Homeदेशप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अडानी समूह पर कांग्रेस का एक और बड़ा...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अडानी समूह पर कांग्रेस का एक और बड़ा हमला, कांग्रेस के द्वारा परियोजना में अनियमितता का आरोप

Published on

- Advertisement -

बीरेंद्र कुमार झा

कांग्रेस ने मुंबई के धारावी क्षेत्र के पुनर्विकास की परियोजनाओं को लेकर मंगलवार को सवाल किया कि क्या अडानी समूह को फायदा पहुंचाने के लिए इसकी निविदा के नियम एवं शर्तों में बदलाव किया गया? पार्टी महासचिव जयराम रमेश ने दावा किया कि नियम एवं शर्तों में बदलाव के कारण पहले सफल बोली लगाने वाली कंपनी की प्रक्रिया से बाहर हो गई और निविदा अडानी समूह को मिल गई।

सफल बोली लगाने वाली कंपनी बोली की प्रक्रिया से पहले ही हो गई बाहर

जयराम रमेश ने एक बयान में कहा कि जब 2018 के नवंबर महीने में निविदा जारी की थी तब दुबई स्थित सेंकलिंक टेक्नोलॉजी कारपोरेशन ने अपनी प्रतिस्पर्धा करने वाली कंपनी अडानी इन्फ्राट्रक्चर को पीछे छोड़ते हुए 7,200 करोड रुपए की सबसे अधिक बोली लगाई थी। रेलवे से संबंधित भूमि के हस्तांतरण से संबंधित मुद्दों के कारण उस निविदा को 2020 के नवंबर महीने में रद्द कर दिया गया। उन्होंने दावा किया कि फिर नई शर्तों के साथ एक नई निविदा 2022 के अक्टूबर में महाराष्ट्र सरकार के शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जारी की गई। अडानी समूह ने इस टेंडर को ₹5069 करोड़ की बोली लगाकर जीत लिया जो पहले की बोली से 2131 करोड़ रुपए कम है।

निविदा के नियमों और शर्तों में हुए बदलाव

जयराम रमेश ने कहा नियमों एवं शर्तों में जो बदलाव हुए उसके कारण से सेकलिंक को फिर से बोली लगाने का मौका नहीं मिला। साथ ही बोली लगाने वालों की कुल संपत्ति ₹10,000 करोड़ से बढ़ाकर ₹20,000 करोड़ कर दी गई, जिससे बोली लगाने वालों की संख्या सीमित हो गई।

कांग्रेस का प्रधानमंत्री पर हमला

जयराम रमेश ने सवाल किया कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीजेपी समर्थित महाराष्ट्र सरकार को निविदा के नियम एवं शर्तों को बदलने के लिए मजबूर किया, ताकि मूल विजेता को बाहर किया जा सके और एक बार फिर अपने पसंदीदा कारोबारी समूह की मदद की जा सके? क्या झुग्गी झोपड़ियों में रहने वाले लोगों को भी नहीं बख्शा जाएगा?

 

Latest articles

आखिर  देशद्रोह कानून पर लॉ कमीशन की रिपोर्ट का कानून मंत्री ने क्यों स्वागत किया है ?

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन मेघवाल ने देशद्रोह पर लॉ कमीशन की उस रिपोर्ट...

कर्नाटक में फ्री बिजली अनाज और बेरोजगारों को 3000 महीना देगी कांग्रेस सरकार, चुनाव में क्या था वायदा

बीरेंद्र कुमार झा कर्नाटक में सरकार गठन के बाद अब मुख्यमंत्री सिद्धारमैया अपने पांच गारंटी...

जानिए बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ दर्ज एफआईआर ब्योरे का सच !

न्यूज़ डेस्क बीजेपी सांसद और कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाड़...

एकजुट होकर लड़ेगी राजस्थान विधानसभा का चुनाव,क्या वाकई गहलोत और पायलट में हो गई सुलह?

बीरेंद्र कुमार झा राजस्थान में इस साल के अंत तक विधानसभा का चुनाव होना है।...

More like this

आखिर  देशद्रोह कानून पर लॉ कमीशन की रिपोर्ट का कानून मंत्री ने क्यों स्वागत किया है ?

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय कानून मंत्री अर्जुन मेघवाल ने देशद्रोह पर लॉ कमीशन की उस रिपोर्ट...

कर्नाटक में फ्री बिजली अनाज और बेरोजगारों को 3000 महीना देगी कांग्रेस सरकार, चुनाव में क्या था वायदा

बीरेंद्र कुमार झा कर्नाटक में सरकार गठन के बाद अब मुख्यमंत्री सिद्धारमैया अपने पांच गारंटी...

जानिए बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ दर्ज एफआईआर ब्योरे का सच !

न्यूज़ डेस्क बीजेपी सांसद और कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाड़...