Homeदेशचुनावी बांड केस : क्या चंदे की धंधे की खुलेगी पोल ?

चुनावी बांड केस : क्या चंदे की धंधे की खुलेगी पोल ?

Published on


न्यूज़ डेस्क
सुप्रीम कोर्ट ने एसबीआई की उस याचिका को आज ख़ारिज कर दिया जिसमे बैंक ने चुनावी बांड की जानकारी देने के लिए समय सीमा बढ़ाने की मांग की थी। अब अदालत ने बैंक को कहा है कि वह 12 मार्च को कामकाजी कार्य समाप्त होने तक चुनावी बांड की सभी जानकारी निर्वाचन आयोग को जमा करे। सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद अब एसबीआई क्या कुछ करता है इस पर सभी की निगाह टिक गई है। माना जा रहा है कि अगर सभी जानकारी उपलब्ध हो जाती है तो चंदे के धंधा का पोल खुल सकता है।  

अब इस मामले को लेकर अब कांग्रेस ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए एक्स  पोस्ट में लिखा- इलेक्टोरल बॉन्ड प्रकाशित करने के लिए एसबीआई  द्वारा साढ़े चार महीनें माँगने के बाद साफ़ हो गया था कि मोदी सरकार अपने काले कारनामों पर पर्दा डालने की हर संभव कोशिश कर रही है। 

खड़गे ने आगे कहा कि मोदी सरकार के भ्रष्टाचार, घपलों और लेन-देन की कलई खुलने की ये पहली सीढ़ी है। अब भी देश को ये नहीं पता चलेगा कि भाजपा के चुनिंदा पूँजीपति चंदाधारक किस-किस ठेके के लिए मोदी सरकार को चंदा देते थे, उसके लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट को उचित निर्देष देने चाहिए। मीडिया रिपोर्ट्स से ये तो उजागर हुआ ही है कि भाजपा किस तरह ईडी -सीबीआई -आईटी रेड डलवाकर जबरन चंदा वसूलती थी। उन्होंने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला पारदर्शिता, जवाबदेही, और लोकतंत्र में बराबरी के मौक़े की जीत है।

 खड़गे के अलावा कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी के ‘चंदे के धंधे’ की पोल खुलने वाली है! 100 दिन में स्विस बैंक से काला धन लाने का वायदा कर सत्ता में आई सरकार अपने ही बैंक का डेटा छिपाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में सिर के बल खड़ी हो गई। 

चुनावी बांड भारतीय इतिहास का सबसे बड़ा घोटाला साबित होने जा रहा है, जो भ्रष्ट उद्योगपतियों और सरकार के नेक्सस की पोल खोल कर नरेंद्र मोदी का असली चेहरा देश के सामने लेकर आएगा। उन्होंने आगे कहा कि क्रोनोलॉजी स्पष्ट है – चंदा दो- धंधा लो, चंदा दो- प्रोटेक्शन लो! चंदा देने वालों पर कृपा की बौछार और आम जनता पर टैक्स की मार, यही है बीजेपी की मोदी सरकार।
 

आपको बता दें, सुनवाई के दौरान आज प्रधान न्यायाधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अगुवाई वाली पीठ ने निर्वाचन आयोग को भी एसबीआई द्वारा साझा की गई जानकारी 15 मार्च को शाम पांच बजे तक अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर प्रकाशित करने का निर्देश दिया। इस पीठ में न्यायमूर्ति संजीव खन्ना, न्यायमूर्ति बी.आर. गवई, न्यायमूर्ति जे.बी. पारदीवाला और न्यायमूर्ति मनोज मिश्रा भी शामिल रहे।

सुनवाई के दौरान, पीठ ने एसबीआई की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता हरीश साल्वे की दलीलों पर गौर किया कि विवरण एकत्र करने और उनका मिलान करने के लिए अधिक समय की आवश्यकता है क्योंकि जानकारी इसकी शाखाओं में दो अलग-अलग कक्षों में रखी गई थी।उन्होंने कहा कि अगर मिलान प्रक्रिया न करनी हो तो एसबीआई तीन सप्ताह के भीतर इस प्रक्रिया को पूरा कर सकता है।

पीठ ने कहा कि उसने एसबीआई को चंदा देने वालों और चंदा प्राप्त करने वालों के विवरण का अन्य जानकारी से मिलान करने का निर्देश नहीं दिया है। उसने कहा कि एसबीआई को सिर्फ सीलबंद लिफाफा खोलना है, विवरण एकत्र करना है और निर्वाचन आयोग को जानकारी देनी है। उसने बैंक से यह भी पूछा कि उसने शीर्ष अदालत के 15 फरवरी के फैसले में दिए गए निर्देशों के अनुपालन के लिए क्या कदम उठाए हैं।

पीठ ने कहा, ‘‘पिछले 26 दिन में आपने क्या कदम उठाए हैं? आपकी अर्जी में इस बारे में कुछ नहीं बताया गया।’’ पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने 15 फरवरी को एक ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए केंद्र की चुनावी बॉण्ड योजना को रद्द कर दिया था और इसे ‘‘असंवैधानिक’’ करार देते हुए निर्वाचन आयोग को चंदा देने वालों, चंदे के रूप में दी गई राशि और प्राप्तकर्ताओं का 13 मार्च तक खुलासा करने का आदेश दिया था।

Latest articles

छत्तीसगढ़ पुलिस मुठभेड़ में अबतक 29 नक्सली मारे गए ,सेर्च ऑपरेशन जारी 

न्यूज़ डेस्कछत्तीसगढ़ से बड़ा अपडेट सामने आ रहा है। मिल रही जानकारी के मुताबिक़...

हेमंत सोरेन जमानत याचिका में कहा उनकी गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित और सुनियोजित साजिश !

न्यूज़ डेस्क झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने  रांची की एक विशेष अदालत में...

कांग्रेस के फर्जी वीडियो के खिलाफ अभिनेता आमिर खान ने कराई शिकायत दर्ज

न्यूज़ डेस्क फिल्म अभिनेता आमिर खान ने कांग्रेस के एक फर्जी वीडियो के खिलाफ शिकायत...

ईरान पर इजराइल करेगा बड़ा हमला,इजराइल वार कैबिनेट के फैसले से सहमी दुनिया !

न्यूज़ डेस्क अब ईरान पर इजराइल बड़े हमले की तैयारी में हैं। इजराइल कैबिनेट ने...

More like this

छत्तीसगढ़ पुलिस मुठभेड़ में अबतक 29 नक्सली मारे गए ,सेर्च ऑपरेशन जारी 

न्यूज़ डेस्कछत्तीसगढ़ से बड़ा अपडेट सामने आ रहा है। मिल रही जानकारी के मुताबिक़...

हेमंत सोरेन जमानत याचिका में कहा उनकी गिरफ्तारी राजनीति से प्रेरित और सुनियोजित साजिश !

न्यूज़ डेस्क झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने  रांची की एक विशेष अदालत में...

कांग्रेस के फर्जी वीडियो के खिलाफ अभिनेता आमिर खान ने कराई शिकायत दर्ज

न्यूज़ डेस्क फिल्म अभिनेता आमिर खान ने कांग्रेस के एक फर्जी वीडियो के खिलाफ शिकायत...