Homeदेशबिहार में अमित शाह ने नीतीश को ललकारा ,कहा पलटू राम से...

बिहार में अमित शाह ने नीतीश को ललकारा ,कहा पलटू राम से बिहार को मुक्त करना होगा 

Published on


न्यूज़ डेस्क

अमित शाह ने आज मुज़फ्फरपूर् मे एक सभा को सामबोधित करते हुए आस्था का महापर्व छठ को लेकर लोगों को शुभकामनाएं दी और कहा कि वह छठी मैया से प्रार्थना करते हैं कि बिहार पलटू राम से मुक्त हो। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि वर्ष 2024 में बिहार की सभी चालीस लोकसभा सीटें मोदी जी की झोली में डाल दें और 2025 में होने वाले बिहार विधानसभा के चुनाव में भाजपा की सरकार बनाएं। हालांकि उन्होंने कहा कि बिहार की महान जनता ने 2020 में आशीर्वाद दिया लेकिन पलटूराम ने पलटी मार दिया। पलटूराम ने बिहार को जंगलराज वालों से हाथ मिला लिया।
              केंद्रीय गृह मंत्री एवं भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता अमित शाह ने राष्ट्रीय जनता दल अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर जातीय सर्वे रिपोर्ट में यादव-मुसलमानों की आबादी बढ़ाकर अति पिछड़ा समाज के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया और चुनौती देते हुए कहा कि वह घोषणा करें कि बिहार में अति पिछड़ा समाज का मुख्यमंत्री होगा। शाह ने रविवार को यहां के पताही हवाई अड्डा मैदान में पार्टी की ओर से आयोजित सभा को संबोधित करते हुए हाल ही में बिहार के जातीय सर्वे की रिपोर्ट को आधार बनाकर नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले महागठबंधन की सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि बिहार में अति पिछड़ों की आबादी यदि सबसे अधिक है तो घोषणा करनी चाहिए कि इंडिया गठबंधन का मुख्यमंत्री अति पिछड़ा समाज का होगा।
गृहमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पास अब कोई रास्ता नहीं बचा है। वह निकलना तो चाहते हैं लेकिन मजबूरी है.. कहां जाएंगे। इंडिया गठबंधन में इन्हें संयोजक भी नहीं बनाया। उन्होंने कहा कि इसलिए कभी कांग्रेस के खिलाफ बोलते हैं तो कभी कांग्रेस के कार्यक्रम में नहीं जाते हैं। हमने पहले ही कहा था कि तेल और पानी साथ नहीं रह सकते।
               भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि पिछड़ा समाज को वह कहने आए हैं कि इनके झांसे में नहीं आइए। नीतीश सरकार ने जो यह सर्वेक्षण कराया है, इस सर्वेक्षण का फैसला तब हुआ था जब भारतीय जनता पार्टी नीतीश कुमार की सरकार में शामिल थी। उन्होंने कहा कि यह फैसला भारतीय जनता पार्टी का है।शाह ने जातीय सर्वे पर सवाल उठाते हुए कहा, “आज मैं पिछड़ा-अति पिछड़ा समाज से कहना चाहता हूं कि यह जातीय सर्वे छलावा है। यादव और मुस्लिम समाज की आबादी को बढ़ाकर अति पिछड़ा समाज को धोखा दिया है।” उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि अति पिछड़ा समाज की आबादी सबसे अधिक है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि ऐसे में क्या घोषणा होगी कि इंडिया गठबंधन में मुख्यमंत्री का चेहरा अति पिछड़ा समाज से होगा। राजद अध्यक्ष यादव को इसका जवाब देना होगा।
                    केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जातीय सर्वे में क्या किया.. यादव और मुस्लिम आबादी को बढ़ा दिया और ईबीसी की आबादी को कम कर दिया। पिछड़ा-अति पिछड़ा के साथ अन्याय करने का काम नीतीश कुमार ने किया है। इन लोगों ने हमेशा पिछड़ा समाज का बहिष्कार किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा पिछड़ा-अति पिछड़ा समाज का सम्मान किया है। केंद्रीय मंत्रिमंडल में 27 मंत्री अन्य पिछड़ा वर्ग समाज से हैं। ओबीसी आयोग को संवैधानिक मान्यता दी गई है।
             उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि राजद अध्यक्ष यादव 10 साल तक केंद्र की तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार में मंत्री थे तब उन्होंने ओबीसी आयोग को संवैधानिक मान्यता क्यों नहीं दी। इसका जवाब पिछड़ा समाज को  यादव से मांगना चाहिए। 

Latest articles

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...

केजरीवाल की याचिका पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला !

न्यूज़ डेस्क दिल्ली में कथित आबकारी नीति घोटाले से जुड़े धनशोधन मामले में प्रवर्तन निदेशालय...

More like this

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...