Homeदेशराम मंदिर उद्घाटन के दौरान हो सकती है गोधरा जैसी घटना: संजय...

राम मंदिर उद्घाटन के दौरान हो सकती है गोधरा जैसी घटना: संजय राउत

Published on

बीरेंद्र कुमार झा

उद्धव ठाकरे गुट वाली शिवसेना के नेता संजय रावत ने एक बड़ा दावा करते हुए कहा है कि राम मंदिर के उद्घाटन से पहले गोधरा जैसी घटना होने की आशंका लोगों को सता रही है।उन्होंने कहा कि लोगों के दिमाग में यह डर है कि अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन से पहले गोधरा दंगे जैसी घटनाएं हो सकती है।उन्होंने कहा कि बीजेपी राम मंदिर का उद्घाटन 2024 के आम चुनाव से कुछ महीने पहले करवा सकती है।संजय रावत ने मुंबई में कहा कि जनता और कुछ नेताओं के दिमाग में यह डर है कि है कि जो पार्टी चुनाव जीतने के लिए सर्जिकल स्ट्राइक जैसा ड्रामा कर सकती है,वह कुछ भी कर सकती है।

जम्मूकाश्मीर के राज्यपाल बता चुके है पुलवामा अटैक को फर्जी और प्रायोजित

संजय राउत ने कहा की जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी आरोप लगाया था कि 2019 का पुलवामा अटैक असल में हुआ ही नहीं था, बल्कि कराया गया था। ऐसी ही बात 2002 के गोधरा दंगों को लेकर भी कहीं जा रही है। चर्चा की जाती है कि वह देंगे भी कराए गए थे।संजय राउत असल में गोधरा में कार सेवकों से भारी ट्रेन की एक बोगी फुके जाने की घटना का जिक्र कर रहे थे।इस घटना में 50 से ज्यादा लोग जिंदा जल गए थे और फिर गुजरात के कई हिस्सों में दंगे भड़क गए थे।गौरतलब है की फरवरी 2019 में पुलवामा में हमला हुआ था।इसके बाद भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक की थी।

भारतीय सेना का कहना था की उसने सीमा पार जाकर कई आतंकी ठिकानों को ध्वस्त किया था। संजय रावत ने कहा कि हमारे दिमाग में डर है कि राम मंदिर के उद्घाटन के मौके पर बड़ी संख्या में लोग ट्रेनों से अयोध्या जाएंगे ।इस दौरान कुछ इलाकों में ट्रेनों पर पत्थर फेके जा सकते हैं या लोगों पर अटैक हो सकते हैं।इसके बाद बीजेपी की ओर से देंगे भड़काये जा सकते हैं ।कुछ राजनीतिक दलों और लोगों के दिमाग में यही डर है। उद्धव ठाकरे की करीबी संजय राउत ने कहा कि बीजेपी के पास कोई एजेंडा नहीं है, इसलिए वह सांप्रदायिक तनाव बढ़ा सकती है और चुनाव के लिए दंगे तक कराये जा सकते हैं।

चुनाव पूर्व बढ़ा सकता है सांप्रदायिक तनाव

शिवसेना ने कहा कि भाजपा ने 2014 में लोगों को मूर्ख बनाया था, फिर 2019 में सर्जिकल स्ट्राइक का ड्रामा रच दिया और सांप्रदायिक तनाव बढ़ा दिया और 2024 में यह फिर से सांप्रदायिक तनाव को भड़काना चाहते हैं। देश में बेरोजगारी और महंगाई जैसे कई गंभीर मुद्दे हैं, जिन पर चर्चा करनी चाहिए लेकिन बीजेपी इसकी वजह सांप्रदायिक दंगों का ही सहारा ले सकती है।हम इस बारे में सजग हैं और जनता को भी जागरूक करने का प्रयास कर रहे हैं।

 

Latest articles

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...

जी -7 सम्मेलन में हिस्सा लेने कल इटली जाएंगे पीएम मोदी 

न्यूज़ डेस्क प्रधानमंत्री मोदी कल इटली जायेंगे। इटली में जी -7 सम्मेलन होने जा रहा...

More like this

वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी ,प्रियंका लड़ सकती है चुनाव !

अखिलेश अखिलहालांकि कांग्रेस की तरफ से इस बात की कोई जानकारी सामने नहीं आई...

Arabic Mehndi Designs:आपकी खूबसरती में चार चांद लगाएंगे ये सिंपल और लेटेस्ट मेहंदी डिजाइन

Simple Mehndi Designs मेहंदी महिलाओं के श्रृंगार का एक प्रमुख अंग है। किसी भी तीज...

उपेंद्र कुशवाहा ने क्यों कहा ”आखिर क्या चाहिए बिहार को ?’

न्यूज़ डेस्क केंद्रीय मंत्रिमंडल में विभागों के बंटवारे को लेकर हो रही बयानबाजी को लेकर...