Homeदेशमोदी रिटर्न से चीन को भारत में राष्ट्रवाद बढ़ने का डर, द्विपक्षीय...

मोदी रिटर्न से चीन को भारत में राष्ट्रवाद बढ़ने का डर, द्विपक्षीय संबंध पर पड़ेगा असर

Published on

साम्राज्यवादी चीन की नजर भारत की जमीन पर लंबे समय से है 1962 के चीन – भारत युद्ध में तो उसने भारत के एक बड़े भूभाग पर अधिकार भी कर लिया था।पीएम मोदी के शासन काल में युद्ध के जरिए भारत की जमीन पर कब्जा का प्रात किया था,लेकिन तब वह इसमें सफल नहीं हो सका था।ऐसे में पीएम मोदी के नेतृत्व में 3 री बार एनडीए की पूर्ण बहुमतवाली सरकार बनाने से चीन को बड़ा क्षोभ है। चीन के सरकारी मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने इस संबंध में एक लेख प्रकाशित किया है। ग्लोबल टाइम्स ने विशेषज्ञों के हवाले से कहा कि नरेंद्र मोदी की भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) अपने गठबंधन के बावजूद पूर्ण बहुमत हासिल करने में सफल नहीं हो सकी है यही वजह है कि प्रधानमंत्री के लिए आर्थिक सुधार को आगे बढ़ाने में मुश्किलें पैदा होंगी।इस हालत में वे राष्ट्रवाद का कार्ड खेल सकते हैं।विशेषज्ञों ने कहा है कि उम्मीद है कि चीन-भारत संबंधों में भी ज्यादा सुधार होने की संभावना नहीं है।

पीएम मोदी के नए कार्यकाल में कारोबारी माहौल न बन पाने की आशंका

लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली एनडीए गठबंधन की जीत पर चीन की सरकारी मीडिया मीडिया ग्लोबल टाइम्स ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया पर एक बयान जारी किया है और तीसरी बार जीत का दावा किया है।चीनी विशेषज्ञों ने कहा है कि इस बदले हालात में मोदी की चीनी विनिर्माण के साथ प्रतिस्पर्धा करने और भारत के कारोबारी माहौल को बेहतर बनाने की महत्वाकांक्षा को पूरा करने में परेशानी आएगी। बीती रात सरकाqरी मीडिया ने बताया कि मतगणना पूरी होने टूके बाद मोदी के गठबंधन को जीत तो मिली लेकिन मामूली अंतर से।

श्रीलंका, मालदीव, नेपाल ने मोदी को दी बधाई

इधर, श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे और नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने एनडीए के बहुमत हासिल करने पर प्रधानमंत्री मोदी को बधाई दी और उनके साथ मिलकर काम करने की इच्छा व्यक्त की। श्रीलंका के राष्ट्रपति ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म एक्स पर लिखा कि मैं बीजेपी नीत एनडीए को जीत पर हार्दिक बधाई देता हूं, जो प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में प्रगति और समृद्धि में भारतीय लोगों के विश्वास को प्रदर्शित करती है। नेपाल के प्रधानमंत्री ‘प्रचंड’, मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद कुमार जगन्नाथ के अलावा मालदीव के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद मुइज्जू, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोबगे ने भी एनडीए की चुनावी सफलता पर अपने भारतीय समकक्ष को बधाई दी है।

चीन और अमेरिका ने मोदी की नई सरकार से लगाई शांति की उम्मीद

पीएम मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए गठबन्धन को चुनाव में बहुमत मिलने के बाद पाकिस्तान और अमेरिका से भी प्रतिक्रियाएं आई है।पाकिस्तान में सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) पार्टी के नेता एवं पंजाब के सूचना मंत्री आजमा बोखारी ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि भारत के लोगों और चुनाव में जीत हासिल करने वाले उम्मीदवारों को पाकिस्तान की ओर से बधाई,उम्मीद है कि चुनाव के परिणाम (नयी सरकार) उपमहाद्वीप में शांति, प्रगति और समृद्धि लाएंगे. वहीं, अमेरिका के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मैथ्यू मिलर ने भारत के संसदीय चुनावों की सराहना की और इसे इतिहास में लोकतंत्र की सबसे बड़ी प्रक्रिया बताया लेकिन चुनाव के रिजल्ट पर टिप्पणी करने से परहेज किया।

Latest articles

क्या अध्यक्ष पद के बहाने टीडीपी और जेडीयू को भड़काकर कांग्रेस गिरा देगी मोदी सरकार

18वीं लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भले ही बहुमत से 32 सीटें...

संजय राउत: एनडीए का स्पीकर नहीं बना तो जदयू और टीडीपी को तोड़ देगी बीजेपी !

न्यूज़ डेस्क मोदी की तीसरी बार सरकार तो बन गई लेकिन लोकसभा में स्पीकर को...

गंगा दशहरा के दिन पटना के बाढ़ में पलटी नाव, लापता लोगों को खोज रही एसडीआरएफ की टीम

बिहार में अक्सर हर पर्व के अवसर पर कहीं न कहीं नदी में लोगों...

बनारस में गंगा दशहरा के अवसर पर हजारो लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी !

न्यूज़ डेस्क कशी के पवित्र घाट पर गंगा दशहरा के अवसर पर आज हजारों लोगों...

More like this

क्या अध्यक्ष पद के बहाने टीडीपी और जेडीयू को भड़काकर कांग्रेस गिरा देगी मोदी सरकार

18वीं लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भले ही बहुमत से 32 सीटें...

संजय राउत: एनडीए का स्पीकर नहीं बना तो जदयू और टीडीपी को तोड़ देगी बीजेपी !

न्यूज़ डेस्क मोदी की तीसरी बार सरकार तो बन गई लेकिन लोकसभा में स्पीकर को...

गंगा दशहरा के दिन पटना के बाढ़ में पलटी नाव, लापता लोगों को खोज रही एसडीआरएफ की टीम

बिहार में अक्सर हर पर्व के अवसर पर कहीं न कहीं नदी में लोगों...