Homeदेशविश्वभारती के गेस्ट हाउस के कुछ कमरे धार्मिक कार्यक्रम के लिए जाने...

विश्वभारती के गेस्ट हाउस के कुछ कमरे धार्मिक कार्यक्रम के लिए जाने से गरमाया माहौल

Published on

रबींद्रनाथ टैगोर द्वारा स्थापित विश्व भारती यानी शांति निकेतन अपनी शांति और कला को लेकर जाना जाता है।लेकिन इस समय पश्चिम बंगाल में धार्मिक कार्यक्रम के लिए विश्वभारती के गेस्ट हाउस के कमरों को बाहरी संस्था को आवंटित किये जाने को लेकर यहां का माहौल गरमाने लगा है।इस गेस्ट हाउस आबंटन को लेकर सीपीएम की छात्र इकाई स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआइ) ने आरोप लगाया कि भगवा शक्तियां विश्वभारती परिसर में धार्मिक गतिविधियां करने वाली हैं और ऐसे एक संगठन को यहां के गेस्ट हाउस में 12 से ज्यादा कमरे आवंटित किये गये हैं।इस पर विश्वभारती के अधिकारियों ने कहा कि विश्वविद्यालय परिसर के अंदर किसी भी धार्मिक सभा की अनुमति नहीं दी गयी है।लेकिन विश्वविद्यालय से संचालित गेस्ट हाउस के किसी भी कमरे को लागू दरों पर प्रामाणिक संगठन बुक कर सकते हैं.

एसएफआइ ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के भगवाकरण होने का लगाया आरोप

एसएफआइ ने एक दिन पहले विश्विद्यालय प्रबंधन पर विश्वविद्यालय के भगवाकरण करने का आरोप लगाते हुए कहा कि पुरी के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती बोलपुर सभागार में तीन दिवसीय धार्मिक अनुष्ठान में भाग लेंगे और शांतिनिकेतन के रतनकुठी स्थित गेस्ट हाउस में ठहरेंगे।एसएफआइ ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति को लिखे मेल में दावा किया है कि कुछ दिन पहले परिसर के आसपास उक्त धार्मिक आयोजन के सामूहिक पोस्टर दिखे थे, जिसमें ”आश्रम प्रांगण” भी शामिल है।विश्वभारती परिसर कविगुरु रबींद्रनाथ टैगोर के मूल्यों व आदर्शों पर बना एक शांत स्थान है, जो हाल में ऐसी गतिविधियों से सीधे प्रभावित होता है।

वामपंथी छात्र संगठन ने उठाया सवाल

वामपंथी छात्र संगठन की ओर से तर्क देते हुए कहा गया कि विश्वभारती ने हमेशा सरस्वती पूजा या दुर्गापूजा जैसी धार्मिक उत्सवों को मनाने से परहेज किया है। इस बाबत रजिस्ट्रार अशोक कुमार महतो ने कहा कि “विश्वभारती में किसी भी धार्मिक सभा के आयोजन या अनुमति नहीं दी गयी है ,हां, ऐसी खबरें अखबारों में पढ़ी है कि शंकराचार्य का कार्यक्रम गीतांजलि परिसर में होना है, जो जैसा कि आप जानते हैं, हमारे परिसर के बाहर है। इसका स्वामित्व या प्रबंधन विश्वभारती के पास नहीं है। पुरी के पीठाधीश्वर शंकराचार्य के विश्वविद्यालय संचालित गेस्ट हाउस में ठहरने के सवाल पर रजिस्ट्रार ने आगे कहा, “मेरे पास अभी अतिथि विवरण नहीं है, लेकिन यह कहा जा सकता है कि गेस्ट हाउस को लागू किराये पर बुक किया जा सकता है।

कोई भी बुक करा सकता है गेस्ट हाउस के कमरे

इस विवाद को लेकर विश्वभारती के प्रवक्ता ने कहा कि विश्वभारती गेस्ट हाउस को भारत का कोई भी नागरिक या प्रामाणिक संस्था उचित माध्यम से बुक करा सकती है।इस मामले में भी ऐसा ही हुआ है।इसके अलावा, धार्मिक कार्यक्रम, आईएफए और अन्य दो कैंपस के बाहर विश्व-भारतीय में आयोजित किया जा रहा है।विश्वभारती यूनिवर्सिटी फैकल्टी एसोसिएशन (वीबीयूएफए) के पदाधिकारी कौशिक भट्टाचार्य ने कहा, कि हमारी जानकारी के अनुसार, जिस संगठन ने पुरी के शंकराचार्य को आमंत्रित किया था, वो धार्मिक संस्था है, जिसका बीजेपी से संबंध नहीं है,लेकिन विश्वविद्यालय की संपत्ति का उपयोग कभी भी किसी धार्मिक गतिविधि के लिए नहीं किया जाना चाहिए – ना ही परिसर में ऐसे कार्यक्रम के लिए अभियान चलाया जाना चाहिए, जो रबींद्रनाथ टैगोर व उनके पिता महर्षि देबेंद्रनाथ टैगोर (जो निराकार ब्रह्म को मानते थे) के प्रसारित आदर्शों के अनुरूप नहीं है। बताया गया है कि आगामी पांच से सात जून तक बोलपुर गीतांजलि सभाकक्ष में राष्ट्रोत्कर्ष सम्मेलन होगा, जिसे लेकर पुरी के पीठाधीश्वर शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती यहां पधारने वाले हैं।

Latest articles

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...

जोधपुर में साम्प्रदायिक हिंसा ,हिरासत में लिए गए 40 लोग 

न्यूज़ डेस्क राजस्थान का जोधपुर अचानक हिंसाग्रस्त हो गया। दो समुदायों के बीच हिंसक झड़पे...

More like this

बीजेपी से हितों की उम्मीद – दिवास्वप्न!

ऐसा देखा गया है कि भाजपा ने लगातार अन्य राजनीतिक दलों को विभाजित करने,...

आईएनएस सुनयना का एमसीजी डोर्नियर और मॉरीशस पुलिस बल ने किया जोरदार स्वागत !

न्यूज़ डेस्क भारत का आईएनएस सुनयना इन दिनों मॉरीशस पहुंचा हुआ है। समुद्र में लम्बी...

केन्द्रीय बजट 2024-25 के लिए सुझाव लेने हेतु वित्त मंत्रियों के साथ सीतारमण ने की बैठक 

न्यूज़ डेस्क केन्द्रीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज नई दिल्ली में...