Homeदेशतिरंगे के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जबरदस्त सम्मान ,ब्रिक्स सम्मेलन में...

तिरंगे के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जबरदस्त सम्मान ,ब्रिक्स सम्मेलन में दिखा जबरदस्त नजारा

Published on

बीरेंद्र कुमार झा

ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने दक्षिण अफ्रीका पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तिरंगे के लिए सम्मान देखने को मिला। यह वाकया उस वक्त हुआ जब विभिन्न देशों के प्रमुख मंच पर अपनी जगह पर खड़े होने के लिए पहुंच रहे थे। राष्ट्र प्रमुखों की जगह तय करने के लिए वहां पर उन देशों के झंडे रखे हुए थे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब अपनी जगह लेने के लिए वहां पहुंचे तो उनकी नजर जमीन पर पड़े तिरंगे पर पड़ी। यह देखते ही वह झुके और तिरंगा उठा लिया।वहीं उनके साथ मौजूद दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रामफोसा अपने देश के झंडे पर पर पैर रख चुके थे। जब उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को झंडा उठाते हुए देखा तो वह भी अपने देश का झंडा उठाने के लिए झुक गए।

वालंटियर को देने की बजाय खुद संभाल कर रखा तिरंगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तिरंगा उठाने के बाद इसे अपनी जेब में रख लिया। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका राष्ट्रपति ने भी अपने देश का झंडा उठाया। यह देखकर एक वालंटियर मंतच पर पहुंची और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति ने उठाया हुआ झंडा उसे दे दिया । उस वालंटियर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी उनका झंडा मांगा, तबतक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तिरंगे को अपनी जेब में रख चुके थे और उन्होंने उसे देने से इनकार कर दिया।इस तरह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिखाया कि वे अपने देश के झंडे को कितना इज्जत देते हैं ।उसे किसी अन्य के हाथों में देने की जगह वह तिरंगे को अपने पास सुरक्षित रखना ज्यादा पसंद करते हैं।

ब्रिक्स लीडर्स रिट्रीट में हुए शामिल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मंगलवार को दक्षिण अफ्रीका में ब्रिक्स लीडर्स रिट्रीट में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने 5 देश के समूह के अन्य नेताओं के साथ प्रमुख वैश्विक घटनाओं और अंतरराष्ट्रीय चुनौतियों का समाधान तलाशने के लिए ब्रिक्स के मंच का लाभ उठाने पर चर्चा की। नरेंद्र मोदी दक्षिण अफ्रीका और यूनान की चार दिवसीय यात्रा पर मंगलवार को जोहांसबर्ग पहुंचे।जोहांसबर्ग में वे दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति माटामेला सिरिल रामफोसा के निमंत्रण पर 22 से 24 अगस्त तक आयोजित होने वाले अध्यक्ष नेताओं के 15 में शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे । यह कोविड-19 वैश्विक महामारी के कारण वर्ष 2019 के बाद ब्रिक्स नेताओं का पहला आमने-सामने का शिखर सम्मेलन है। ब्रिक्स देश में ब्राजील रूस भारत चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल है।

 

Latest articles

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...

केजरीवाल की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला !

न्यूज़ डेस्क दिल्ली में कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय...

More like this

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...