओं को लग रहा है कि केंद्र की सत्ताधारी बीजेपी अगले साल अप्रैल- मई में होने वाले लोकसभा चुनाव को आगे बढ़ा सकती है और अपने पुराने एजेंडा वन नेशन – वन इलेक्शन का ऐलान सबको आश्चर्यचकित कर सकती है।

हार की डर से कुछ भी कर सकती है केंद्र सरकार

इस कड़ी में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि केंद्र सरकार का यह कदम थोड़ी घबराहट दर्शाता है। राहुल गांधी पहले से कहते रहे हैं कि सरकार डरी हुई है। ऐसे में वह हार की डर से कोई भी कदम उठा सकती है। दूसरी तरफ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश समेत कुछ अन्य कांग्रेसी नेताओं ने विपक्षी गठबंधन इंडिया की बैठक और अडानी समूह पर ताजा खुलासों से ध्यान हटाने के लिए इसे मोदी स्टाइल में समाचार चक्र का प्रबंध करार दिया है।

बढ़ा दी विपक्षी दलों की माथापच्ची

मोदी सरकार की रणनीति चाहे जो भी रही हो लेकिन विपक्षी गठबंधन की बैठक से ठीक पहले संसद के विशेष सत्र की घोषणा पर मुंबई में विपक्षी नेताओं ने माथापच्ची तेज कर दी है।इंडिया गठबंधन के अधिकांश नेताओं ने विपक्षी दलों की एकता और कुनबा बढ़ाने पर जोर दिया है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिन्होंने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि बीजेपी लोकसभा चुनाव पहले करवा सकती है, ने कहा है कि विपक्षी दलों को अपने प्रयास और तेज करने चाहिए।

सूत्रों ने कहा कि शिवसेना (यूबीटी) नेता उद्धव ठाकरे ने कहा कि मोदी सरकार का यह ऐलान आश्चर्य करने वाला है, क्योंकि संसद के विशेष सत्र के दौरान ही महाराष्ट्र में गणेश उत्सव होता है, उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार के पास कुछ ना कुछ प्लानिंग है। दूसरी तरफ आप के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि विपक्षी दलों को सीट बंटवारे पर बातचीत तेज करनी चाहिए और 30 सितंबर तक संयुक्त उम्मीदवार व्यवस्था की घोषणा करने का प्रयास करना चाहिए। इस बीच पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा गठबंधन में शामिल पार्टियों को उन प्रमुख बिंदुओं की पहचान करनी चाहिए जिन्हें संयुक्त घोषणा पत्र का हिस्सा बनाया जाना है और महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर पर इसकी घोषणा कर देनी चाहिए।

चुनावी समीकरण पक्ष में करने वाले विधेयक लाएगी केंद्र सरकार

संसद का विशेष सत्र बुलाने पर विपक्षी खेमे में समान नागरिक संहिता और संसद और विधानसभा में महिलाओं के लिए 33% आरक्षण देने का विवादास्पद विधेयक लाने की भी चर्चा हो रही है। एक अन्य नेता ने कहा कि सरकार वास्तव में समय से पहले चुनाव कराने पर विचार कर रही है,जबकि कई लोग कयास लगा रहे हैं कि सरकार कुछ उच्च प्रभाव वाले कानून लाने की योजना बना रही है। बहरहाल मोदी सरकार की नई घोषणा ने विपक्षी दलों के बीच तुरंत सीट बंटवारे से लेकर चुनावी मुद्दे और संयुक्त घोषणा पत्र की तत्कालिकता की भावना जगा दी है।

 

Latest articles

नीट पेपर लीक मामला : बिहार ,गुजरात के बाद अब इस मामले में महाराष्ट्र का कनेक्शन भी आया सामने 

न्यूज़ डेस्क नीट परीक्षा में पहली हुई धांधली की कहानी हालांकि कोई नयी नहीं है...

बिहार में सप्ताह भर के भीतर तीसरा पुल हुआ जमींदोज ,पूर्वी चम्पारण का निर्माणाधीन पुल हुआ ध्वस्त 

न्यूज़ डेस्क बिहार में लगातार पुलों का गिरना जारी है। सप्ताह भर के भीतर तीसरा...

अयोध्या के श्री राम मंदिर में सारे दर्शनार्थी होंगे एक समान,अब कोई दर्शनार्थी नहीं होगा वीआईपी 

न्यूज़ डेस्क अयोध्या के श्री राम मंदिर की व्यवस्था में तीन अहम बदलाव किये गए...

AFG vs AUS: अफगानिस्तान ने T20 वर्ल्डकप में किया बड़ा उलटफेर,ऑस्ट्रेलिया को सुपर 8 में दी करारी मात

न्यूज डेस्क टी20 वर्ल्डकप में अफगानिस्तान की टीम ने इतिहास रच दिया है। राशिद खान...

More like this

नीट पेपर लीक मामला : बिहार ,गुजरात के बाद अब इस मामले में महाराष्ट्र का कनेक्शन भी आया सामने 

न्यूज़ डेस्क नीट परीक्षा में पहली हुई धांधली की कहानी हालांकि कोई नयी नहीं है...

बिहार में सप्ताह भर के भीतर तीसरा पुल हुआ जमींदोज ,पूर्वी चम्पारण का निर्माणाधीन पुल हुआ ध्वस्त 

न्यूज़ डेस्क बिहार में लगातार पुलों का गिरना जारी है। सप्ताह भर के भीतर तीसरा...

अयोध्या के श्री राम मंदिर में सारे दर्शनार्थी होंगे एक समान,अब कोई दर्शनार्थी नहीं होगा वीआईपी 

न्यूज़ डेस्क अयोध्या के श्री राम मंदिर की व्यवस्था में तीन अहम बदलाव किये गए...