Homeदेशचुनाव परिणाम एनडीए और इंडिया गठबंधन के नेताओं के बड़बोलेपन पर रोक...

चुनाव परिणाम एनडीए और इंडिया गठबंधन के नेताओं के बड़बोलेपन पर रोक लगाने वाला

Published on

18 वीं लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए गठबंधन या विपक्षी इंडिया गठबंधन दोनों ही तरफ से बड़बोलेपन का प्रदर्शन किया गया।पहले चरण के मतदान के बाद से ही कम मतदाता के मतदान में हिस्सेदारी को लेकर विपक्षी tगठबंधन इंडिया के द्वारा बीजेपी सरकार के 4 जुलाई को पत्ता साफ होने की बात की जाने लगी। चौथे चरण के मतदान के बाद तो बीजेपी और इंडिया गठबंधन दोनों ही एक दूसरे के हारने खुद की पार्टी के सरकार में बनाने की बात करने लगी। हालांकि 4:30 तक भारतीय चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जो परिणाम प्रदर्शित किया जा रहा था उसने एनडीए और इंडिया दोनों ही गठबंधन दलों के बड़बोलेपन की पोल खोल कर रख दी है। भले ही एनडीए गठबंधन 295 सीटों के बढ़त के साथ स्पष्ट बहुमत की सरकार बनाती नजर आ रही है,फिर भी भारतीय जनता पार्टी के अपने बूते बहुमत के आंकड़े से दूर रहने की वजह से बीजेपी के लिए भी आगामी सरकार में बड़े निर्णय लेने में परेशानी होगी।

नीतीश और नायडू के एनडीए से अलग होने की सामने आ रही बात

18 में लोकसभा चुनाव के लिए मतदान के बाद मतगणना की प्रक्रिया अभी चल ही रही है। इस बीच हाल ही में एनडीए का हिस्सा बने नीतीश कुमार के इससे अलग होने की बात सामने आने लगी।आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने बताया की नीतीश कुमार चुनाव के बाद कभी भी एनडीए से नाता तोड़ महागतबंधन में वापसी कर सकते हैं। हालांकि नीतीश कुमार या जेडीयू की तरफ से इस तरह की कोई बात नहीं की गई है। इस बात की भी खबर आ रही है कि शरद पवार ने नीतीश कुमार और तेलुगु देशम पार्टी के अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू से बात कर उन्हें इंडिया गठबंधन के पक्ष में लाने का प्रयास तेज कर दिया है। हालांकि शरद यादव की अभी तक चंद्रबाबू नायडू या नीतीश कुमार से बातचीत नहीं हो पाई है।

बीजेपी खेमे में बैठकों का दौर जारी

मंगलवार 4:30 बजे तक की चुनावी परिणाम में 295 सीटों की बढ़त के रुझान के आधार पर भले ही बीजेपी पूर्ण बहुमत वाली एनडीए सरकार का गठन करती हुई दिखाई दे रही है, लेकिन अपेक्षा के अनुसार भारतीय जनता पार्टी को सफलता नहीं मिलने को लेकर भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेताओं की बैठक जारी है।भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सबसे पहले राजनाथ सिंह के साथ एक बैठक की इसके बाद अमित शाह के साथ उनका बैठक होना वही उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के खराब प्रदर्शन को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी लखनऊ में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक कर रहे हैं।

Latest articles

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...

जोधपुर में साम्प्रदायिक हिंसा ,हिरासत में लिए गए 40 लोग 

न्यूज़ डेस्क राजस्थान का जोधपुर अचानक हिंसाग्रस्त हो गया। दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पे...

More like this

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...