Homeदेशपूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह, नरसिम्हा राव और वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को...

पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह, नरसिम्हा राव और वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न

Published on

वर्ष 2024 लोकसभा चुनाव या विधानसभा चुनाव को लेकर नहीं जाना जाएगा, क्योंकि यह एक सामान्य प्रक्रिया है और प्रत्येक 5 सालों के अंतराल पर ये चुनाव होते रहते हैं।इसकी जगह वर्ष 2024 इस बात के लिए जाना जाएगा कि इस वर्ष लोकसभा चुनाव की घोषणा होने से पूर्व भारत सरकार ने धड़ाधड़ भारत के सर्वोच्च पुरस्कार ‘ भारत रत्न’ की घोषणा की है। इसके अलावा वर्ष 2024 इस बात के लिए भी जाना जाएगा कि इस वर्ष किसी क्षेत्र विशेष के विशिष्ट लोगों की तुलना में राजनीति से जुड़े नेताओं खासकर पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व प्रधानमंत्री को भारत रत्न ज्यादा दी गई है ।इस बात से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि अब भारत में दिए जाने वाले सर्वोच्च पुरुस्कार भारत रत्न को भी चुनाव जीतने के लिए एक राजनीतिक टूल की तरह व्यवहार किया जाने लगा है। भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्रित्व वाली नरेंद्र मोदी की सरकार ने चुनाव पूर्व बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर और भारत के पूर्व उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न से सम्मानित कर सम्मानित करने के बाद, अब पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह, पूर्व प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव और वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न देने की घोषणा की है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका ऐलान सोशल मीडिया पर किया है।

क्या लिखा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया एक्स पर डाले पोस्ट में

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा कि पूर्व प्रधानमंत्री चरण चौधरी चरण सिंह को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा,जाएगा।पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव और मशहूर वैज्ञानिक एमएस स्वामीनाथन को भी भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा।

चौधरी चरण सिंह को सम्मानित करना सरकार का सौभाग्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर आगे लिखा कि हमारी सरकार को यह सौभाग्य प्राप्त हुआ कि देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह जी को भारत रत्न से सम्मानित किया जा रहा है।यह सम्मान देश के लिए चरण सिंह की अतुलनीय योगदान को समर्पित है। उन्होंने किसानों के अधिकार के साथ-साथ उनके कल्याण के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया था, जिसे हमेशा याद रखा जाएगा।

आपातकाल के विरोध में भी डटकर खड़े नजर आए थे चौधरी चरण सिंह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर आगे लिखा की उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हो या देश के गृह मंत्री,यहां तक कि एक विधायक के रूप में भी उन्होंने हमेशा राष्ट्र निर्माण को गति प्रदान करने का काम किया। वे आपातकाल के विरोध में भी डटकर खड़े नजर आए। हमारे किसान भाई- बहनों के लिए उनका समर्पण भाव और इमरजेंसी के दौरान लोकतंत्र के लिए उनकी प्रतिबद्धता पूरे देश को प्रेरित करने वाली है।

पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव के बारे में क्या कहा

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर डाले एक अन्य पोस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्हें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा। पी वी नरसिम्हा राव की तारीफ करते हुए उन्होंने लिखा कि एक प्रतिष्ठित विद्वान और राजनेता के रूप में नरसिम्हा राव ने विभिन्न पदों पर रहते हुए भारत की सेवा करने का काम किया। उन्हें आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री,केंद्रीय मंत्री और कई वर्षों तक संसद सदस्य और विधानसभा सदस्य के रूप में किए गए कार्यों के लिए भी याद किया जाता है।नरसिम्हा राव ने भारत से लाइसेंस राज्य को खत्म करने का बीड़ा उठाया था।उन्होंने भारत में उदार नीति को प्रोत्साहित किया था।साथ ही उन्होंने मौद्रिक संकट से जूझ रहे भारत को भी इससे निजात दिलाकर भारत को एक मजबूत देश के रूप में खड़ा करने की आधारशिला रखी थी।

एमएस स्वामीनाथन को भारत रत्न देने की घोषणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक पर डाले एक पोस्ट में लिखा की एमएस स्वामीनाथन को भी भारत रत्न से नवाजा जाएगा।उन्होंने लिखा कि भारत सरकार कृषि और किसान कल्याण में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए उन्हें भारत रत्न से सम्मानित कर रही है। एमएस स्वामीनाथन को भारत में कृषि के क्षेत्र में हरित क्रांति का जनक माना जाता है। इन्होंने मेक्सिको के उच्च उपज वाली गेहूं की किस्म को भारत के पंजाब के सामान्य गेहूं के किस्म के साथ मिलाकर उच्च उपज वाली शंकर गेहूं का किस्म विकसित किया था।इनके द्वारा हरित क्रांति के क्षेत्र में उच्च उपज वाली गेहूं और चावल के बीजों को तैयार कर भारत को अन्न उत्पादन के रूप में आत्मनिर्भर बनाकर दुनिया के सबसे ज्यादा अन्न की कमी से जूझ रहे देश के कलंक से उबारने का काम किया था।

Latest articles

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...

बिल गेट्स वित्तपोषक, लेखक, संपादक, सलाहकार के रूप में? डेटा साम्राज्यवाद: मेट्रिक्स में हेरफेर

महामारी विज्ञान में पोस्टडॉक्टरल, जो भारतीय सशस्त्र बलों में दो दशकों से अधिक समय...

More like this

दूसरे चरण में महाराष्ट्र की आठ सीटों पर होंगे चुनाव ,शिंदे और शरद पवार की प्रतिष्ठा दाव पर 

न्यूज़ डेस्क वैसे तो देश की सभी सीटों पर चुनाव लड़ रहे हर उम्मीदवार की...

चार वर्षीय डिग्री लेने वाले छात्र अब सीधे पीएचडी और नेट की परीक्षा में बैठ सकते हैं 

न्यूज़ डेस्क यूजीसी ने शिक्षा में बड़ा बदलाव करते हुए चार साल की स्नातक डिग्री...

चुनाव के दौरान बयानों गरमाई सियासत ,पीएम मोदी पर खड़गे हुए हमलावर !

न्यूज़ डेस्क चुनाव के दौरान बयानों की राजनीति कब सुर्खियां बन जाए यह कोई नहीं...