Homeलाइफस्टाइलPapaya Seed Benefits: पपीते के बीज में छिपा है 'सेहत का राज,जानें...

Papaya Seed Benefits: पपीते के बीज में छिपा है ‘सेहत का राज,जानें क्या-क्या हैं फायदे?

Published on

न्यूज डेस्क
पपीता सेहत के लिए काफी फायदेमंद फल माना जाता है। यह गुणों से भरपूर होता है। पाचन तंत्र को दुरुस्त करने के लिए तो पपीता खाने की खासतौर पर सलाह दी जाती है। आप भी पपीता के काफी फायदे जानते होंगे, लेकिन क्या आप पपीते के बीजों के फायदे के बारे में जानते हैं? काली मिर्च के दानों की तरह दिखने वाले पपीते के बीज सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद होते हैं। इनमें भी पपीते की तरह ही औषधीय गुणों का खजाना मौजूद होता है। अनजाने में हम लोग पपीते के बीजों को बेकार समझकर फेंक देते हैं, लेकिन अगली बार जब भी कभी पपीते के बीजों पर आपकी नजर पड़े तो इसके फायदों को जरूर एक बार याद कर लीजिएगा।

पपीते के बीज में फेनोलिक और फ्लैवोनॉइड यौगिकों के साथ-साथ प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस पाया जाता है। पपीते के बीज में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीपैरासिटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। इसके सेवन से कई खतरनाक बीमारियों का खात्मा होता है। आज हम आपको पपीते के बीज के गुणों के बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते हैं….

पेट के कीड़े खत्म करे

पेट के कीड़े काफी तकलीफ देते हैं। जिन लोगों के पेट में कीड़े हैं उनके लिए पपीता रामबाण है। पपीते के बीज में प्रोटीओलेयटिक एंजाइम्स होते हैं जो पेट में मौजूद कीड़ो को खत्म करते हैं। सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ पपीते के बीज का चूर्ण खाने से पेट के कीड़े तीन चार दिन के भीतर मर जाते हैं।

एंटी कैंसर गुण

पपीते के बीज में मौजूद एंटी-ऑक्सिडेंट्स कैंसर से बचाव में सहायक भूमिका निभाते हैं। पपीते के बीज में कैंसर से लड़ने की गजब की क्षमता होती है। हफ्ते में कम से कम तीन दिन पपीते के बीज के सेवन करने से शरीर अदभुत रूप से कैंसर के विरुद्ध लड़ता है। पपीते के बीज का चूर्ण गर्म पानी के साथ लेने से प्रॉस्टेट कैंसर, गले का कैंसर, पेट, स्तन कैंसर को ख़त्म करने में मदद मिलती है।

सूजन करे कम

पपीते के बीज में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो कि शरीर में आई किसी भी तरह की सूजन को कम करने में बड़े सहायक होते हैं। जोड़ों के दर्द, गठिया और अस्थमा जैसी बीमारियों में पपीते के बीज का चूर्ण अति उत्तम है। विषैले तत्वों को निकाले बाहर पपीते में मौजूद प्रोटीयोलाइटिक एंजाइम बेहद अहम तत्व है जो कि लिवर के सिरोसिस को मैनेज करने के लिए लाभकारी माना जाता है। पपीते के बीज का चूर्ण और नींबू का रस मिलाकर गर्म पानी के साथ लेने से लिवर और गुर्दे की सारी गंदगी बाहर निकल जाती है।

पेट को रखे तंदरुस्त

कई वैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि पपीते के बीज खाने से पेट का इन्फेक्शन कम होता है और पेट में आयी किसी भी तरह की सूजन कम होती है। यह पेट के अल्सर को ख़त्म करने का काम करते हैं। बस एक बात ध्यान रखें कि ज्यादा बीजों का सेवन ना करें नहीं तो दस्त लग सकते हैं।

किडनी स्टोन में कारगर

जिन लोगों को पथरी या किडनी स्टोन की समस्या है उनके लिए पपीता और पपीते का बीज रामबाण है। पपीते के बीज के नियमित सेवन से किडनी स्टोन की समस्या से छुटकारा मिलता है।

इम्यून सिस्टम के लिए फायदेमंद

नियमित रूप से गुनगुने पानी के साथ सुबह खाली पेट पपीते के बीज का चूर्ण लेने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स वायरल बीमारियों से शरीर की रक्षा करते हैं जिससे कोई भी वायरस शरीर पर आसानी से अटैक नहीं कर पाता और शरीर मौसमी बीमारियों से बचा रहता है।

बुखार में फायदेमंद

बुखार आने पर पपीते का बीज बड़ा गुणकारी है। इसमें मौजूद एंटी बैक्टीरियल तत्व बुखार कम करने में सहायक होते हैं और शरीर को इन्फेक्शन से बचाते हैं।

दाद खाज करे दूर

यदि आपको किसी अंग पर दाद हो गया है तो पपीते के बीज को पीसकर दाद वाली जगह पर लगा लें और कुछ घंटों के लिए ऐसे ही लगा रहने दें। जल्द आराम मिलेगा।

गर्भवती महिलायें भूलकर भी ना करें सेवन

पपीते के बीज यूं तो गुणों से भरपूर हैं लेकिन गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन करने से बचना चाहिए। प्रेग्नेंट महिलाएं यदि पपीते के बीज का सेवन करती हैं तो गर्भपात का खतरा रहता है। इसलिए गलती से भी ऐसा ना करें।

इस तरह करें पपीते के बीज का सेवन

आप पपीते के बीज को स्मूदी, जूस, दलिया आदि में मिलाकर खा सकते हैं या सुबह एक गिलास पानी के साथ भी इन बीजों का सेवन कर सकते हैं।

Latest articles

क्या अध्यक्ष पद के बहाने टीडीपी और जेडीयू को भड़काकर कांग्रेस गिरा देगी मोदी सरकार

18वीं लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भले ही बहुमत से 32 सीटें...

संजय राउत: एनडीए का स्पीकर नहीं बना तो जदयू और टीडीपी को तोड़ देगी बीजेपी !

न्यूज़ डेस्क मोदी की तीसरी बार सरकार तो बन गई लेकिन लोकसभा में स्पीकर को...

गंगा दशहरा के दिन पटना के बाढ़ में पलटी नाव, लापता लोगों को खोज रही एसडीआरएफ की टीम

बिहार में अक्सर हर पर्व के अवसर पर कहीं न कहीं नदी में लोगों...

बनारस में गंगा दशहरा के अवसर पर हजारो लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी !

न्यूज़ डेस्क कशी के पवित्र घाट पर गंगा दशहरा के अवसर पर आज हजारों लोगों...

More like this

क्या अध्यक्ष पद के बहाने टीडीपी और जेडीयू को भड़काकर कांग्रेस गिरा देगी मोदी सरकार

18वीं लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भले ही बहुमत से 32 सीटें...

संजय राउत: एनडीए का स्पीकर नहीं बना तो जदयू और टीडीपी को तोड़ देगी बीजेपी !

न्यूज़ डेस्क मोदी की तीसरी बार सरकार तो बन गई लेकिन लोकसभा में स्पीकर को...

गंगा दशहरा के दिन पटना के बाढ़ में पलटी नाव, लापता लोगों को खोज रही एसडीआरएफ की टीम

बिहार में अक्सर हर पर्व के अवसर पर कहीं न कहीं नदी में लोगों...