Homeदेशकांग्रेस का यूपी- बिहार की 50 सीटों पर दावा, ममता बंगाल में...

कांग्रेस का यूपी- बिहार की 50 सीटों पर दावा, ममता बंगाल में छोड़ेगी सिर्फ दो सीट

Published on

बीरेंद्र कुमार झा

विपक्षी गठबंधन इंडिया ने यों तो 31 दिसंबर 2023 ही सीट शेयरिंग के लिए अंतिम तिथि निर्धारित की थी।लेकिन यह काम अभी भी अटका हुआ ही है। सीट शेयरिंग का मामला विपक्षी गठबंधन इंडिया के लिए एक बड़ी चुनौती से काम नहीं है क्योंकि विभिन्न राजनीतिक दल अपने-अपने स्तर से अपने दलों के लिए सीटों की दावेदारी कर रहे हैं।पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी जहां कांग्रेस को दो से अधिक सीट देने के लिए तैयार नहीं दिख रही है तो वहीं कांग्रेस पार्टी ने भी बिहार और उत्तर प्रदेश में 50 सीटों पर अपना दावत ठोक दिया है।

तृणमूल कांग्रेस की सोच

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार ने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए पश्चिम बंगाल में विपक्षी गठबंधन इंडिया की सहयोगी पार्टी कांग्रेस के लिए सिर्फ दो सीटों की पेशकश की है।सूत्रों ने यह भी कहा है कि ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पार्टी की राय है कि बंगाल में सीट बंटवारे का अंतिम फैसला लेने की अनुमति टीएमसी को मिलनी चाहिए। इनका सीट बंटवारे की संख्या एक स्पष्ट फार्मूले पर आधारित है।इसमें संसदीय चुनाव और राज्य विधानसभा चुनाव का तालमेल बैठाया गया है।

इसके अलावा तृणमूल कांग्रेस ने इंडिया गठबंधन के संयोजक के रूप में भी कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे को अपनी पसंद बताया है। तृणमूल कांग्रेस सूत्रों के अनुसार पार्टी के पास नीतीश कुमार के खिलाफ कहने के लिए कुछ भी नहीं है, लेकिन पार्टी का मानना है कि विपक्षी गठबंधन के संयोजक के रूप में खड़गे का बेहतर प्रभाव होगा।सूत्रों ने बताया कि तृणमूल कांग्रेस का मानना है कि दलित समुदाय से आने वाले खड़गे बेहतर विकल्प हैं, क्योंकि वह 58 सीटों पर प्रभाव डाल सकते हैं।

कांग्रेस का रवैया भी उदार नहीं

विपक्षी गठबंधन इंडिया के तहत सीट शेयरिंग पर सामंजस बनाने की जिम्मेदारी कांग्रेस पार्टी को दी गई है। कांग्रेस पार्टी ने राज्य के नेताओं के साथ चर्चा कर विभिन्न राज्यों में कांग्रेस पार्टी के सीटों की एक संभावित लिस्ट भी तैयार कर लिया है। कांग्रेस को लगता है कि लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय मुद्दे हावी रहेंगे,इसलिए बीजेपी के खिलाफ लड़ाई में उसकी भूमिका अग्रणी होगी। राहुल गांधी ने गठबंधन के नेताओं को आश्वासन दिया था की सीट शेयरिंग पर पार्टी एक उदार रवैया अपनायेगी, लेकिन कांग्रेस ने जो लिस्ट तैयार की है, उसके मुताबिक हिंदी भाषी राज्यों में वह समझौते के मूड में नहीं दिख रही है। कांग्रेस हिंदी भाषी राज्य उत्तर प्रदेश में जहां अपने लिए 40 सीटों पर जोर दे रही है वहीं यह बिहार में 10 सीटों पर अपना दावा पेश कर रही है।

विभिन्न राजनीतिक दलों का सीटों को लेकर अपनाए जाने वाले इस अड़ियल रवैए से विपक्षी गठबंधन इंडिया में एक बड़ा घमासान मचा हुआ है,तो दूसरी तरफ लोकसभा का चुनाव नजदीक आता जा रहा है।ऐसे में यह देखना दिलचस्प होगा कि इंडिया गठबंधन इस घमासान से निकलने में कामयाब होता है या बीच में टूट जाता है।

 

Latest articles

मरियम नवाज बनी पाकिस्तान पंजाब प्रान्त की पहली महिला मुख्यमंत्री 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री  नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज पाकिस्तान के पंजाब...

तमिलनाडु के दो दिवसीय दौरे पर पीएम मोदी , इसरो के दूसरे स्पेसपोर्ट की रखेंगे आधारशिला

न्यूज़ डेस्क पीएम मोदी मंगलवार से तमिलनाडु के दो दिवसीय दौरे पर रहेंगे। जानकारी के...

झारखंड में कांग्रेस को  बड़ा झटका ,सांसद गीता कोड़ा बीजेपी में हुई शामिल 

न्यूज़ डेस्क झारखंड में आज कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस की सांसद गीता...

आखिर जयंत चौधरी ने क्यों कहा कि अभी एनडीए में शामिल होने की औपचारिक घोषणा नहीं !

न्यूज़ डेस्क रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी क बयान आया है कि अभी एनडीए के...

More like this

मरियम नवाज बनी पाकिस्तान पंजाब प्रान्त की पहली महिला मुख्यमंत्री 

न्यूज़ डेस्क पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री  नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज पाकिस्तान के पंजाब...

तमिलनाडु के दो दिवसीय दौरे पर पीएम मोदी , इसरो के दूसरे स्पेसपोर्ट की रखेंगे आधारशिला

न्यूज़ डेस्क पीएम मोदी मंगलवार से तमिलनाडु के दो दिवसीय दौरे पर रहेंगे। जानकारी के...

झारखंड में कांग्रेस को  बड़ा झटका ,सांसद गीता कोड़ा बीजेपी में हुई शामिल 

न्यूज़ डेस्क झारखंड में आज कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस की सांसद गीता...