Homeदेशना ना करते हुए आखिर ईडी के हाथों गिरफ्तार हुए झारखंड सरकार...

ना ना करते हुए आखिर ईडी के हाथों गिरफ्तार हुए झारखंड सरकार के मंत्री आलमगीर आलम

Published on

ग्रामीण विभाग में टेंडर मैनेजमेंट और कमीशन खोरी के मामले में आखिर झारखंड सरकार के ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ईडी के द्वारा गिरफ्तार कर लिए गए। पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की ईडी के हाथ हुई गिरफ्तारी के बाद हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल और चंपई सोरेन मंत्रिमंडल के सदस्य रहे आलमगीर आलम झारखंड के दूसरे मंत्री हैं जो ईडी के हाथ गिरफ्तार किए गए।पूछताछ के दौरान हर सवाल के जवाब में जानकारी न होने की बात करने वाले झारखंड के ग्रामीण विकास मंत्री को ईडी ने दो दिनों तक चली लंबी बातचीत के बाद आखिरकार गिरफ्तार कर लिय

ईडी आलमगीर आलम को पीएमएलए कोर्ट में करेगी पेश

मंत्री की गिरफ्तारी के बाद ईडी कार्यालय की सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई।डॉक्टरों ने उनकी जांच की और आलम को पूरी तरह फिट बताते हुए कहा कि उनका ब्लड शुगर बढ़ा हुआ है, उसके लिए दवा दे दी गई है।आलमगीर आलम से मिलने के लिए उनकी मां और बेटी ईडी दफ्तर पहुंचीं थीं। आलम को गुरुवार (16 मई) को रांची के पीएमएलए कोर्ट में पेश किया जाएगा।

संजीव लाल व जहांगीर की गिरफ्तारी के बाद आलम पर डाला हाथ

आलमगीर आलम की गिरफ्तारी से पहले उनके आप्त सचिव संजीव लाल और निजी सहायक जहांगीर को गिरफ्तार किया गया था। उनके आवास से नोटों के ढेर मिले थे। इसके बाद आलमगीर आलम को ईडी की ओर से समन जारी किया गया था।14 मई को तय समय पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता और झारखंड के मंत्री ईडी दफ्तर पहुंचे।कागजी कार्रवाई के बाद उनसे पूछताछ शुरू हुई।

जहांगीर के पास इतने पैसे होने की नहीं थी जानकारी

ईडी के अधिकारियों ने जब आलमगीर आलम से संजीव लाल और जहांगीर के बारे में पूछा, तो आलमगीर आलम ने कहा कि उन्हें नहीं मालूम था कि उनके निजी सहायक जहांगीर के पास करोड़ों रुपए हैं।जहांगीर गलत कार्यों में लिप्त था, इसकी भी जानकारी उन्हें नहीं थी।इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि विभाग में हो रही कमीशनखोरी के बारे में भी उन्हें नहीं पता था।मंगलवार को रात 8:30 बजे तक उनसे पूछताछ हुई।

लंबी पुछताछ के बाद हुई गिरफ्तारी

14 मई को थोड़ी देर से पूछताछ के लिए पहुंचे आलमगीर आलम। इसके बाद उनसे कहा गया कि वे 15 मई (बुधवार) को फिर पूछताछ के लिए हिनू स्थित प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के रीजनल ऑफिस पहुंचें।ग्रामीण विकास मंत्री थोड़ी देर से पहुंचे।लंबी पूछताछ के बाद शाम को उनको अरेस्ट कर लिया गया। बताया जा रहा है कि ईडी के अधिकारियों ने मंत्री से कमीशनखोरी से जुड़े कई सवाल पूछे। अधिकतर सवालों के जवाब में मंत्री ने कहा कि उन्हें इसके बारे में कुछ नहीं मालूम।

निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम से जुड़े सवालों में घिर गए आलम

हालांकि निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम से जुड़े सवालों में वह घिर गये।पूछताछ के दौरान अधिकारियों ने मंत्री को पीएमएलए की धारा 50 के तहत दिये जाने वाले बयान और उसके कानूनी महत्व के बारे में उनको बताया।इसके बाद उनसे उनकी और पारिवारिक सदस्यों के आय-व्यय का ब्योरा भी मांगा गया।मंत्री से उनके आप्त सचिव संजीव लाल और उसके कारनामों की भी जानकारी मांगी गई,लेकिन, मंत्री ने कहा कि उन्हें आप्त सचिव की गतिविधियों की जानकारी नहीं थी।

Latest articles

अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म ,57 सीटों पर होगा मुकाबला !

न्यूज़ डेस्क सात राज्यों की कुल 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इन...

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दो मामले में हुए बरी 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान तहरीके-इन्साफयानि पीटीआई  के संस्थापक इमरान खान को जिला व सत्र न्यायालय ने...

जयराम रमेश ने कहा -इंडिया’ गठबंधन 48 घंटे के भीतर करेगा प्रधानमंत्री का चयन!

न्यूज़ डेस्क कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने  कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन...

पंजाब के मतदाताओं के नाम आखिर मनमोहन सिंह ने क्यों लिखा पत्र ?

न्यूज़ डेस्क पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह ने पंजाब के मतदाताओं के नाम एक...

More like this

अंतिम चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म ,57 सीटों पर होगा मुकाबला !

न्यूज़ डेस्क सात राज्यों की कुल 57 सीटों पर 1 जून को मतदान है। इन...

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दो मामले में हुए बरी 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान तहरीके-इन्साफयानि पीटीआई  के संस्थापक इमरान खान को जिला व सत्र न्यायालय ने...

जयराम रमेश ने कहा -इंडिया’ गठबंधन 48 घंटे के भीतर करेगा प्रधानमंत्री का चयन!

न्यूज़ डेस्क कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने  कहा कि इस लोकसभा चुनाव में ‘इंडिया’ गठबंधन...