Homeदेशकेजरीवाल के बाद अब हेमंत की रिहाई को लेकर'इंडीया गठबंधन'की महारैली और...

केजरीवाल के बाद अब हेमंत की रिहाई को लेकर’इंडीया गठबंधन’की महारैली और शक्ति प्रदर्शन

Published on

दिल्ली के रामलीला मैदान में अरविंद केजरीवाल की रिहाई को लेकर की गई में महारैली और शक्ति प्रदर्शन के बाद अब हेमंत सोरेन की रिहाई और शक्ति प्रदर्शन के लिए बीजेपी विरोधी दलों का इंडिया गठबंधन के नेताओं का जमावड़ा 21 अप्रैल को झारखंड की राजधानी रांची में होगा।

रांची से होगा उलगुलान

21 अप्रैल को झारखंड की राजधानी रांची में होने वाले बीजेपी विरोधी दलों के गठबंधन इंडिया गठबंधन की रैली में कांग्रेस, आरजेडी और आम आदमी पार्टी समेत 28 राजनीतिक दलों के प्रमुख नेता बीजेपी व केंद्र सरकार के विरुद्ध आवाज बुलंद करेंगे। झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) ने इसका नाम न्याय उलगुलान महारैली दिया है।

क्या है उलगुलान

गौरतलब है कि उलगुलान भारत पर आधिपत्य जमाकर यहां के लोगों का शोषण करने वाले अंग्रेजों को भारत की धरती से 7 समुंदर पार, अपने देश इंग्लैंड वापस लौटने के लिए मजबूर करने के लिए 1890 ईस्वी में झारखंड में हुआ एक बड़ा आंदोलन था।इस उलगुलान का ऐलान करने वाले बिरसा मुंडा थे। बिरसा मुंडा ने ‘अंग्रेजों अपने देश वापस जाओ’ का नारा देकर उलगुलान का ठीक वैसे ही नेतृत्व किया था जैसे बाद में स्वतंत्रता की लड़ाई के दूसरे नायकों ने इसी तरह के नारे देकर देशवासियों के भीतर जोश पैदा किया था।

महारैली ये रहेंगे मौजूद

21 अप्रैल को जेएमएम की अगुआई में रांची में होने वाली इस उलगुलान रैली में कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से लेकर अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे , आरजेडी प्रमुख लालू यादव, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, शरद पवार, उद्धव ठाकरे और अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल से लेकर तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन सहित अन्य वरिष्ठ नेता मौजूद रहेंगे।

इन मुद्दों पर केंद्र सरकार को घेरेंगे

इस उलगुलान महारैली का केंद्र बिंदु पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन होंगे इंडिया गठबंधन के दिग्गज नेता मंच से केंद्रीय एजेंसियों के दुरुपयोग समेत अन्य मुद्दों पर केंद्र सरकार को घेरेंगे।

हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन संभालेंगी उलगुलान रैली की कमान

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन ने इस उलगुलान महारैली की तैयारी का पूरा जिम्मा संभाल लिया है। इस सिलसिले में वह जहां कार्यकर्ताओं से मुखातिब हो रहीं हैं, वहीं गठबंधन दलों के नेताओं के साथ समन्वय का भी कार्य आरंभ कर दिया है। पति की अनुपस्थिति में उनकी रिहाई के साथ – साथ इंडिया गठबंधन के शक्ति प्रदर्शन का सारा दारोमदार कल्पना सोरेन पर ही है।

इनके साथ की गई बैठक

रविवार को कल्पना सोरेन ने प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम अहमद मीर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर, जे एमएम महासचिव विनोद पांडेय, भाकपा माले के विधायक विनोद कुमार सिंह और राज्य सरकार में मंत्री सत्यानंद भोक्ता के साथ महत्वपूर्ण बैठक की।

इंडिया गठबंधन की मुंबई और दिल्ली रैली में भाग के चुकी हैं कल्पना सोरेन

इंडिया गठबंधन के घटक दलों के तमाम कद्दावर नेताओं को महारैली में आमंत्रित करने की जिम्मेदारी भी कल्पना सोरेन ने अपने ऊपर ले ली है। दरअसल कल्पना सोरेन मुंबई और दिल्ली में आयोजित इंडिया गठबंधन की रैलियों में भाग ले चुकी हैं।इन सम्मेलनों में कल्पना सोरेन ने प्रमुखता से अपनी बातें भी रखी थी। इस दौरान उनकी अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल और सोनिया गांधी के साथ इंडिया गठबंधन के तमाम बड़े नेताओं से घुलमिल चुकी हैं ।ऐसे में इनके लिए 21 अप्रैल की रांची में प्रस्तावित उलगुलान रैली में इंडिया गठबंधन के बड़े नेताओं को बुलाना आसान रहेगा।

इन केंद्रीय नेताओं को भेजा जाएगा निमंत्रण

महारैली में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव, तेजस्वी यादव, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, पंजाब के सीएम भगवंत मान, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल, सांसद संजय सिंह, सौरभ भारद्वाज, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालीन, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, राकांपा (पवार गुट) के शरद पवार, फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती, सपा प्रमुख अखिलेश यादव, भाकपा माले महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य, माकपा नेता सीताराम येचुरी, भाकपा नेता डी राजा सहित गठबंधन के अन्य नेताओं को आमंत्रित किया जाएगा।

पांच लाख से अधिक भीड़ जुटाने का लक्ष्य

रांची के प्रभात तारा मैदान में होने वाली न्याय उलगुलान महारैली की सफलता के लिए साथी दलों के साथ रणनीति पर रविवार को विचार-विमर्श किया गया। महारैली में पूरे राज्य से पांच लाख लोगों को जुटाने की रणनीति बनी है। इसमें कल्पना सोरेन ने सभी गठबंधन के साथी दलों से सहयोग मांगा है।

लोकसभा चुनाव में झारखंड में कल्पना सोरेन होंगी स्टार प्रचारक

इस बैठक में महारैली के अलावा लोकसभा चुनाव में गठबंधन का साझा प्रचार अभियान चलाने को लेकर भी चर्चा हुई। तय किया गया कि 21 अप्रैल के बाद लोकसभा चुनाव का प्रचार अभियान तेज होगा। कल्पना सोरेन गठबंधन की स्टार प्रचारकों में एक होंगी।

जेएमएम के केंद्रीय कार्यालय में चल रही है तैयारी

जेएमएम के केंद्रीय कार्यालय में महारैली की तैयारी के निमित्त कई जिलों के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ महासचिव विनोद पांडेय ने बैठक की। शनिवार को कल्पना सोरेन स्वयं कार्यालय आईं थीं। बैठक में पार्टी नेताओं ने जिलाध्यक्षों को निर्देश दिया कि समय काफी कम है। सभी अपने-अपने जिले में तैयारी शुरू कर दें।अधिक से अधिक संख्या में जिले से कार्यकर्ताओं और लोगों की महारैली में भागीदारी तय करें। बैठक में पार्टी महासचिव विनोद पांडेय सहित हजारीबाग, रामगढ़, बोकारो, गढ़वा, पलामू, कोडरमा, गिरिडीह, प. सिंहभूम, पूर्वी सिंहभूम जिलों के जिलाध्यक्ष, जिला महासचिव और पार्टी पदाधिकारी शामिल हुए।शनिवार को सिमडेगा, लातेहार, खूंटी, चतरा, रांची, धनबाद, गुमला जिला की जिला इकाई से जुड़े पार्टी पदाधिकारियों की बैठक हुई थी।

Latest articles

महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव संपन्न लेकिन एनडीए में विधानसभा चुनाव को लेकर विवाद शुरू !

न्यूज़ डेस्क लोकसभा चुनाव का अंतिम चरण एक जून को ख़त्म हो जाएगा। हालांकि महाराष्ट्र...

नौकरानी की जरूरत हुई तो अपने पति की दूसरी शादी करवा सौत को बनाया नौकरानी

आज रिश्ता तेजी से दरक रहा है,और स्वार्थ सब पर भारी पड़ रहा है।इस...

हैदराबाद पुलिस ने बच्चों के बेचने वाले एक अंतरराज्यीय रैकेट का किया भंडाफोड़ ,11 मासूम बचाए गए 

न्यूज़ डेस्क आखिर अब किस पर यकीन किया जाए ! जब बच्चो की जननी कही...

तेजस्वी यादव ने कहा सीएम योगी और किम जोंग उन एक ही टाइप के नेता है !

न्यूज़ डेस्क बिहार में बीजेपी की रणनीति को देखते हुए राजद नेता तेजस्वी यादव...

More like this

महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव संपन्न लेकिन एनडीए में विधानसभा चुनाव को लेकर विवाद शुरू !

न्यूज़ डेस्क लोकसभा चुनाव का अंतिम चरण एक जून को ख़त्म हो जाएगा। हालांकि महाराष्ट्र...

नौकरानी की जरूरत हुई तो अपने पति की दूसरी शादी करवा सौत को बनाया नौकरानी

आज रिश्ता तेजी से दरक रहा है,और स्वार्थ सब पर भारी पड़ रहा है।इस...

हैदराबाद पुलिस ने बच्चों के बेचने वाले एक अंतरराज्यीय रैकेट का किया भंडाफोड़ ,11 मासूम बचाए गए 

न्यूज़ डेस्क आखिर अब किस पर यकीन किया जाए ! जब बच्चो की जननी कही...