Homeदेशजानिए सीएम ममता ने पीएम मोदी को क्यों पत्र लिखा ?

जानिए सीएम ममता ने पीएम मोदी को क्यों पत्र लिखा ?

Published on

अखिलेश अखिल
 पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर राज्य के कई जिलों के लोगों के आधार कार्ड निष्क्रिय होने की तरफ ध्यान को आकृष्ट किया है और सरकार पर इसके लिए गंभीर आरोप भी लगाए हैं।  मुख्यमंत्री ममता ने पीएम मोदी से राज्य में आधार कार्ड के अचानक डीएक्टिवेट होने की वजह पूछी है। ममता ने कहा कि इस कदम से बंगाल में लोगों के बीच हाहाकार मच गया है। उन्होंने कहा कि इस तरह आधार कार्ड के डीएक्टिवेट करने की कवायद नियमों के खिलाफ है और प्राकृतिक न्याय का घोर उल्लंघन है।

ममता ने अपने पत्र में लिखा, ‘‘मैं पश्चिम बंगाल में लोगों, विशेषकर अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और ओबीसी समुदायों के आधार कार्ड को अंधाधुंध तरीके से निष्क्रिय करने की गंभीर प्रकृति की अचानक हुई घटना को आपके ध्यान में लाना चाहती हूं।”

उन्होंने कहा, ‘‘मैं बिना कारण बताए आधार कार्ड को अचानक निष्क्रिय किये जाने का कारण जानना चाहती हूं। क्या यह लाभार्थियों को लाभ से वंचित करना है या लोकसभा चुनाव से पहले लोगों के बीच घबराहट की स्थिति पैदा करना है?”

 मुख्यमंत्री ने दावा किया कि नई दिल्ली में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण का मुख्यालय बिना किसी क्षेत्रीय जांच या राज्य को विश्वास में लिये संबंधित व्यक्तियों और परिवार के सदस्यों को सीधे ‘‘निष्क्रियता पत्र” जारी कर रहा है

 टीएमसी प्रमुख ने आगे लिखा, ‘‘वर्तमान घटनाक्रम ने राज्य के निवासियों के बीच घबराहट और हंगामे की स्थिति पैदा कर दी है, क्योंकि बड़ी संख्या में लोग अपनी शिकायतों के निवारण के लिए जिला प्रशासन से संपर्क कर रहे हैं।”

इससे पहले सोमवार को ममता ने आरोप लगाए थे कि मोदी सरकार राज्य के कई जिलों में लोगों के आधार कार्ड निष्क्रिय कर रही है ताकि उन्हें सरकारी योजनाओं का लाभ न मिल सके। इस दौरान उन्होंने ऐलान किया कि उनकी सरकार ऐसे लोगों को भी योजनाओं का लाभ देगी जिनके पास आधार कार्ड नहीं है।

टीएमसी प्रमुख ने रविवार को ऐलान किया कि बंगाल में अगर किसी के पास आधार कार्ड नहीं होगा, तो भी उसको सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने बीजेपी पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने लोकसभा से पहले कई लोगों के आधार कार्ड को निष्क्रिय कर दिया है। उन्होंने कहा कि पूरे बंगाल में बीजेपी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा आधार कार्ड को अमान्य करना पूरी तरह से अस्वीकार्य है।

इसके साथ ही ममता बनर्जी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोगों को मैं सावधान कर रही हूं, क्योंकि बीजेपी की केंद्र सरकार आधार को निष्क्रिय कर रही है। यह काम उन्होंने बंगाल के कई जिलों में कर दिया है। वे ऐसा लोकसभा चुनाव की वजह से कर रहे हैं, ताकि चुनाव से पहले बहुत से लोगों को सरकारी लाभों से वंचित कर दिया जाए।

ममता बनर्जी ने आगे कहा कि बीजेपी और केंद्र सरकार चाहती है कि आधार कार्ड को निष्क्रिय कर आप लोगों को लक्ष्मी योजना के लाभ से दूर कर दें। हमने भी यह ठान रखा है कि हम योजनाओं का लाभ देते रहेंगे। आपके पास आधार नहीं होगा फिर भी आपको लाभ मिलता रहेगा। हम एक भी लाभार्थी को छूटने नहीं देंगे।

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...