Homeदेशजानिए नवनीत सहगल के बारे में जिन्हे बनाया गया है प्रसार भारती का...

जानिए नवनीत सहगल के बारे में जिन्हे बनाया गया है प्रसार भारती का अध्यक्ष !

Published on

न्यूज़ डेस्क
 नवनीत सहगल को प्रसार भारती का अध्यक्ष बने गया है। प्रसार भारती का यह पद चार साल से खाली पड़ा था। अब सहगल ए सूर्य प्रकाश का जगह लेंगे। सहगल यूपी कैडर के आईएएस अधिकारी रहे हैं। इनकी महत्ता यही है कि चाहे जिस पार्टी की सरकार यूपी में बनती रही उस सरकार के ख़ास रहे।

सहगल बीजेपी के ख़ास रहे तो अखिलेश यादव की सरकार के साथ ही बसपा की सरकार में भी काफी ख़ास बने रहे। इनका रुतबा हमेशा बना रहा। उनके पास कई मुख्यमंत्रियों के साथ काम करने का अनुभव रहा है। पिछले साल ही वो प्रशासनिक सेवा से रिटायर हुए हैं। जिसके बाद अब उन्हें ये बड़ी जिम्मेदारी दी गई है।        

सूचना व प्रसारण मंत्रालय द्वारा 15 मार्च को जारी आदेश में कहा गया है, “राष्ट्रपति को, चयन समिति की सिफारिश पर भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के सेवानिवृत्त अधिकारी नवनीत कुमार सहगल को प्रसार भारती बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त करते हुए प्रसन्नता है, जो उनके पद का कार्यभार संभालने की तारीख से तीन साल की अवधि या उनके 70 वर्ष का होने तक प्रभावी होगी।”

 नवनीत सहगल का मूलरूप से फरीदकोट के रहने वाले हैं, उनके पिता हरियाणा में नौकरी करते थे, इसलिए उनकी शुरुआती पढ़ाई अंबाला से हुई. वो शुरुआत से ही सिविल सर्विसेस में जाना चाहते थे, लेकिन कम उम्र होने की वजह से उन्होंने चार्टेड अकाउंटेंट में दाखिला ले लिया।  सीएम के बाद साल 1986 में उन्होंने सिविल सर्विक्स की तैयारी शुरू की और इसके साथ ही कई कंपनियों में बतौर कंसलटेंट काम करना शुरू कर दिया। 

नवनीत सहगल 1988 में पहली बार सिविल सेवा परीक्षा में बैठे और उनका इलेक्शन भी हो गया। प्रशिक्षण के लिए उन्हें सहारनपुर में तैनाती मिली। इसके बाद उन्होंने कई बड़ी ज़िम्मेदारियां संभाली। साल 2002 में सपा-बसपा गठबंधन की सरकार में मायावती ने नवनीत सहगल को लखनऊ का डीएम बनाया। 2003 में मायावती की सरकार जाने के बाद भी सपा सरकार में वो अपने पद पर बने रहे। 

इसके बाद कई सरकार आई गईं लेकिन नवनीत सहगल पर इसका असर नहीं पड़ा।  बसपा, सपा और बीजेपी सभी सरकारों के वो चहेते अफसर बने रहें। मायावती की सरकार में वो उनके सचिव थे और बड़े प्रभावशाली अफसर माने जाते थे, वहीं अखिलेश यादव की सरकार में भी उनका जलवा क़ायम रहा और वो उनके करीबी व सबसे मजबूत अफसर रहे। योगी सरकार में भी नवनीत सहगल प्रमुख सचिव सूचना रहे. रिटायरमेंट के बाद उनके राजनीति में आने की चर्चा भी जोरों पर रही। 

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...