Homeदेशखुद को राष्ट्रवादी कहने वाले बीजेपी सांसद 2 लोगों को देखकर भाग...

खुद को राष्ट्रवादी कहने वाले बीजेपी सांसद 2 लोगों को देखकर भाग गए:राहुल गांधी

Published on

 

बीरेंद्र कुमार झा
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को संसद में हुई सुरक्षा चूक को बीजेपी से जोड़ दिया। उन्होंने कहा कि संसद में दो लोग घुस आए तो बीजेपी के सांसद भाग लिए।ये लोग खुद को राष्ट्रवादी कहते हैं, लेकिन हमने देखा कि ये लोग कैसे डर गए। राहुल गांधी ने कहा कि वे दो लोग गैस लेकर संसद में चले आए तो, कुछ और भी ला सकते थे। राहुल गांधी ने कहा कि मीडिया कभी जरुरी मुद्दे नहीं उठाते हैं, हमारे सांसदों के निलंबन की चर्चा नहीं होती है, लेकिन यह बात जरूर होती है कि राहुल गांधी ने मिमिक्री का वीडियो बना लिया।

रोजगार नहीं मिलने से मोबाइल देख समय नष्ट कर रहे युवा

राहुल गांधी ने संसद की सुरक्षा की चूक को बेरोजगारी से भी जोड़ा। उन्होंने कहा कि यह सुरक्षा चूक का मसला तो है ही, लेकिन यह भी सोचने की बात है कि उन लोगों ने ऐसा क्यों किया। मैंने एक सर्वे कराया है ।हिंदुस्तान के युवा दिन में कितने घंटे फेसबुक,इंस्टाग्राम, ट्विटर आदि पर रहते हैं। इस सर्वे से पता चला कि देश की युवा 7:30 घंटे फेसबुक, इंस्टाग्राम ट्विटर और फोन पर अन्य चीजों में लगे रहते हैं।राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार में हिंदुस्तान का युवा 7:30 घंटे सेल फोन पर बैठा है। ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि नरेंद्र मोदी ने उन लोगों को रोजगार नहीं दिया है।राहुल गांधी ने जंतर मंतर पर संसद से निलंबित 146 सांसदों की धरने के दौरान ये बातें कही। इस दौरान एनसीपी के मुखिया शरद पवार और लेफ्ट के सीताराम येचुरी भी वहां मौजूद थे।

संसद अटैक की कीमत 146 सांसद अपने निलंबन से चुका रहे

शरद पवार ने इस मौके पर कहा कि मैं इतना ही कहना चाहता हूं कि संसद पर अटैक हुआ और उसकी कीमत 146 सांसद निलंबित होकर चुका रहे हैं।हमारे देश में किसानों की हालत खराब है,गरीब परेशान है और बीजेपी के शासन में बेरोजगारी चरम पर है ।शरद पवार ने कहा कि संकट के दौर में हमें एकजुट ठोकर लड़ना होगा।

अमृतकाल,लेकिन अमृतकलश में भरा है विष

वही सीताराम येचुरी ने तो यहां तक कह दिया यदि बीजेपी अगले चुनाव में भी जीत जाती है तो वह संसद को ही खत्म कर देगी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का कत्ल किया जा रहा है ।आज तक किसी ने एक साथ इतने लोगों को निलंबन की बात नहीं सुनी होगी।उन्होंने ने कहा कि यह अस्तित्व के लिए संकट की स्थिति है और इसलिए इंडिया एलाइंस यहां बैठा है। 140 सांसदों का निलंबन करके लोकतंत्र की कमर तोड़ने की कोशिश की गई है अमृतकाल भले ही चल रहा है,लेकिन अमृत कलश में जहर डाल दिया गया है और यह गलत हाथों में पड़ गया है।

 

Latest articles

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...

बहुत कहता है समुद्री पारिस्थितिकी पर चीन का श्वेत पत्र !

न्यूज़ डेस्क चीनी राज्य परिषद के सूचना कार्यालय ने संवाददाता सम्मेलन आयोजित कर चीनी समुद्री...

More like this

चरित्रहीन राजनीति में सब कुछ जायज ,अब बीजेपी के साथ हाथ मिलाने को बेकरार केसीआर !

अखिलेश अखिल नेताओं और राजनीति पर वैसे भी कोई यकीन नहीं करता क्योंकि राजनीति तो...

मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, पूर्व अग्निवीरों को सीआईएसएफ और बीएसएफ में छूट मिलेगी

18 वीं लोकसभा चुनाव में जिस आधार पर कांग्रेस और इंडिया गठबंधन के अन्य...