Homeदेशजानिए नीतीश कुमार के राष्ट्रीय अभियान के पीछे का सच -----

जानिए नीतीश कुमार के राष्ट्रीय अभियान के पीछे का सच —–

Published on

न्यूज़ डेस्क 
पांच रज्यों के चुनाव परिणाम आने के बाद नीतीश कुमार एक राष्ट्रीय अभियान की शुरुआत करने जा रहे हैं। अभियान की शुरुआत वाराणसी से की जा रही है। वाराणसी में नीतीश कुमार 24 दिसंबर को एक बड़ी रैली करने जा रहे हैं। इसके बाद वे कई राज्यों में भी इसी तरह की सभाओं की शुरुआत करेंगे। जानकारी के मुताबिक कोई दर्जन भर राज्यों में नीतीश कुमार लोगों के बीच पहुँच बनाने की तैयारी में हैं। हालांकि यह अभियान अभी तक इंडिया गठबंधन की तरफ से नहीं है। कहा  जा रहा है कि  यह अभियान जदयू का है। ऐसे में जानकार भी इस बात  अचंभित हैं कि इसे पीछे  है ?           
  जदयू के नेता इस अभियान को भले 2024 के लोकसभा चुनाव से जोड़कर बता रहे हैं, लेकिन इसके कई तरह के मायने भी निकाले जाने लगे हैं। जदयू के नेता की माने तो नीतीश जहां 24 दिसंबर को वाराणसी में एक जनसभा को संबोधित करेंगे, वहीं अपने अभियान के तहत वह महाराष्ट्र, हरियाणा, राजस्थान, झारखंड और गुजरात का भी दौरा करेंगे।
                   नीतीश अगले साल पड़ोसी राज्य झारखंड के रामगढ़ में एक सार्वजनिक रैली को संबोधित करेंगे। जदयू के नेता इस अभियान को इंडिया गठबंधन से अलग बता रहे हैं। ऐसे में कहा जा रहा है कि जदयू का अन्य राज्यों में कोई अस्तित्व नहीं है तो नीतीश के अभियान पर निकलने के क्या मायने हैं। जदयू ने यूपी चुनाव और हाल में हुए एमपी के चुनाव में अपने प्रत्याशी जरूर उतारे थे, लेकिन अधिकांश प्रत्याशी अपनी जमानत भी नहीं बचा पाए। ऐसे में भाजपा नीतीश कुमार को यूपी से चुनाव लड़ने की चुनौती भी दे रही है।
                    माना जा रहा है कि पांच राज्यों के चुनाव परिणाम के आने के बाद कांग्रेस बैकफुट पर है, जिसका लाभ उठाने के लिए जदयू ने ऐसी रणनीति बनाई है। इसमें कोई शक नहीं कि सभी भाजपा विरोधी दलों को एक मंच पर लाने के सूत्रधार नीतीश कुमार को माना जाता है। लेकिन, पटना की बैठक को छोड़कर इस गठबंधन का नेतृत्व कांग्रेस करती दिखी। ऐसे में नीतीश इस अभियान के जरिए कांग्रेस सहित अन्य सहयोगी दलों को एक संदेश देना चाहते हैं।
                   भाजपा के प्रवक्ता राकेश कुमार सिंह कहते हैं कि नीतीश की राजनीति में अस्तित्व समाप्त हो चुका है। अब वे अपने ‘ नेशनल ड्रीम’ को पूरा करने को लेकर पैंतरे कर रहे हैं। उन्होंने तंज करते हुए कहा कि बिहार में तीसरे नंबर की पार्टी, अन्य प्रदेश में कोई नामलेवा नहीं। ऐसे पार्टी के नेता अगर राष्ट्रीय स्तर पर सपना देखे तो भगवान ही मालिक।
                जदयू के नेता और बिहार के मंत्री जमा खान ने कहा कि नीतीश कुमार की वाराणसी में रैली की घोषणा होते ही भाजपा वालों को सर्दी में भी पसीना आ रहा है। यह रैली अंगड़ाई है। बिहार में हमेशा इतिहास लिखा गया है। हमारे नेता विकास के लिए जाने जाते हैं, जाति के लिए नहीं।

Latest articles

लोकसभा चुनाव : सीईसी ने कहा ईवीएम की पारदर्शिता हर कीमत पर बरकरार रखी जाएगी

न्यूज़ डेस्क  मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि निष्पक्ष लोकसभा चुनाव सुनिश्चित कराने...

पंजाब के खनौरी बॉर्डर पर गोलीबारी , दो किसान की मौत !

न्यूज़ डेस्क किसान आंदोलन स्थल से बड़ी खबर आ रही है।पंजाब के खनौरी बॉर्डर से गोलीबारी...

ICC Rankings: यशस्वी जायसवाल का ICC टेस्ट रैंकिंग में भी धमाल, 14 पायदान की लंबी छलांग के साथ अब इस नंबर पर

ICC Rankings:टीम इंडिया के उभरते युवा सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने इंग्लैंड के खिलाफ...

RRB Recruitment 2024: रेलवे में टेक्नीशियन के पदों बंपर भर्ती, इस दिन से शुरू होंगे आवेदन

RRB Recruitment 2024: रेलवे भर्ती का इंतजार कर रहे योग्य युवाओं को लिए खुशखबरी...

More like this

लोकसभा चुनाव : सीईसी ने कहा ईवीएम की पारदर्शिता हर कीमत पर बरकरार रखी जाएगी

न्यूज़ डेस्क  मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने कहा कि निष्पक्ष लोकसभा चुनाव सुनिश्चित कराने...

पंजाब के खनौरी बॉर्डर पर गोलीबारी , दो किसान की मौत !

न्यूज़ डेस्क किसान आंदोलन स्थल से बड़ी खबर आ रही है।पंजाब के खनौरी बॉर्डर से गोलीबारी...

ICC Rankings: यशस्वी जायसवाल का ICC टेस्ट रैंकिंग में भी धमाल, 14 पायदान की लंबी छलांग के साथ अब इस नंबर पर

ICC Rankings:टीम इंडिया के उभरते युवा सलामी बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल ने इंग्लैंड के खिलाफ...